#LockdownActivities: एकता कपूर ने अपनी सालभर की सैलरी कर्मचारियों को दी, अक्षय कुमार ने फ्री हेल्पलाइन शेयर की, तो वहीं अमिताभ बच्चन-हेमा मालिनी ने कर्मवीरों को सैल्यूट किया… (#IndiaFightsCorona: Ekta Kapoor Gave Her Yearly Salary To The Employees, Akshay Kumar Shared Free Helpline, While Amitabh Bachchan-Hema Malini Saluted The Karmveers…) 

लॉकडाउन एक्टिविटीज के तौर पर देखें, तो जैसे-जैसे वक़्त बीतता जा रहा है, वैसे-वैसे कई अभिनेता, कलाकार, फिल्मी लोग सहयोग और मदद के हाथ बढ़ाते जा रहे हैं. अब एकता कपूर ने बालाजी टेलीफिल्म्स के फ्रीलांसर और दिहाड़ी मजदूरों यानी डेली वेजेस वर्कर्स के लिए अपने सालभर की सैलरी, जो तक़रीबन ढाई करोड़ बनती है देने की घोषणा की. उनका कहना है कि इन दिनों वैसे तो हम सभी कई तरह की परेशानियों से जूझ रहे हैं. लेकिन सबसे ज़्यादा संघर्ष डेली वेजेस वर्कर लोगों को करना पड़ रहा है. इन सबको देखते हुए मेरा अपने सभी काम करनेवाले लोगों को सहयोग देना व उनकी मदद करना ज़रूरी हो जाता है, क्योंकि सबकी तरह मेरी भी सभी सीरियल की शूटिंग बंद है, इस कारण इनमें काम करनेवाले वर्कर्स को तो रोज़मर्रा की चीज़ों के लिए भी काफ़ी संघर्ष करना पड़ रहा है, इसलिए मैं अपना सालभर का वेतन उनकी मदद के लिए दे रही हूं. एकता कपूर का यह कदम वाक़ई प्रशंसनीय और उनके सभी वर्कर्स के लिए काफ़ी राहत भरा है. 

अक्षय कुमार ने महाराष्ट्र सरकार, बीएमसी और एम पावर द्वारा शुरू किए गए फ्री हेल्पलाइन को शेयर किया. इस लॉकडाउन में जो लोग अकेलापन महसूस कर रहे हैं, घबराहट, डर, बेचैनी या किसी और मानसिक परेशानियों से जूझ रहे हैं, वे सभी इस फ्री हेल्पलाइन फोन नंबर पर कॉल करके मेंटल हेल्थ प्रोफेशनल्स से बात कर सकते हैं और अपनी समस्याओं का समाधान पा सकते हैं. अक्षय कुमार ने उनके नंबर और डिटेल्स अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किए हैं, क्योंकि लॉकडाउन के इस समय में कोरोना वायरस को लेकर एक अनजाने डर से हर कोई गुज़र रहा है. कई लोग बेचैनी, घबराहट व भय की शिकायत कर रहे हैं. ऐसे लोगों की मानसिक समस्याओं व परेशानियां को दूर करने के लिए ही इस फ्री हेल्पलाइन की शुरुआत की गई है, ताकि लोग अपनी परेशानियों, समस्याओं, बेचैनी, डर आदि से घबराएं ना और मेंटल हेल्थ प्रोफेशनल से सही और उचित सलाह और मदद ले सकें.

अमिताभ बच्चन ने अपने अंदाज़ में हेल्थ के इन कोरोना फाइटर लोगों को सैल्यूट किया है. उन्होंने एक सिंबॉलिक फोटो शेयर किया है, जिसमें डॉक्टर ने पूरी दुनिया के बोझ को अपने कंधे पर उठाया है. साथ में उन्होंने कैप्शन भी दिया है- सारी दुनिया का बोझ हम उठाते हैं… यह उनकी ही फिल्म कुली का गाना है, जो आज की तारीख में डॉक्टर, नर्स, पुलिस, हॉस्पिटल के कर्मचारी, सिक्योरिटी से जुड़े हर व्यक्ति पर फिट बैठता है. वैसे भी अमिताभ बच्चन अपने बाबूजी हरिवंश राय बच्चन की कविता के ज़रिए, सेल्फी के ज़रिए, कई अलग ढंग की तस्वीरों, सिंबॉलिक फोटो, देवी-देवताओं की तस्वीर आदि से एक पॉजिटिव माहौल बना रहे हैं. साथ ही कोरोना वायरस के हमारे योद्धाओं की भी हौसलाअफजाई भी कर रहे हैं.
इन्हीं लोगों का हेमा मालिनी ने भी अपने अलग अंदाज़ में कविता के रूप में आभार प्रकट किया है. दिल उन सबका आभारी है… कविता के ज़रिए डॉक्टर और कोरोना से लड़नेवाले हमारे कर्मवीरों के प्रति उन्होंने कृतज्ञता व्यक्त करते हुए सैल्यूट किया है.

शिल्पा शेट्टी ने लोगों को फिट रहने और ख़ुश रहने की कई टिप्स बताए हैं, साथ ही कई ऐसे ऐप्स भी बताए हैं, जिनका इस्तेमाल करके लोग घर पर आराम से एक्सरसाइज करके फिट रह सकते हैं. उन्होंने मेडस्केप इंडिया द्वारा वी डॉक्टर कैम्पेन में डॉक्टरों के लिए ख़ास रिलीफ फंड में सहयोग देने की भी अपील की है.
हमें नहीं भूलना चाहिए कि ये डॉक्टर ही हैं, जो अपनी जान ख़तरे में डालकर सबका इलाज कर रहे हैं. उन्हें भी कई तरह के फाइनेंशियल क्राइसिस से गुज़रना पड़ रहा है. ऐसे में हम सभी का फर्ज बनता है कि हम उनकी भी अपनी सामर्थ्य अनुसार मदद करें. इस शेयर वीडियो में कई डॉक्टरों ने अपनी राय भी व्यक्त की है. शिल्पा शेट्टी ने लोगों से कहा कि वे अपनी इच्छाअनुसार इसमें सहयोग दें.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी की आज की अपील कि 5 अप्रैल को रात नौ बजे, नौ मिनट तक घर की लाइट बंद कर सभी दीये, मोमबत्ती, टॉर्च, मोबाइल की लाइट जलाएंगे… पर अनुपम खेर ने ज़बर्दस्त प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने पीएम के भक्तों व कमबख्तों की सोच पर अपना नज़रिया भी पेश किया व मोदीजी की प्रकाश पर्व के अपील की सराहना की… याद रहे, 5 अप्रैल, नौ बजे, नौ मिनट घर की बत्ती बुझा, दीये जलाने है, रोशनी करनी है… देशवासी निराशा व अंधकार में ना उलझ जाए, बल्कि आशाओं की रोशनी में एकता व संकल्प के साथ कोरोना से लड़े… शायद इसलिए कुछ ऐसी ही कोशिश की है पीएम ने.

लॉकडाउन का एक गुड इफेक्ट यह भी रहा है कि सितारे घरेलू काम करना सीख गए. आमतौर पर इन सभी के घरों में कई काम करनेवाले रहते हैं, जिससे उन्हें कभी भी कोई भी काम करने की ना जरूरत पड़ती है, न हीं आदत होती है. लेकिन कोरोना वायरस और लॉकडाउन ने उन सभी फिल्मी सितारों को घर के कई छोटे-छोटे काम करना सिखा दिया. अब विकी कौशल को ही ले लीजिए, जो अपने पंखे से रू-ब-रू हुए हैं. उससे बात कर रहे हैं और अपने घर का पंखा साफ़ कर रहे हैं. इसी तरह कैटरीना कैफ कभी झाड़ू लगा रही, तो कभी बर्तन धो रही हैं. मलाइका अरोड़ा बेसन के लड्डू बना रही हैं, तो रश्मि देसाई अपनी मां को घर के कामों में मदद कर रही हैं. वे खाना बनाने, घर की सफ़ाई करने, सब्ज़ियां लाने जैसे काम कर रही हैं. कह सकते हैं कि लॉकडाउन ने सितारों को घरेलू काम करना सिखा दिया.