दोषियों की फिल्म बैन, मामी ने किया #MeToo का सर्मथन (MAMI: Bans These Movies After #MeToo Campaign Gets Viral)

Bans on Movies After #MeToo

जब से तुनश्री दत्ता ने ख़ुद पर हुए उत्पीड़न का मामला उठाया है, तब से हर दिन एक नया शख़्स और एक नई कहानी सामने आती जा रही है. धीरे-धीरे हर तरफ़ इसे लेकर विरोध की लहर उठ रही है. अब मामी (मुंबई एकेडमी ऑफ मूविंग इमेज) ने मामी फिल्म महोत्सव (Mami Film Festival) में रजत कपूर की कड़क और एआईबी की चिंटू का बर्थडे नहीं दिखाना का फैसला किया है. दरअसल, रजत कपूर और एआईबी से जुड़े उत्सव चक्रवर्ती पर भी दुर्व्यवहार और छेड़छाड़ के आरोप लगे हैं. इस पर दोनों ही शख़्स ने माफ़ी भी मांग ली है. फिर भी ग़लत तो ग़लत होता है, उसकी भरपाई सॉरी तो बिल्कुल भी नहीं.

मामी के अनुसार, वे मीटू का समर्थन करते हैं और महिलाओं व कलाकारों पर हो रहे अत्याचार का विरोध करते हैं. इस कारण ही वे दोषी कलाकारों की फिल्में अपने फिल्म फेस्टिवल में नहीं दिखा रहे.

तनुश्री दत्ता, कंगना रनौत के बाद विंटा नंदा ने भी ख़ुद के साथ 19 साल पहले हुए हादसे को खुलकर बयां किया. इसमें सीनियर कलाकार आलोकनाथ की इमेज भी सवालों के घेरे में आ गई है. नवनीत निशान, रिचा चड्ढा, स्वरा भास्कर, मिनी माथुर, पंजाबी एक्ट्रेस सिमरन कौर मुंडी ने विंटा नंदा का साथ देते हुए उनके लिए न्याय की बात कही है.

रितिक रोशन ने भी निर्देशक विकास बहल के बदसलूकी से जुड़े परत-दर-परत रोज़ एक से एक नए क़िस्से को सुनते हुए सुपर 30 के निर्माता से इस पर कठोर क़दम उठाने के लिए कहा है. रितिक इन दिनों अपनी फिल्म की शूटिंग के सिलसिले में इटली में हैं, उन्हें सोशल मीडिया के ज़रिए ही काफ़ी बातें पता चल रही है. उसी के आधार पर उन्होंने अपना पक्ष रखा और दोषी को कड़ी से कड़ी सज़ा मिलनी चाहिए कहा है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रितिक रोशन की फिल्म सुपर 30 के निर्देशक हैं विकास बहल. उन पर कंगना रनौट, उनके यूनिट से जुड़े अन्य लोगों ने भी उत्पीड़न का आरोप लगाया है.

सिंगर अभिजीत भट्टाचार्य पर भी एक पूर्व एयरहोस्टेस ने यौन उत्पीड़न का इल्ज़ाम व ग़लत भाषा इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है. बकौल उनके इस कारण उन्हें होटल ने एक महीने के लिए बैन भी कर दिया था.

यूं लग रहा है कि आरोप-प्रत्यारोप, उत्पीड़न का सिलसिला-सा चल पड़ा है, पर अब व़क्त आ गया है कि हम सभी को इस पर अपनी आवाज़ बुलंद करनी होगी. अब बात मीटू या यूटू की नहीं असटू की है यानी हम सभी को एक होकर महिलाओं पर हो रहे अन्याय, दुर्व्यवहार, बदसलूकी के ख़िलाफ़ मज़बूत क़दम उठाना होगा. इस पर आप भी अपनी बात और राय शेयर कर सकते हैं.

यह भी पढ़े: HBD Rekha: देखिए इस सदाबहार अदाकारा की 10+ दिलकश, हॉट व ख़ूबसूरत पिक्स (HBD Rekha: Hot, Sexy Pics Of Rekha)