मॉनसून ब्यूटी कैलेंडर: बारिश में...

मॉनसून ब्यूटी कैलेंडर: बारिश में स्किन को हेल्दी-ग्लोइंग बनाए रखने के लिए ब्यूटी गाइड (Monsoon Beauty Calender: A guide to get healthy and glowing skin during monsoons)

मौसम के साथ-साथ त्वचा और बालों की ज़रूरतें भी बदल जाती हैं. अगर आप चाहती हैं कि हर मौसम की तरह बरसात में भी आपकी त्वचा और बाल ख़ूबसूरत नज़र आएं, तो अपनाइए मॉनसून स्किन एंड हेयर केयर टिप्स.

स्किन केयर


बरसात में अक्सर त्वचा ऑयली हो जाती है जिसके कारण त्वचा पर मुंहासे उभर आते हैं. ऐसे में मुंहासों से बचने और त्वचा की सही देखभाल के लिए क्या करें? आइए, हम बताते हैं.

फेसवॉश
बरसात में चेहरा धोने के लिए एंटी फंगल सोप या फेसवॉश का इस्तेमाल करें. इससे त्वचा साफ़ और खिली-निखरी बनी रहेगी तथा फंगल इंफेक्शन व मुंहासों की संभावना भी कम हो जाएगी.

क्लींज़िंग
हर मौसम की तरह बरसात में भी चेहरे की नियमित सफ़ाई ज़रूरी है. इसके लिए क्लींज़र का इस्तेमाल करें. इससे त्वचा पर चिपकी धूल-मिट्टी साफ़ हो जाएगी, त्वचा के बंद रोमछिद्र खुल जाएंगे, त्वचा खुलकर सांस ले सकेगी और मुंहासों की समस्या ख़ुद-ब-ख़ुद कम हो जाएगी.

मॉइश्‍चराइज़िंग
बरसात में त्वचा की नमी बरक़रार रखने के लिए मॉइश्‍चराइज़र का इस्तेमाल करें. इस मौसम में वॉटर प्रूफ मॉइश्‍चराज़र को प्राथमिकता दें और आपकी त्वचा यदि ऑयली है, तो दिन में स़िर्फ दो बार चेहरे पर मॉइश्‍चराइज़र लगाएं. नॉर्मल स्किन वाले ज़रूरत के अनुसार इसका इस्तेमाल कर सकते हैं.

टोनिंग
बरसात के मौसम में नियमित रूप से त्वचा की टोनिंग करना न भूलें. टोनिंग से मुंहासे होने की संभावना कम हो जाती है. टोनर के इस्तेमाल से त्वचा में न स़िर्फ कसाव आता है, बल्कि त्वचा निखरती भी है. नॉन अल्कोहलिक टोनर का इस्तेमाल करें.

सनस्क्रीन
कुछ लोगों को लगता है कि बरसात में सनस्क्रीन लगाने की ज़रूरत नहीं, लेकिन ऐसा करना सही नहीं है. हां, आप चाहें तो 75 एसपीएफ की बजाय बरसात में 50एसपीएफ युक्त सनस्क्रीन का प्रयोग कर सकती हैं, लेकिन सनस्क्रीन का इस्तेमाल एकदम से बंद न करें. ऐसा करने से त्वचा धूप में झुलस सकती है.

फाउंडेशन
वॉटर प्रूफ या वॉटर रेजिस्टेंट फाउंडेशन अप्लाई करें. ऐसा करने से मेकअप को वॉटर प्रूफ बेस मिलेगा और बेस मेकअप लंबे समय तक टिका रहेगा.

आई लाइनर
आई मेकअप के लिए वॉटर प्रूफ या वॉटर रेजिस्टेंट मस्कारा व आई लाइनर इस्तेमाल करें. ये पानी लगने पर भी नहीं फैलता.

आईशैडो
आईशैडो के लिए लाइट व पेस्टल शेड्स चुनें, जैसे- लाइट ब्राउन, लाइट पिंक, पीच आदि.

लिपस्टिक
लॉन्ग लास्टिंग वॉटर प्रूफ लिपस्टिक ख़रीदें. ये लंबे समय तक टिकी रहेगी और पानी के संपर्क में आने पर फैलेगी नहीं.

ब्लशर
फाउंडेशन और लिपस्टिक की तरह ब्लशर भी वॉटर प्रूफ ख़रीदें. हां, डार्क की बजाय लाइट शेड का ब्लशर लगाएं. मॉनसून में लाइट और फ्रेश शेड्स अच्छे लगते हैं.

मुंहासों से बचने के घरेलू नुस्ख़े

  • नीम के रस में थोड़ा-सा हल्दी पाउडर मिलाएं और चेहरे पर लगाएं. इससे मुंहासे दूर हो जाएंगे.
  • पुदीने के पत्ते और जई के पाउडर का पेस्ट बनाकर इसे 20 मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखें, फिर धो लें. इससे मुंहासे कम होते हैं.
  • लहसुन को कूटकर उसका रस मुंहासेे पर लगाने से भी काफ़ी फ़ायदा होता है.
  • हल्दी और चंदन का मिश्रण चेहरे पर लगाएं. इससे मुंहासे नहीं होंगे.
  • जामुन के बीज के पाउडर को गुलाबजल में मिलाकर पेस्ट बनाएं और चेहरे पर लगाएं. सूखने पर चेहरा धो दें. ऐसा करने से मुंहासे कम हो जाते हैं.
  • संतरे के छिलके के पाउडर में थोड़ा-सा पानी मिलाएं और इसे मुंहासों पर लगा लें.
  • बादाम के पाउडर को पानी में घोलकर मुंहासों पर लगाने से मुंहासे जल्दी ठीक हो जाते हैं.
  • 3 टीस्पून शहद में 1 टीस्पून दालचीनी पाउडर मिलाकर रातभर मुहांसों पर लगाकर रखें. सुबह गुनगुने पानी से धो दें.
  • कच्चे दूध में जायफल मिलाकर पेस्ट बनाएं और मुंहासों पर लगाएं. मुंहासे ठीक हो जाएंगे.

हेयर केयर
बारिश की बूंदें आपके बालों को छूकर निकल जाएं और आपके बाल ज्यों के त्यों ख़ूबसूरत नज़र आएं ये मुमक़िन नहीं. इसके लिए आपको अपने बालों का ख़ास ख़्याल रखना होगा.

शैम्पू
बाल धोने के लिए माइल्ड शैम्पू इस्तेमाल करें. बरसात में रोज़ या हर दूसरे दिन बाल धोने की कोशिश करें, क्योंकि भीगे बालों पर धूल-मिट्टी चिपक जाती है जिससे बाल बहुत जल्दी गंदे हो जाते हैं.

कंडीशनर
बरसात में बालों को सिल्की सॉफ्ट बनाए रखने के लिए शैम्पू के तुरंत बाद कंडीशनर लगाएं. कंडीशनर का चुनाव अपने बालों की क्वालिटी (जैसे- ऑयली, ड्राई) को ध्यान में रखकर करें.

एंटी हेयर फॉल प्रॉडक्ट्स
बरसात में बाल तेज़ी से झड़ते हैं. इससे बचने के लिए एंटी हेयर फॉल प्रॉडक्ट्स इस्तेमाल करें, जैसे- एंटी हेयर फॉल शैम्पू, कंडीशनर आदि. ऐसा करने से बालों का झड़ना कम होगा.

एंटी डैंड्रफ हेयर प्रॉडक्ट्स
मॉनसून में डैंड्रफ की समस्या भी बढ़ जाती है. ऐेसे में एंटी डैंड्रफ हेयर प्रॉडक्ट्स को प्राथमिकता दें. बालों को नियमित रूप से धोएं और बहुत देर तक बालों को गीला न रहने दें, वरना रूसी की समस्या बढ़ जाएगी.

कुनकुना पानी
बाल धोने के लिए कुनकुने पानी का इस्तेमाल करें. इससे बाल रूखे नहीं होते हैं. जबकि ज़्यादा गरम पानी से बालों की जड़ें कमज़ोर हो जाती हैं और बाल रूखे-बेजान नज़र आते हैं.

हेयर ड्रायर के इस्तेमाल से बचें
माना बरसात में बालों को सूखने में ज़्यादा समय लगता है, लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि आप बाल सुखाने के लिए हेयर ड्रायर का इस्तेमाल करें. बालों को तौलिए से थपथपाते हुए सुखाएं. इससे बालों की जड़ें कमज़ोर नहीं होंगी.

बचें बरसात के पानी से
बरसात के पानी में काफ़ी केमिकल्स मिले होते हैं, जो बालों को नुक़सान पहुंचा सकते हैं. अतः बालों को बरसात के पानी से बचाएं, वरना केमिकल्स से बाल ख़राब हो सकते हैं.

हेयर स्टाइलिंग प्रॉडक्ट
बरसात में कम से कम हेयर स्टाइलिंग प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल करें. हेयर स्टाइलिंग प्रॉडक्ट्स में कई तरह के केमिकल्स होते हैं, जो बरसात के पानी में मिलकर रिएक्शन कर सकते हैं. बेहतर होगा कि आप इन प्रॉडक्ट्स से दूरी बनाए रखें.

हेयर केयर टिप्स

  • बालों को सही पोषण देने के लिए सप्ताह में 2 बार गुनगुने ऑयल से मसाज करें. ऑयल मसाज से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और बालों को सही पोषण भी मिलता है.
  • बाल धोने से 2-3 घंटे पहले नारियल के गुनगुने तेल से मसाज करें. फिर गर्म पानी में डुबोकर निचोड़े हुए तौलिए में बालों को लपेटकर रखें. एक-डेढ़ घंटे बाद बाल धो लें.
  • नियमित सफ़ाई के लिए सप्ताह में 2-3 बार बाल धोएं. बालों को बेसन या चावल के मांड से धोएं.
  • बालों की डीप कंडीशनिंग के लिए दही, बीयर और अंडे का प्रयोग करें.
  • बालों की अच्छी ग्रोथ के लिए कैस्टर ऑयल (एरंडी का तेल) लगाएं. कैस्टर ऑयल हेयर टॉनिक का काम करता है.
  • सनफ्लावर ऑयल से बालों की जड़ों में मसाज करने से बालों का रूखापन दूर होता है.
  • डैंड्रफ़ की समस्या से छुटकारा पाने के लिए जैतून का तेल, नींबू का रस और नारियल का तेल मिलाकर गुनगुना करके बालों की जड़ों में लगाएं.
  • राई और मेथीदाने को पीसकर पेस्ट बनाएं और बालों में लगाएं. इससे डैंड्रफ से छुटकारा मिलता है.
  • 2 टीस्पून नारियल के तेल में 1 टीस्पून नींबू का रस मिलाकर बालों की जड़ों में लगाने से भी रूसी दूर होती है.

×