फिल्म रिव्यू: ‘इत्तेफाक़’ पुरानी कहानी में सस्पेंस का नया तड़का! (Movie Review: Ittefaq)

फिल्म- इत्तेफाक़

स्टारकास्ट- सिद्धार्थ मल्होत्रा, सोनाक्षी सिन्हा, अक्षय खन्ना

निर्देशक- अभय चोपड़ा

रेटिंग- 3 स्टार

Movie Review, Ittefaq

इत्तेफाक़ एक थ्रिलर मर्डर मिस्टी है, जिसका निर्देशन किया है अभय चोपड़ा ने. यह फिल्म 1969 में रिलीज़ हुई राजेश खन्ना और नंदा की फिल्म की रीमेक है. आइए, जानते हैं क्या इसे नए अंदाज़ में पेश करने में अभय कामयाब रहे या नहीं?

कहानी

जिन्होंने 1969 की फिल्म इत्तेफाक़ देखी हैं, उन्हें कहानी का अंदाज़ा होगा. लेकिन इस फिल्म की कहानी में कुछ नई चीज़ों को जोड़ा गया है. फिल्म राइटर विक्रम सेठी (सिद्धार्थ मल्होत्रा) और माया (सोनाक्षी सिन्हा) के इर्द-गिर्द घूमती है. विक्रम की पत्नी और माया के पति का मर्डर हो जाता है. जिसका इल्ज़ाम लगता है विक्रम पर, शक़ की सुई माया पर भी घूमती है. फिर एंट्री होती है पुलिस ऑफिसर देव (अक्षय खन्ना) की, जिसे दोनों अलग-अलग कहानी सुनाते हैं. कौन सच बोल रहा है और कौन झूठ? पूरा सच क्या है और कातिल कौन है, इसका पता लगाने के लिए देव जी जान से जुट जाता है. असली कातिल कौन है ये जानने के लिए आपको थिएटर तक जाना होगा.

फिल्म की यूएसपी और कमज़ोर कड़ी

  • मर्डर मिस्ट्री फिल्मों की सबसे ख़ास बात यही होती है कि फिल्म आपको अंत तक बांधे रखे ये जानने के लिए कि कातिल कौन है. इत्तेफाक़ काफ़ी हद तक इसमें कामयाब होती है.
  • बीआर चोपड़ा के पोते अभय चोपड़ा का निर्देशन बेहतरीन है.
  • फिल्म में कोई गाना नहीं है, क्योंकि फिल्म में गाने के लिए कोई जगह ही नहीं है.
  • बैकग्राउंड स्कोर अच्छा है.
  • फिल्म को बिना वजह खिंचा नहीं गया है, इसलिए फिल्म बोर नहीं करेगी.
  • सोनाक्षी और सिद्धार्थ मल्होत्रा के बीच की केमेस्ट्री को और बेहतर बनाया जा सकता था.
  • अक्षय खन्ना की ऐक्टिंग हमेशा की तरह लाजवाब है.

फिल्म देखने जाए या नहीं?

अगर आप सिद्धार्थ या अक्षय खन्ना के फैन हैं या सस्पेंस फिल्में देखना पसंद करते हैं, तो एक बार ये फिल्म देख सकते हैं.

[amazon_link asins=’B00BFU9YJM,B00LM037NY,B00MBB7BTE,B076Z47BN9′ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’fe02fd1c-c073-11e7-9acc-970dfd393cc8′]