मूवी रिव्यूः अंग्रेज़ी मीडि...

मूवी रिव्यूः अंग्रेज़ी मीडियम (Movie Review Of अंग्रेज़ी Medium)

फिल्मः अंग्रेज़ी मीडियम
कलाकारः इरफान खान, दीपक डोबरियाल, राधिका मदान, करीना कपूर, डिंपल कपाड़िया, पंकज त्रिपाठी और कीकू शारदा
डायरेक्टरः होमी अदजानिया
स्टारः 3

कहानीः अंग्रेज़ी मीडियम की कहानी बाप-बेटी के रिश्ते और बेटी के विदेश जाने की है. इरफान खान एक खानदानी हलवाई हैं और उनकी बेटी का ख्वाब विदेश में पढ़ने का है. बचपन से वही यह ख्वाब देखती है. जबकि उदयपुर के हलवाई की बड़ी चिंता अपने परदादा के नाम घसीटेराम हलवाई को अपने साथ रखने है क्योंकि उदयपुर में हर कोई इस नाम का इस्तेमाल करना चाहता है. इरफान खान का भाई दीपक डोबरियाल भी यही नाम चाहता है. लेकिन इस सबके बीच इरफान की बेटी राधिका मदान का विदेश जाने का सपना किसी वजह से पूरा नहीं होता दिखता तो इसके लिए इरफान खान और दीपक डोबरियाल एक होकर जमीन-आसमान एक करने लगते हैं. इस तरह फिल्म की कहानी में कई कैरेक्टर्स आते हैं, जिसमें पंकज त्रिपाठी, कीकू शारदा, करीना कपूर रणवीर शौरी और डिंपल कपाड़िया शामिल हैं.

समीक्षाः  फिल्म उम्मीदों पर पूरी तरह खरी उतरती नहीं दिखती है. इस बात का दुख तब और ज़्यादा होता है, जब इरफान खान, राधिका मदान, दीपक डोबरियाल और करीना खान फिल्म के लिए पूरी जान लगा देते हैं, लेकिन कमजोर कहानी के कारण उनका स्टार पावर भी काम नहीं आता.

फिल्म का सेकेंड हाफ बहुत अच्छा बन पड़ा है, लेकिन पहले 70 मिनट तक फिल्म के निर्देशक होमी अदजानिया दर्शकों को बांधे रखने में नाकामयाब दिखते हैं. राजस्थानी बातचीत, कहानी की कमी और पिता और बेटी के बीच इमोशन की कमी आपको कहीं न कहीं बोर करती है. फिल्म की असली कहानी  इरफान के लंदन पहुंचने के बाद शुरू होती है. लंदन एयरपोर्ट पर इरफान और दीपक के साथ हुआ हादसा जबर्दस्ती का थोपा हुआ लगता है. लंदन की सड़कों पर पापा को समझ में आता है कि बेटी असल में लंदन क्यों पढ़ना चाहती है. उन्हें समझ में आता है कि बेटी असल में उनसे आजाद होना चाहती है, इस  बात से उन्हें दुख होता है, फिर भी वे हिम्मत नहीं हारते. हालांकि वे थोड़ा साइडलाइन होने की कोशिश करके यह देखना चाहते हैं कि उनकी बेटी किस तरह नए माहौल में ढलती है और अंततः उसे विदा लेने के लिए तैयार हो जाते  हैं. होमी इरफान और राधिका के रिश्ते में असल भाव लागने में नाकामयाब रहे, उन्हें सोनी टीवी पर प्रसारित होनेवाला सीरियल मेरे डैड की दुल्हन  देखना चाहिए, फिर शायद उन्हें अपनी इस भूल का एहसास हो.

एक्टिंग की बात करें तो इरफान एक बार फिर अपनी छाप छोड़ने में कामयाब रहे, इतनी गंभीर बीमारी से जूझने के  बाद भी इरफान ने कैमरे में अपना 100%  दिया है. करीना और दीपक डोबरियाल का ट्रैक लाजवाब है. दीपक, रणवीर सूरी और पंकज त्रिपाठी ने अच्छी एक्टिंग की है. राधिका मदान ने भी अच्छी एक्टिंग की है. ‘अंग्रेज़ी मीडियम ‘ कुल मिलाकर बाप-बेटी के रिश्ते और बच्चों के अपने ख्वाब पूरे करने के चक्कर में अपनों को भुला देने का संदेश समेटे हुए है.

क्यों देखें: इरफान की कमबैक वाली इस फिल्म को दमदार अभिनय और मनोरंजन के कारण एक बार देखना तो बनता है.