ऑलिव ऑयल VS नारियल का तेल, क्या है त्वचा व बालों के लिए बेहतर? (Olive Oil VS Coconut Oil)

हमारे स्वास्थ्य के लिए ऑलिव ऑयल बेहतर है या नारियल का तेल (Olive Oil VS Coconut Oil)? इस पर अक्सर बहस होती रहती है. दोनों तेलों से होने वाले फ़ायदों को लेकर शोधकर्ताओं की अलग-अलग राय है और सबके अपने पक्ष हैं. बहुत से लोगों को लगता है कि ऑलिव ऑयल हमारे ह्रदय, बाल और त्वचा के लिए बेहतरीन होता है, लेकिन पिछले कुछ सालों में नारियल तेल की लोकप्रियता में काफ़ी इजाफ़ा हुआ है. एेसा माना जा लगा है कि नारियल का तेल त्वचा को बेहतरीन लाभ प्रदान करता है. इसलिए हम यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि ब्यूटी ऑयल के रूप में नारियल का तेल बेहतर है या ऑलिव ऑयल. और आपको यह बताने की कोशिश कर रहे हैं कि आपको दोनों में से क्या इस्तेमाल करना चाहिए?

Olive Oil VS Coconut Oil

अनेक प्रकार के नारियल के तेल उपलब्ध हैं
नारियल के तेल पर किए गए ज़्यादातर शोधों में वर्जिन कोकोनट ऑयल का इस्तेमाल किया गया है. ये हमारे द्वारा इस्तेमाल किए जानेवाले नारियल के तेल से अलग होता है. वर्जिन कोकोनट ऑयल ताज़े नारियल से निकाला जाता है, जबकि रिफाइंड कोकोनट ऑयल सूखे नारियल को केमिकली प्रोसेस करके निकाला जाता है. यही वजह है कि वर्जिन कोकोनट ऑयल ज़्यादा फ़ायदेमंद और पौष्टिक होता है.

नारियल का तेल त्वचा के लिए कैसे फ़ायदेमंद है?
नारियल का तेल त्वचा में जल्दी एब्जॉर्ब हो जाता है. यह त्वचा में गहरा समा जाता है इसलिए यह मुहांसों के दाग़ इत्यादि से छुटकारा पाने में ऑलिव ऑयल की तुलना में ज़्यादा असरदार होता है. समस्या यह है कि त्वचा में पूरी तरह समा जाने के कारण ऊपरी त्वचा रूखी रह जाती है इसलिए यदि आपकी स्किन फ्लैकी या रूखी है,  तो यह आपके लिए सही नहीं है. लेकिन यदि आपकी स्किन ऑयली है तो यह तेल आपके लिए सही है.

ये भी पढ़ेंः Beauty Secret Revealed!!! मात्र चंद दिनों में पाएं जवां व गोरा चेहरा

ऑलिव ऑयल के दूसरे फ़ायदे हैं
ऑलिव ऑयल में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट्स पाए जाते है. इसमें बहुत ज़्यादा मॉइश्चराइज़िंग गुण पाए जाते हैं इसलिए यह रूखी त्वचा वालों के लिए बेहतरीन होता है. रूखी एड़िया, फटी एड़ियां, रूखी कोहनी, घुटने, पैर और हाथ इत्यादि के लिए यह बेहतरीन मसाज़िंग ऑयल है. यह त्वचा को नर्म-मुलायम बनाता है.

आपकी त्वचा पर निर्भर करता है?
ऑलिव ऑयल बॉडी ऑयल के रूप में इस्तेमाल के लिए बेहतरीन है. यह शरीर की मालिश के लिए सबसे अच्छा है, लेकिन यदि आपको मुहांसे की समस्या है तो इसका इस्तेमाल चेहरे पर न करें. इसका ठीक उल्टा नारियल का तेल है. यदि आप इसका इस्तेमाल शरीर पर मालिश के लिए करेंगी तो ये त्वचा में समा जाएगा और आपकी बाह्य त्वचा  रूखी ही रहेगी. हालांकि मेकअप रिमूव करने के लिए आप दोनों का इस्तेमाल कर सकती हैं, लेकिन नारियल का तेल दोनों में बेहतर है, लेकिन यदि आपकी स्किन ड्राय है तो फिर इसका इस्तेमाल न करें.

हेयर ऑयल के रूप में ऑलिव ऑयल बेहतर
अगर आपके बाल रूखे, बेज़ान और घने हैं तो ऑलिव ऑयल आपके लिए बेहतरीन हेयरऑयल है. यह बालों को नारियल तेल की तुलना में ज़्यादा सॉफ्ट और सिल्की बनाता है. हालांकि नारियल का तेल ऑलिव ऑयल की तुलना में सस्ता है, लेकिन बालों को सॉफ्ट बनाने के लिए कभी-कभार ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल ज़रूर करें.

सर्दियों में दोनों को उपयोग में लाएं
मॉइश्चाइज़ेशन का मतलब त्वचा को अंदर से पोषण प्रदान करना और उसे पोषण को लॉक करना होता है इसलिए यदि आप कोकोनट ऑयल और ऑलिव ऑयल को मिला देंगी तो आपकी त्वचा को बेहतरीन पोषण मिलेगा. सबसे अच्छा तरीक़ा है कि पहले आप नारियल का तेल लगाएं, ताकि वो त्वचा में पूरी तरह समा जाए और फिर ऊपर से ऑलिव ऑयल लगाएं. इससे आपकी त्वचा को प्रोटेक्टिव बैरियर बन जाएगा और त्वचा का मॉइश्चर बरक़रार रहेगा.

ये भी पढ़ेंः 7 ऐलोवेरा फेस पैक्स, सभी त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए