क्यों होती है इतनी थकान? (Reasons to feeling tired all the time)

आजकल हम बहुत जल्दी थक जाते हैं. क्या इसका कारण सिर्फ भाग-दौड़भरी ज़िंदगी और बदलती लाइफस्टाइल है या फिर इसके पीछे कुछ और कारण है, जिन्हें हम अनदेखा कर रहे हैं. हो सकता है इस थकान की वजह कुछ और ही हो.

Reasons to feeling tired all the time

 

नींद की कमी:

आमतौर पर देखा गया है कि ज़्यादातर लोगों में थकान का सबसे बड़ा कारण नींद की कमी होती है. दिनभर तरोताज़ा व एनर्जेटिक बने रहने के लिए रात में सुकूनभरी नींद बहुत ज़रूरी है. उम्र के अनुसार नींद की ज़रूरत भी सभी के लिए अलग-अलग होती है. जहां नवजात शिशुओं को 16 घंटे की नींद की ज़रूरत होती है, वहीं टीनएजर्स को 9 घंटे, बड़ों को 7-8 घंटे और बुज़ुर्गों को कम से कम 5 घंटे और ज़्यादा से ज़्यादा 10 घंटे की नींद की ज़रूरत होती है. इसके अलावा रात को देर तक जागने के कारण अगला दिन भी बोझिल-सा लगता है.

 

असमय खानपान:

हर व़क्त की आपकी थकान का कारण असमय या ग़लत खानपान भी हो सकता है. दरअसल, ज़्यादातर लोग जब व़क्त मिलता है, तब खाना खाते हैं, जबकि हर रोज़ खाना खाने का सही टाइमटेबल होना चाहिए. दिन की सही शुरुआत के लिए हेल्दी ब्रेकफास्ट बहुत ज़रूरी है. इसे कभी भी अनदेखा न करें और प्रोटीन व कार्ब्रोहाइड्रेट्स युक्त ब्रेकफास्ट ज़रूर करें. इससे आपका एनर्जी लेवल बैलेंस रहता है और बेवजह की थकान या सिरदर्द नहीं होता.

 

बहुत ज़्यादा कैफीन:

रोज़ाना 2-3 कप चाय-कॉफी सामान्य है, पर 5-7 कप चाय-कॉफी नुक़सानदायक हो सकती है. कैफीन की अधिक मात्रा से नींद न आना, चिड़चिड़ापन, सिरदर्द, चिंता व थकान होती है. इसलिए चाय-कॉफी का सेवन संतुलित मात्रा में करें.

डिहाइड्रेशन:

आपकी थकान का एक कारण शरीर में पानी की कमी या डिहाइड्रेशन भी हो सकता है. हमारे शरीर को सही तरी़के से काम करने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी की आवश्यकता होती है. जो लोग फिज़िकल एक्टीविटीज़ ज़्यादा करते हैं, उन्हें भरपूर मात्रा में पानी पीना चाहिए. नियमित रूप से नींबू पानी, नारियल पानी और फू्रट जूस को अपने डायट में शामिल करें.

हर छोटी-छोटी बात पर स्ट्रेस लेना:

कॉम्पटीशन के इस दौर में हर किसी को पीछे छोड़ आगे बढ़ने की होड़ लगी है. इस होड़ का ही नतीजा है कि आजकल लगभर हर दूसरा व्यक्ति स्ट्रेस से परेशान है. बड़ी-बड़ी बातों को अगर छोड़ दें, तो रोज़मर्रा की छोटी-छोटी परेशानियों पर भी लोग स्ट्रेस ले लेते हैं, जिसका सीधा असर हमारी सेहत पर दिखाई देता है. हर समस्या का समाधान होता है, इसलिए स्ट्रेस लेने की बजाय समाधान में अपना समय व एनर्जी लगाएं, तो इससे बच सकते हैं. ज़्यादातर बीमारियों की शुरुआत इसी से होती है. स्ट्रेस अपने आप में एक बीमारी है, इसलिए रिलैक्स रहें.

फूड एलर्जी:

अक्सर हमें पता ही नहीं होता कि कौन-सी चीज़ हमारे शरीर की प्रवृत्ति के अनुकूल है और कौन-सी प्रतिकूल. कुछ खाने-पीने की चीज़ें हमारे बॉडी सिस्टम को सूट नहीं करतीं, जिसके कारण फूड एलर्जी हो जाती है. हर व़क्त थकान का एक कारण फूड एलर्जी भी होती है. फूड एलर्जी में स्किन रैशेज़, पेटदर्द, मितली आना और थकान होना आम बात है. इससे बचने के लिए अपने डॉक्टर से मिलें और उन्हें अपने डायट के बारे में बताएं.

आयरन की कमी:

हर व़क्त बेवजह की थकान का एक कारण शरीर में आयरन की कमी भी होती है. दरअसल, आयरन की कमी के कारण अक्सर लोग एनीमिया के शिकार हो जाते हैं. पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में यह समस्या ज़्यादा पाई जाती है, जिसका कारण हैवी पीरियड्स होता है. खाने में आयरन युक्त चीज़ें, जैसे- पालक, बीन्स, ब्रोकोली, बीटरूट, बादाम, अखरोट आदि लें.

थायरॉइड:

आपके गले में मौजूद थायरॉइड ग्लैंड शरीर में मेटाबॉलिज़्म को कंट्रोल करता है. जहां हाइपरथायरॉइडिज़्म में हमेशा थकान व कमज़ोरी का एहसास होता है, वहीं हाइपोथायरॉइडिज़्म के कारण मांसपेशियों में दर्द, ध्यान न लगना, कब्ज़, हर व़क्त ठंड लगना आदि लक्षण दिखाई देते हैं. अगर आप में भी ये लक्षण नज़र आ रहे हैं, तो तुरंत ब्लड टेस्ट के ज़रिए थायरॉइड की जांच करवाएं.

यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (यूटीआई):

दर्द, जलन और स्किन इरिटेशन यूटीआई के आम लक्षण हैं, पर डॉक्टरों की मानें, तो बहुत-सी महिलाओं में ये लक्षण दिखाई ही नहीं देते, बल्कि स़िर्फ थकान महसूस होती है. ऐसे में अपने डॉक्टर से संंपर्क करें, वो आपको एंटीबायोटिक्स दे सकते हैं, जिससे यह समस्या ख़त्म हो जाती है.

डिप्रेशन:

डिप्रेशन आपको मानसिक ही नहीं, बल्कि शारीरिक तौर पर भी प्रभावित करता है. थकान, सिरदर्द, भूख न लगना आदि इसके शारीरिक लक्षण हैं. ज़रूरी नहीं कि सभी को एक जैसे लक्षण महसूस हों. अक्सर देखा गया है कि ऊर्जा की कमी, खानपान में अरुचि, नींद न आना, ध्यान न लगना, निराशा, तनाव व नकारात्मक सोच इसके कारण हैं. ये लक्षण कई दिनों, हफ़्तों, महीनों तक नज़र आ सकते हैं. अगर आपको भी ऐसा एहसास हो रहा है, तो डॉक्टर से मिलें.

डायबिटीज़:

एक अनुमान के मुताबिक़ हर साल लगभग 10 लाख से भी ज़्यादा लोग डायबिटीज़ से प्रभावित होते हैं, पर उन्हें इस बारे में पता ही नहीं होता. हर व़क्त की थकान डायबिटीज़ का शुरुआती लक्षण हो सकता है. बार-बार प्यास लगना, यूरिन लगना, ज़्यादा भूख लगना, थकान, वज़न कम होना, चिड़चिड़ापन आदि इसके लक्षण हैं. नियमित अंतराल पर ब्लड टेस्ट के ज़रिए डायबिटीज़ की जांच करवाते रहें.

हार्ट प्रॉब्लम्स:

सीढ़ियां चढ़ने में तकलीफ़ और रोज़मर्रा के छोटे-छोटे काम अगर आपको थकाने लगें, तो समझ लें कि आपका हार्ट हेल्दी नहीं है. हो सकता है, आपको कोई हार्ट प्रॉब्लम हो. ऐसे छोटे-छोटे लक्षणों को अनदेखा न करें, वरना ये थकान आपको भारी पड़ सकती है.

 

 

थकान को यूं दूर भगाएं

Reasons to feeling tired all the time

  • अपने खानपान पर ध्यान रखें. रोज़ाना सही समय और सही मात्रा में खाएं. ओवर ईटिंग से बचे.
  •  अपने फैमिली डॉक्टर से सलाह लें कि आपके लिए क्या खाना सही है और क्या नहीं. ज़रूरी नहीं कि आपकी मनपसंद चीज़ आपके शरीर के अनुकूल हो.
  •  ध्यान, प्राणायाम व हल्की एक्सरसाइज़ को अपने डेली रूटीन में शामिल करें.
  •  बेवजह स्ट्रेस न लें. छोटी-छोटी समस्याओं को बड़ा न बनाएं.
  •  उम्र के अनुसार सभी ज़रूरी टेस्ट्स करवाते रहें, ताकि कोई भी परेशानी हो, तो शुरुआत में ही उसका पता चल जाए.
  •  परिवार के साथ ज़्यादा से ज़्यादा क्वालिटी टाइम बिताएं.
  •  हमेशा ख़ुश रहें और दूसरों को भी ख़ुश रखेें.