पीरियड्स के दौरान कैसे करें स्किन केयर? (How Skin Care During Periods?)

shutterstock_132023531

हार्मोनल बदलाव के कारण महिलाओं को न स़िर्फ पीरियड्स के दौरान, बल्कि उससे पहले भी कई स्किन प्रॉब्लम्स का सामना करना पड़ता है. कभी त्वचा रूखी हो जाती है, कभी उसकी चमक फीकी पड़ जाती है, तो कभी चेहरे पर मुंहासे उभर आते हैं. कैसे रखें त्वचा का ख़्याल पीरियड्स के पहले और पीरियड्स के दौरान? आइए, जानते हैं.

 

करें त्वचा की सही देखभाल

शरीर में हार्मोनल बदलाव होता रहता है. इससे न स़िर्फ मूड बदलता है, बल्कि त्वचा की ज़रूरतें भी बदल जाती हैं और ज़रूरत पूरी न होने पर या त्वचा की सही देखभाल न करने से स्किन प्रॉब्लम्स से दो-चार होना पड़ता है. ऐसे में हार्मोनल साइकल को तीन भागों में बांटकर आप पीरियड्स के पहले, दौरान और बाद में अपनी त्वचा का ख़्याल रख सकती हैं.

प्री मेन्स्ट्रूअल पीरियड

पीरियड्स आने के सात दिन पहले के समय को प्री मेन्स्ट्रूअल पीरियड कहते हैं. इन सात दिनों में एस्ट्रोजन का स्तर कम और प्रोजेस्टेरोन का स्तर बढ़ जाने के कारण त्वचा काफ़ी सेंसेटिव हो जाती है, जिससे मुंहासे आदि होने की संभावना भी दुगुनी हो जाती है.

कैसे रखें त्वचा का ख़्याल?

फेसवॉश

त्वचा की सुरक्षा के लिए सैलिसिलिक एसिड युक्त फेसवॉश इस्तेमाल करें. इससे त्वचा के खुले रोम छिद्र बंद हो जाते हैं और मुंहासे होने की संभावना न के बराबर हो जाती है.

मॉइश्‍चराइज़र

रेग्युलर मॉइश्‍चराइज़र की बजाय ऑयल फ्री और जेल बेस्ड मॉइश्‍चराइज़र यूज़ करें. ये त्वचा को मॉइश्‍चराइज़ करने के साथ-साथ मुंहासों से त्वचा की हिफ़ाज़त भी करता है.

मेन्स्ट्रूअल पीरियड

मेन्स्ट्रूअल पीरियड के दौरान एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन दोनों का स्तर घट जाता है, जिससे मुंहासों की समस्या तो काफ़ी हद तक कम हो जाती है, लेकिन त्वचा का रंग फीका पड़ जाता है और पानी की कमी से त्वचा रूखी और मुरझाई हुई नज़र आती है.

कैसे रखें त्वचा का ख़्याल?

फेसवॉश

पीएच बैलेंस्ड फेसवॉश इस्तेमाल करें. ये मेन्स्ट्रूअल पीरियड में त्वचा के लिए काफ़ी अच्छा होता है. चाहें तो फेसवॉश की बजाय क्लींज़िंग लोशन भी यूज़ कर सकती हैं.

मॉइश्‍चराइज़र

मेन्स्ट्रूअल पीरियड के दौरान त्वचा काफ़ी रूखी हो जाती है, इसलिए मॉइश्‍चराइज़र को नज़रअंदाज़ करने की भूल न करें. त्वचा को अच्छी तरह मॉइश्‍चराइज़ करें, ताकि त्वचा नर्म-मुलायम बनी रहे.

पोस्ट मेन्स्ट्रूअल पीरियड

पीरियड्स के बाद के समय को पोस्ट मेन्स्ट्रूअल पीरियड कहा जाता है. इस दौरान एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन का स्तर संतुलित हो जाता है, जिससे त्वचा फिर से पहले की तरह सामान्य हो जाती है. ऐसी स्थिति में कुछ ख़ास करने की ज़रूरत नहीं होती, मगर डेली रूटीन को नज़रअंदाज़ करने की ग़लती भी न करें. नियमित रूप से त्वचा की देखभाल करें.

कैसे रखें त्वचा का ख़्याल?

shutterstock_108076307

फेसवॉश

रोज़ाना दिन में दो बार अच्छी क्वालिटी के फेसवॉश से चेहरा धोएं. इससे त्वचा अच्छी तरह क्लींज़ हो जाएगी.

मॉइश्‍चराइज़र

चेहरा धोने के तुरंत बाद चेहरे पर मॉइश्‍चराइज़र लगाकर हल्के हाथों से चेहरे की मालिश करें. मॉइश्‍चराइज़र से त्वचा कोमल बनी रहती है.

सनस्क्रीन

धूप में घर से बाहर निकलने से पहले त्वचा पर सनस्क्रीन लगाना न भूलें. ये धूप से त्वचा की हिफ़ाज़त करता है.

मेकअप रिमूवर

बिना मेकअप उतारे सोने की ग़लती न करें. मेकअप रिमूव करने के लिए मेकअप रिमूवल लोशन का इस्तेमाल करें.

स्मार्ट टिप्स

– इन दिनों डेरी प्रॉडक्ट्स, जैसे- दूध, दही, घी, पनीर आदि खाने से बचें. इनसे मुंहासों की संभावना और बढ़ जाती है.

– सप्ताहभर चॉकलेट भी न खाएं. पीरियड्स के दौरान चॉकलेट्स ख़ूबसूरती के दुश्मन बन जाते हैं.

– जंक फूड से परहेज़ करें. तली-भुनी, मसालेदार चीज़ें खाने से भी परहेज़ करें. इनके सेवन से मुंहासे होने की संभावना बढ़ जाती है.

– कुनकुने पानी से नहाएं. ज़्यादा गरम या ठंडे पानी से नाज़ुक त्वचा रूखी हो जाती है.

– ख़ूब सारा पानी पीएं. इससे त्वचा अंदर से स्वस्थ रहती है और उसकी चमक बरक़रार रहती है.