मोबाइल चार्जिंग में रखें इन बातों का ख़्याल

7

  • मोबाइल हमेशा अपने फोन के चार्जर से ही चार्ज करें. किसी और मोबाइल का चार्जर इस्तेमाल करने से या तो चार्जिंग धीरे-धीरे होती है या होती ही नहीं या फिर वह आपके फोन या बैटरी को नुक़सान पहुंचा सकता है.
  • अपने मोबाइल को बहुत गरम होने से बचाएं, क्योंकि ज़्यादा गर्म होने से मोबाइल के साथ-साथ उसकी बैटरी को भी नुक़सान पहुंच सकता है.
  • मोबाइल को दिनभर चार्जिंग में लगाकर न रखें, क्योंकि उस दौरान मोबाइल बहुत गर्म रहता है, जो आपके मोबाइल के लिए ठीक नहीं.
  • जैसे ही आपका मोबाइल पूरा चार्ज हो जाए, उसे चार्जिंग से निकाल दें. 80% या 90% हो गया है, इसलिए मोबाइल दिनभर लगाए न रखें.
  • टेक एक्सपर्ट्स के मुताबिक़ अपने मोबाइल के लाइफस्पैन कोे बढ़ाने के लिए मोबाइल की चार्जिंग हमेशा 50% से ऊपर रखें.
  • एक्सपर्ट्स के मुताबिक़ बैटरी की लंबी लाइफ के लिए महीने में एक बार मोबाइल को पूरी तरह डिस्चार्ज करके चार्ज करना चाहिए.
  • जब ज़रूरत न हो, जैसे- सोते व़क्त, ज़रूरी मीटिंग के दौरान आदि तो मोबाइल को बंद करके रखें. इससे बैटरी की चार्जिंग बेवजह ख़त्म नहीं होती.
  • वाइब्रेशन में बैटरी तेज़ी से डिस्चार्ज होती है, इसलिए मोबाइल को वाइब्रेशन की बजाय स्लो रिंग टोन पर रखें.
  • ब्लूटूथ, जीपीएस, वाई-फाई बेवजह ऑन न रखें, इससे भी आपके मोबाइल की बैटरी जल्द ख़त्म होती है.
  • बहुत से लोग मोबाइल को रातभर के लिए चार्जिंग पर लगाकर सो जाते हैं. ऐसे में मोबाइल चार्ज तो होता है, पर ओवरहीट भी हो जाता है,
    जिससे आपकी बैटरी डैमेज हो सकती है, इसलिए ऐसा करने से बचें.
  • एनीमेशनवाली थीम्स न रखें और न ही बहुत ज़्यादा इफेक्टवाले या लाइव वॉलपेपर्स, क्योंकि इनसे बैटरी बहुत जल्दी डिस्चार्ज होती है.

– सत्येंद्र सिंह