कहानी- नव्या नौसिखिया 7 (St...

कहानी- नव्या नौसिखिया 7 (Story Series- Navya Nausikhiya 7)

“मतलब तू केक बना रही है और मैं वीडियो शूट कर रहा हूं…” नवल बोले, तो यामिनी भी नवल के सुर में बोली, “और मैं केक का लुत्फ़ उठा रही हूं…”

“तो सौ बात की एक बात… तू वीडियो बना और उसे यू ट्यूब पर पोस्ट कर कुछ सिखा और ऐसा सिखा कि देखनेवाला मुस्कुराए… हाय मैं हूं ‘नव्या नौसिखिया’ आज मैं बनाने जा रही हूं फलाना-ढिमका…” दादी के इस अंदाज़ पर नव्या ख़ूब हंसी थी.

 

 

 

… “और क्या न सूंघने की क्षमता कम हुई.” यामिनी ने भी छेड़ा… तो वह बोली, “अच्छा! क्या मैं ही डरी हुई थी… दादी की भी बात करो, उस दिन इन्होंने भी तो कितना डरा दिया था… क्या कहा था दुनिया के अंत का आरंभ… बाप रे!”
नव्या ने उसे देखकर कानों को हाथ लगाया, तो वे गंभीरता से बोलीं, “मानती हूं उस दिन डर गई थी, पर बाद में सोचा कि जब पूरी सुरक्षा ले रहे हैं, तो किस बात का डर… मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, काढ़ा, भाप… ये सुरक्षा तो उस टिकट जैसी है, जिसे लेकर हम इत्मिनान से जीवन यात्रा कर रहे हैं. मतलब घर पर ही सही पर आसपास के नज़ारों का आनंद ले रहे हैं…”
“मतलब तू केक बना रही है और मैं वीडियो शूट कर रहा हूं…” नवल बोले, तो यामिनी भी नवल के सुर में बोली, “और मैं केक का लुत्फ़ उठा रही हूं…”
“तो सौ बात की एक बात… तू वीडियो बना और उसे यू ट्यूब पर पोस्ट कर कुछ सिखा और ऐसा सिखा कि देखनेवाला मुस्कुराए… हाय मैं हूं ‘नव्या नौसिखिया’ आज मैं बनाने जा रही हूं फलाना-ढिमका…” दादी के इस अंदाज़ पर नव्या ख़ूब हंसी थी.
उस दिन तो वह उड़ी-उड़ी घूम रही थी, जब ‘नव्या नौसिखिया’ के यू ट्यूब चैनल को सैंकड़ों लाइक मिले. केक, पेस्ट्री, बिस्किट, ब्रेड आदि बनाना भी नव्या नौसिखिया में सिखाया जाने लगा था. वो दिन भी आया जब सैकड़ों की संख्या हज़ारों तक पहुंच गई थी.
नव्या वाक़ई नौसिखिया थी. उसके वीडियो के कमेंट बॉक्स में अमुक रेसिपी क्यों बिगड़ी उसके कारण और निवारण भी दिए जाते.

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन- संयुक्त परिवार में रहने के फ़ायदे… (Lockdown- Advantages Of Living In A Joint Family)

“दादी, मैं केक के ऑर्डर लेना शुरू करूं क्या?” कुछ दिन पहले ही उसने पूछा था… और आज पहला ऑर्डर भी मिल गया. नव्या बेशक मिले ऑर्डर पर ख़ुश थी, पर दादी तो नव्या को व्यस्त देखकर ख़ुश थी.
“अरे भई, अब क्या दिनभर टीवी पर बेकरी क्लास चलेगी क्या?” नवल का स्वर कानों में पड़ा, तो गोदावरी इन दिनों घटे प्रसंगों से बाहर आते हुए मुस्कुरा दी.
नव्या की बेकिंग के पैशन के चलते दहशतभरी ख़बरें,
लॉस ऑफ स्मेल, टेस्ट और ऑक्सीमीटर की बातें करनेवाला टीवी अब रेसिपी, टेस्ट कलर और एरोमा की बात कर रहा है यह सुखद था.


मीनू त्रिपाठी

अधिक शॉर्ट स्टोरीज के लिए यहाँ क्लिक करें – SHORT STORIES