10 बुरी आदतें बालों को करती हैं डैमेज (Top 10 Bad Beauty Habits That Damage Your Hair)

बालों से जुड़ी कई समस्याएं बुरी आदतों के कारण भी होती हैं. आप इन आदतों से बचें ताकि आपके बाल रहें लॉन्ग एंड स्ट्रॉन्ग.

Bad Beauty Habits

* बहुत से लोग बालों में शैम्पू करते समय सिर की त्वचा और बालों को ज़ोर से रगड़ते हैं. ऐसा करने से न केवल बालों को नुक़सान पहुंचता है, बल्कि सिर में मौजूद सिबैसियस ग्लैंड भी उत्तेजित हो जाते है. सिबैसियस ग्लैंड बालों के लिए नेचुरल ऑयल बनाते हैं.
* बाल सुखाने के लिए बहुत से लोग बालों में कसकर टॉवल लपेटते हैं. इतना ही नहीं, उसी टॉवल से बालों को तेज़ी से पोंछना भी बुरी आदत में शुमार है. इससे बचें.
* बालों में बार-बार हाथ फेरना भी बुरी आदतों में से एक है. दिनभर हम न जाने कितनी धूल भरी और कीटाणुओं से युक्त चीज़ों को हाथ लगाते हैं और फिर वही हाथ चेहरे और बालों में लगा लेते हैं. यही कीटाणु और धूल बालों में डैंड्रफ का कारण और उनके टूटने की वजह बन जाते हैं.
* घर से बाहर निकलते समय बालों को यूं ही खुला छोड़ना, बालों को ड्राई बना देता है. सूरज की तेज़ किरणें बालों से नमी चुरा लेती हैं. अतः घर से निकलने से पहले बालों को स्कार्फ से कवर करें.
* स्मोकिंग से निकलने वाला धुआं बालों को ड्राई और बेजान बना देता है. स्मोकिंग करने से बालों के दोमुंहे होने की संभावना बढ़ जाती है. इसमें मौजूद निकोटीन बालों को नुक़सान पहुंचाता है.
* गीले बालों में कभी कंघी न करें. ये बुरी आदत बालों को कमज़ोर कर देती है.
* रात में सोते समय बालों का कसकर जूड़ा बनाना बुरी आदत में शुमार है. ऐसा करने से बाल टूटते हैं.
* गीले बालों को सुखाने के लिए ब्लो ड्रायर का यूज़ करने से भी बाल कमज़ोर बनते हैं.
* कभी-कभार हॉट शॉवर ठीक है, लेकिन हर दिन हॉट शॉवर से बाल रूखे और बेजान हो जाते हैं.
* बार-बार बालों में खुजली करना भी बुरी आदत है. इससे बाल टूटते हैं.

Bad Beauty Habits

मज़बूत बालों के लिए अपनाएं हेल्दी हैबिट्स: 
* हफ्ते में 3 से 4 बार बालों में तेल लगाकर अच्छी तरह मसाज करें.
* बालों को धोने के लिए अच्छी क्वालिटी के शैम्पू का इस्तेमाल करें.
* बालों को ड्रायर से सुखाने की बजाय प्राकृतिक तरी़के से सूखने दें.
* बालों को संवारने के लिए मोटे दांत वाली कंघी का इस्तेमाल करें.
* बहुत टाइट चोटी न बांधें, इससे भी बालों की जड़ें कमज़ोर होती हैं.
* हरी पत्तेदार सब्ज़ियां, फल, दूध व अन्य डेयरी प्रॉडक्ट, ड्रायफ्रूट्स आदि को अपनी डायट में शामिल करें.