जानें अपना इमोशनल टाइप (What Is Your Emotional Type?)

भावनाएं (Emotions) हर किसी में होती हैं. कोई अपनी भावना को छुपा नहीं पाता, तो कुछ लोग हर बात दिल में रखते हैं. आप किस श्रेणी में आते हैं? यह जानना बहुत ज़रूरी है.
हम सभी इस दुनिया में और अपने आस-पास घट रही घटनाओं को अलग-अलग नज़रिए से देखते हैं. यही वजह है कि एक ही घटना पर अलग-अलग लोगों की प्रतिक्रियाएं अलग होती हैं. अमेरिका के सुप्रसिद्ध साइकियाट्रिस्ट और इमोशनल फ्रीडम नामक मशहूर किताब के लेखक जूडिथ ऑर्लोफ ने मनुष्य के इमोशन्स को चार भागों में वर्गीकृत किया है. उनके अनुसार, हम सभी इन चारों में से ही किसी न किसी श्रेणी में आते हैं. उनका यह भी मानना है कि तनाव के समय व्यक्ति का सही इमोशन सामने आता है. हम आपको चारों प्रकार के इमोशन्स, उनकी ख़ूबियां, कमियां और भावनाओं को संतुलित रखने का तरीक़ा बता रहे हैं
.

Emotional Type People
बौद्धिक
आप दिल से नहीं, दिमाग़ से सोचते हैं. आपका दिमाग़ हर व़क्त सक्रिय रहता है. सोते समय भी आप सोचना नहीं छोड़ते. कोई घटना होने पर आप उसके बारे में गहन जांच करके योजना बनाने में जुट जाते हैं. आप भावनाओं की ओर ध्यान नहीं देते.
ख़ूबियां
आप तार्किक और बौद्धिक विचार के स्वामी हैं. कोई भी बात या घटना आपको व्यथित नहीं कर सकती. आप समस्या का समाधान आसानी से ढूंढ़ लेते हैं. बहुत तनावपूर्ण स्थिति में भी आप शांत बने रहते हैं.
कमियां
आपके लिए दूसरों की भावनाओं को समझना बहुत मुश्क़िल होता है, क्योंकि आप ख़ुद की भावनाओं को भी दबा देते हैं.
क्या है सही?
सबसे पहले अपने दिमाग़ को शांत रखने की कोशिश करें. योग, ब्रीदिंग या किसी प्रकार का एक्सरसाइज़ करें. सहानभूति की भावना रखें. किसी की समस्या को स़िर्फ दिमाग़ से नहीं, दिल से भी सोचें.

Mood Swings

संवेदनशील
आप बहुत संवेदनशील और भावुक व्यक्ति हैं. अगर आपके क़रीबी और अपने ख़ुश हैं तो आप भी ख़ुश रहते हैं. अगर वे दुखी होते हैं तो आप भी उदास हो जाते हैं. लोग आपसे अक्सर यही शिकायत करते हैं कि आप बातों पर ओवररिऐक्ट करते हैं. आप अपने आस-पास की चीज़ों, जैसे-महक, आवाज़ या दूसरे की भावना के प्रति संवेदनशील हैं.
ख़ूबियां
आप दूसरों का ख़्याल रखने वाले ऐसे इंसान हैं, जो हमेशा दूसरों को भावनात्मक सपोर्ट देने के लिए तैयार रहता है. आप सबकी बात अच्छे से सुनते हैं यानी अच्छे लिसनर हैं.
कमियां
आप नकारात्मक इमोशन्स के प्रभाव में बहुत जल्दी आ जाते हैं, जिसके कारण डिप्रेशन या एंज़ायटी के चपेट में आने का ख़तरा ज़्यादा होता है. आप अक्सर भावनात्मक रूप से थका हुआ महसूस  करते हो.
क्या है सही?
आपको नकारात्मक लोगों से दूरी बनाकर रखना चाहिए. समय-समय पर आपको सारी परेशानियों को भूलकर ख़ुद के लिए समय निकालना चाहिए. जिन चीज़ों और परिस्थितियों का सामना करने में आपको दिक्कत महसूस होती हो, उनकी लिस्ट बनाएं और उनका सामना करने के लिए ऐक्शन प्लान तैयार करें, ताकि भविष्य में किसी तरह की दिक्कत न हो.

ये भी पढ़ेंः कहीं आप ग़लत समय पर तो विटामिन्स नहीं ले रहे? (Are You Taking Your Vitamins Correctly?)

कठोर
आप भावनात्मक रूप से मजबूत और शांत स्वभाव वाले इंसान हैं. आप दूसरों की बातों पर जल्दी अपनी प्रतिक्रिया नहीं देते और न ही किसी के राय में तुरंत राय बनाते हैं. आप अपनी भावनाओं को जल्दी व्यक्त नहीं करते.
ख़ूबियां
आप स्थिर, ईमानदार और भरोसेमंद व्यक्ति हैं. आप किसी के साथ भी आसानी से बातचीत कर सकते हैं.
कमियां
आपके लिए क़रीबी रिश्ते बनाना थोड़ा मुश्क़िल हो सकता है.
क्या है सही?
आपको जिस पर भरोसा हो, उसके साथ भावनात्मक रूप से जुड़ने की कोशिश करें. अपनी भावनाओं पर ध्यान दें. अगर आपको कोई बात बुरी लगे तो मन में दबाने की बजाय बाहर निकाल दें. अगर किसी के साथ शेयर नहीं करना चाहते तो कहीं लिख दें. भावनाओं को व्यक्त करना सीखें.

बड़बोला (वेग में बहनेवाला)
आपको अपनी भावनाओं को व्यक्त करना अच्छा लगता है. आपको हमेशा ऐसे व्यक्ति की तलाश रहती है, जिसके साथ आप अपने दिल की बात तुरंत कह सकें और अगर आपको कोई ऐसा न मिले तो बैचेन हो जाते हैं. आप कैसा महसूस कर रहे हैं, यह आपके आस-पास वालों को आसानी से समझ में आ जाता है.
ख़ूबियां
आप नकारात्मक भावनाओं से आसानी से बाहर आ जाते हैं. आप ईमानदार हैं और आपको रिश्तों की कद्र है.
कमियां
आपकी हर भावना को व्यक्त करने की आदत लोगों को बुरी लग सकती हैै. कभी-कभी आप सीमाओं को लांघ भी जाते हैं.
क्या है सही?
हर बात शेयर करने के लिए दूसरों पर निर्भर रहने की बजाय आत्मचिंतन करें और ख़ुद ही समस्या का हल ढूंढ़ने की कोशिश करें.
ये भी पढ़ेंः जानिए स्ट्रेस और एंज़ायटी में क्या है अंतर? (What’s The Difference Between Anxiety And Stress?)