क्या आप भी नींद न आने की समस्या ...

क्या आप भी नींद न आने की समस्या से परेशान हैं? जानें इसके लिए अजब-गज़ब तरीक़े… (When You Can’t Sleep- How to Treat Insomnia…)

आज के दौर में नींद न आने की समस्या (How to Treat Insomnia)तक़रीबन हर तीसरे व्यक्ति की है. लोगों की जीवनशैली और अत्यधिक काम की वजह से यह परेशानी दिनोंदिन बढ़ती ही जा रही है. ऐसे में अच्छी नींद आने के लिए तमाम उपाय भी किए जाते हैं. यहां पर हम ऐसे ही कुछ दिलचस्प तरीक़ों के बारे में बता रहे हैं.

नींद आने के लिए इस दिलचस्प तरीक़े का इस्तेमाल करें. आप इस तरह से मुस्कुराएं कि गालों पर तनाव का एहसास हो. कुछ देर इसी तरह रहें और फिर रिलैक्स हो जाएं. इसी तरीक़े से गर्दन व आंख की मांसपेशियों को भी रिलैक्स करें. इस प्रक्रिया को करने पर थोड़ी देर में ही आपको नींद आने लगेगी. साथ ही इस बात का भी ख़्याल रखें कि सोने के कमरे में अंधेरा रहे यानी लाइट ऑफ कर दें. कोशिश करें कि जितना हो सके बेडरूम में गहरी शांति और अंधेरा हो.

स्वीडन देश में रात को सोने से पहले बच्चे और बड़े-बुज़ुर्ग दूध व ओट्स से बना ड्रिंक वाल्लिंग लेते हैं. इससे अच्छी नींद आने में मदद मिलती है. इसके अलावा इल्क जाति की हिरण के मीट को भी स्वीडन के लोग अच्छी नींद आने के लिए खाते हैं. दरअसल, इल्क के मीट में ट्राइप्टोफन होता है, जिससे नींद आने में सहायता मिलती है.

इस ब्रीदिंग टेकनीक से भी अच्छी नींद आती है. दोनों होंठों के बीच थोड़ा-सा अंतर रखकर सांस मुंह से बाहर छोड़ें. फिर होंठ बंद करके नाक से सांस अंदर लेते हुए मन ही मन में पांच तक गिनती करें. सांसों को कुछ देर रोकें और मुंह से सांस छोड़ दें. अब मांसपेशियों को तनावमुक्त करने के लिए आईब्रो को ऊपर उठाएं कुछ सेकंड तक ऐसे ही रखें. फिर मसल्स को रिलैक्स कर दें.

चीन में रात में सोने से पहले पानी में पैर डुबोकर फुट स्पा लेने का रिवाज़ है. इसके लिए वे बाथ टब में गुनगुना पानी, लैवेंडर और रोज़ ऑयल, सेंधा नमक, फलों के छिलके आदि डालते हैं. ट्रेडिशनल चाइनीज़ मेडिसिन के अनुसार, इससे दिमाग़ से ‘की’ यानी वाइटल एनर्जी कम होती है. यह शरीर के लिम्बिक सिस्टम को रिलैक्स करती है. साथ ही मस्तिष्क को सोने का सिग्नल पहुंचाती है. सुआन जाओ रेन जो एक क़िस्म का चीनी बेर है से भी अच्छी नींद में मदद मिलती है.

यह भी पढ़ें: मानसिक स्वास्थ्य पर एक्सरसाइज़ के फ़ायदे (Benefits Of Exercise On Mental Health…)

मिलिट्री मैथड से भी गहरी नींद आती है. इसमें तनाव को हटाकर कंधों को ढिला छोड़ दें. पैरों, जांघों व पिंडलियों को आराम दें. साथ ही एक ख़ूबसूरत शांत दृश्य की कल्पना करते हुए उसे देखें. इस तरह धीरे-धीरे आपको नींद आने लगेगी. इसमें चेहरे की मांसपेशियों को रिलैक्सड करने पर अधिक फोकस किया जाता है.

नींद आने के लिए फिनलैंड जैसे छोटे से देश में रात को सोना स्टीम लेने की परंपरा रही है. उत्तरी यूरोप की नॉर्डिक परंपरा के अनुसार, फिनलैंड निवासी शाम को सोना स्टीम लेते हैं. इससे शरीर का तापमान बढ़ने के साथ मांसपेशियों को भी रिलैक्सेशन मिलता है. इससे अच्छी नींद आती है.

नींद के लिए इसे भी आज़माएं. जिस कमरे में आप सो रहे हैं, उसमें पूरी तरह से अंधेरा कर दें. यदि अंधेरे में परेशानी हो, तो कोशिश करें कम रोशनी की लाइट रखें. फोन और हर गैजेट्स से ख़ुद से दूर रखें. कोशिश करें सोने से कम से कम एक घंटे पहले मोबाइल फोन का इस्तेमाल बिल्कुल न करें.

जापान में अच्छी नींद के लिए ऊन और कॉटन से बना शिकिबूटन जो एक ट्रैडिशनल गद्दा है का इस्तेमाल करते हैं. इसे ज़मीन पर बिछाकर लेटते हैं. बढ़िया नींद के अलावा यह सेहत भी ठीक रखती है. यह इको फ्रेंडली मैट्रस रीढ़ की हड्डी से जुड़ी समस्याओं को भी दूर करता है. पीठदर्द की परेशानी से जूझ रहे लोगों के लिए यह बेहद फ़ायदेमंद है.

मध्य अमेरिका में स्थित ग्वाटेमाला देश में वरी डॉल्स को अच्छी नींद के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

दिनभर के कामकाज से शरीर पूरी तरह से थक जाता है, ऐसे में ध्यान लगाना यानी मेडिटेशन सबसे बेहतरीन तरीक़ा है अच्छी नींद के लिए. इससे ना केवल दिलोदिमाग़ शांत रहता है, बल्कि एकाग्रता भी बढ़ती है. व्यर्थ के विचार नहीं आते और अच्छी नींद आती है.

नींद के लिए प्रभावशाली घरेलू नुस्ख़े

  • हर रोज़ दो टीस्पून मेथी के पत्तों के रस में एक टीस्पून शहद मिलाकर लें.
  • गहरी नींद के लिए रात में केला, काबुली चना व कीवी खाएं.
  • रिसर्च के अनुसार, सोने से पहले चेरी खाने से अच्छी नींद आती है. – दिनभर में एक कप चेरी का जूस दो बार पीना भी लाभदायक रहता है.
  • रात को एक ग्लास गुनगुने दूध में एक टीस्पून शहद मिलाकर पीएं.
  • केले में पोटैशियम और मैग्नीशियम भरपूर होता है, जो मांसपेशियों को तनावमुक्त करता है, जिससे नींद अच्छी आती है. इसलिए रात को नींद न आने पर केले के टुकड़े करके उस पर भुना पिसा हुआ जीरा छिड़कर खाएं.
  • मैग्निशियम की कमी की वजह से अनिद्रा की समस्या होती है. बादाम में प्रचुर मात्रा में मैग्नीशियम होता है, इसलिए सुकनूभरी नींद के लिए हर रोज़ 6-7 बादाम ज़रूर खाएं.
  • दूध में हल्दी या जायफल मिलाकर पीने से भी गहरी नींद आती है.
  • रात को सोने से पहले एक ग्लास दूध में आधा टीस्पून दालचीनी पाउडर मिलाकर पीने से बढ़िया नींद आती है.
  • एक ग्लास दूध में केसर मिलाकर पीने से भी गहरी नींद आती है.
  • सोने से पहले जीरे की चाय पीने या एक ग्लास दूध में एक टीस्पून जीरा पाउडर व एक केला मसलकर खाने से नींद अच्छी आती है.
  • यदि आप नियमित रूप से बादाम, अखरोट, दूध व दलिया लेते हैं, यक़ीनन अच्छी नींद आती है.

यह भी पढ़ें: दिल को रखना है फिट, तो करें ये मुद्रा और योगासन (12 Effective Yoga And Mudras For Your Healthy Heart)

ज्योतिषीय नज़रिया
यदि ज्योतिषीय दृष्किोण से देखें, तो वास्तु गुरु डॉ. मधुराज के अनुसार, शनि के दूषित होने पर नींद में समस्या होती है. इसके अलावा चंद्रमा या शुक्र के पीड़ित होने पर अकारण नींद नहीं आती. साथ ही बुध पीड़ित हो, तो चिंता से नींद नहीं आती. यदि कुंडली में अग्नि तत्व या पृथ्वी तत्व प्रधान हो, तो भी नींद आने की समस्या होती है. मंगल की प्रचंडता भी शारीरिक तकलीफ़ से नींद नहीं आने देती. इसके लिए उन्होंने कई उपयोगी उपाय भी बताए.

  • बेडरूम का रंग क्रीम, हल्का हरा या गुलाबी रखें.
  • कमरे में हल्की ख़ुशबू का इस्तेमाल करें.
  • गले में चांदी ज़रूर धारण करें.
  • पलंग के पास लोटे में जल भरकर रखें और सुबह उसे पौधों में डालें.
  • जिस कमरे में सूर्य और चंद्रमा की किरणें आती हों, उसी कमरे में सोएं.
  • ज्योतिषी सलाह लेकर एक मोती या ओपल पहनें.
  • बेड के नीचे कोई भी सामान न रखें, ख़ासतौर से लोहा.
  • बेडरूम में गंदे कपड़े भी बिल्कुल न रखें.
  • लाल तिलक लगाने से बचें.

ध्यान दें

  • रात में हैवी की जगह लाइट डायट लें, ताकि भोजन आसानी से व अच्छे से डाइजेस्ट हो सके.
  • कोशिश करें कि सोने से पहले कैफीन बेस्ड ड्रिंक्स न लें.
  • इन सब के अलावा एक्युप्रेशर, होलिस्टिक हीलिंग को भी नींद के लिए आज़मा सकते हैं.

– ऊषा गुप्ता

Photo Courtesy: Freepik

×