मोतियाबिंद के 10 घरेलू उपचार (10 Best Home Remedies For Cataract)

Best Home Remedies For Cataract

मोतियाबिंद आंखों की पुतलियों या दृष्टि पटल के पर्दों पर छाई परान्धता को कहते हैं. यह जैसे-जैसे पकता है, वैसे-वैसे दृष्टि धुंधली होती जाती है. इस रोग में आंखों की काली पुतलियों में स़फेद मोती जैसा बिंदु उत्पन्न हो जाता है, जिससे व्यक्ति की देखने की क्षमता कम हो जाती है. इसमें आंखों को सभी चीज़ें धुंधली नज़र आती हैं. तेज़ प्रकाश में देखना मुश्किल हो जाता है.

* सौंफ और धनिया को समान मात्रा में लेकर उसमें भूरी शक्कर मिलाएं. इसे 10-10 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम सेवन करने से लाभ होता है.
* 6 बादाम और 7 कालीमिर्च को पीसकर पानी मिलाकर छलनी से छान लें. उसमें मिश्री मिलाकर पीने से लाभ होता है.
* 10 ग्राम गिलोय के रस में 1-1 टीस्पून सेंधा नमक व शहद मिलाकर बारीक़ पीसकर रख लें. इसे काजल की तरह आंखों में लगाएं.
* त्रिफला को पानी में पीसकर पेस्ट बना लें. इसे आंखों पर रखकर पट्टी बांध दें.
* 10 मि.ली. प्याज़ का रस, 10 मि.ली. शहद, 2 ग्राम भीमसेनी कपूर- तीनों को अच्छी तरह मिलाकर बॉटल में भरकर रख लें. रात को सोते समय आंखों में लगाएं. सुबह भी ऐसा करें. इससे मोतियाबिंद में काफ़ी लाभ होता है.
* गाजर, पालक और आंवले के रस का सेवन करने से मोतियाबिंद बढ़ता नहीं और दो-तीन महीने में ही कटकर साफ़ हो जाता है.
* एक चम्मच पिसा हुआ धनिया एक कप पानी में उबालकर छान लें. ठंडा होने पर आंखों में डालें. इस प्रयोग से मोतियाबिंद ठीक हो जाता है.
* आंखों की तकलीफ़ हो, तो गाय का दूध ज़्यादा पीएं. मेथी, भिंडी, पालक, केला, अंगूर, सेब, नारंगी, अनार आदि अधिक खाएं. खट्टी व तीखी चीज़ें न खाएं. तेज़ रोशनी और मानसिक तनाव से भी बचना ज़रूरी है, क्योंकि इनकी वजह से तकली़फें और भी बढ़ सकती हैं.

यह भी पढ़े: नींबू के 19 चमत्कारी फ़ायदे

यह भी पढ़े: स्वादिष्ट खजूर के 10 अनोखे फ़ायदे

मोतियाबिंद का अचूक इलाज
* बहुत पुरानी ईंट का टुकड़ा पीसकर छान लीजिए. ख़ूब बारीक़ होना आवश्यक है. फिर उसे आक के दूध में भिगोकर रख दें. कुछ समय बाद दूध सूख जाएगा, तब उसके 10 ग्राम चूरे में 5-6 लौंग पीसकर मिला दें. उसी चूरे को बार-बार दिन में 5-6 बार सूंघें. इसे सूंघने पर मोतियाबिंद का जाला साफ़ हो जाता है. यह प्रयोग गांव-कस्बों में आज भी प्रचलित है.

सुपर टिप
लहसुन आंखों के लेंस को साफ़ करता है. हर रोज़ लहसुन की दो कलियां चबाने से मोतियाबिंद व आंखों की अन्य तकलीफ़ों में लाभ होता है.

– मूरत गुप्ता

 दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें-  Dadi Ma Ka Khazana

[amazon_link asins=’B00P6KUF9K,B00T7KOTF6,B0182ITDEU,B015GW3JIQ’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’dda58121-e651-11e7-aea6-7f050cc40254′]