वर्कआउट के 20 फ़ायदे (Benefits of Regular Exercise)

Benefits of Regular Exercise

फिट व हेल्दी रहने के लिए एक्सरसाइज़ (Regular Exercise) बहुत ज़रूरी है, आपने ये बात तो लगभग हर किसी के मुंह से सुनी होगी, मगर इस पर अमल कम ही लोग करते हैं. अधिकतर तो समय की कमी या काम के बोझ का बहाना बना देते हैं, तो कुछ कहते हैं कि वो फिट हैं और उन्हें वर्कआउट की ज़रूरत नहीं. चलिए, हम आपको बताते हैं वर्कआउट कितना फ़ायदेमंद हो सकता है. इसके फ़ायदे जानकर शायद आप भी बहाने भूल जाएं.

  1. रोज़ाना कार्डियोवेस्कुलर एक्सरसाइज़ करने से ब्रीदिंग कैपिसिटी बढ़ती है और आप ज़्यादा एनर्जेटिक महसूस करते हैं.
  2. यह मांसपेशियों के साथ ही आपके दिल को भी दुरुस्त रखता है और ब्लड फ्लो (रक्त के बहाव) को नियंत्रित रखता है.
  3. नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करने से काम करने की क्षमता यानी स्टेमिना बढ़ता है और आप बेहतर तरी़के से अपना काम कर पाते हैं.
  4. रेग्युलर एक्सरसाइज़ करने से हमारे शरीर से एंर्डोफिन्स नामक हार्मोन का स्राव होता है, जो तनाव कम करने में सहायक होता है.
  5. रोज़ना एक्सरसाइज़ करने से शरीर में रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है, जिससे सभी इंटरनल ऑर्गन्स को सही मात्रा में ब्लड सप्लाई मिलती है और दिमाग़ सही तरी़के से काम करता है.
  6. वेट ट्रेनिंग मसल्स की कार्यक्षमता बढ़ाने के साथ ही इसे सुदृढ़ और मज़बूत बनाने में भी सहायक है.
  7. एक्सरसाइज़ दिमाग़ को सक्रिय करके नए ब्रेन सेल्स के निर्माण में मदद करता है. साथ ही ब्रेन सेल्स के कनेक्शन को भी मज़बूत करता है.
  8. कई शोधों से यह सिद्ध हुआ है कि जो लोग शारीरिक रूप से सक्रिय रहते हैं, वे ज़्यादा समय तक जिंदा रहते हैं. एक्सरसाइज़ असमय मृत्यु की संभावना को कम करता है.
  9. नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करने से मेटाबॉल़िज़्म बढ़ता है. एक्सरसाइज़ करने के बाद आराम करते समय भी कैलोरी बर्न होती है, जिससे वज़न कम होता है.
  10. नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करने से ब्लड कॉलेस्ट्रॉल लेवल नियंत्रित रहता है. एक्सरसाइज़ बैड कॉलेस्ट्रॉल लेवल को कम करके एचडीएल यानी गुड कॉलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में मदद करता है.
  11. एक्सरसाइज़ बल्ड प्रेशर को भी कंट्रोल करने में मदद करता है. ब्लड प्रेशर नियंत्रित करने में अन्य एक्सरसाइज़ की अपेक्षा एरोबिक ज़्यादा असरदार है.
  12. कई शोधों से ये बात साबित हुई है कि नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करने वालों को विभिन्न प्रकार के कैंसर, ख़ासतौर पर कोलोन और ब्लड कैंसर होने का ख़तरा कम हो जाता है.
  13. अमेरिकन एकेडमी ऑफ न्यूरोलॉजी में छपी रिपोर्ट के अनुसार, नियमित तौर पर एक्सरसाइज़ करने वालों को अन्य लोगों की तुलना में स्ट्रोक का ख़तरा 50 फीसदी कम होता है.
  14. नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करने से बोन मिनरल डेंसिटी बढ़ती है, जिससे ऑस्टियोपोरोसिस होने का ख़तरा कम हो जाता है.
  15. एक्सरसाइज़ करने से अच्छी नींद आती है और डिप्रेशन का ख़तरा भी कम हो जाता है. स्टैनफोर्ड स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं के अनुसार, नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करने वालों को जल्दी और अच्छी नींद आती है और वे सुबह ़ज़्यादा फ्रेश महसूस करते हैं.
  16. एक्सरसाइज़ शारीरिक बनावट ठीक करने के साथ ही आत्मविश्‍वास बढ़ाने में भी सहायक है. एक्सरसाइज़ और फिटनेस आपको अपनी क्षमता के अनुरूप प्रदर्शन करने में मदद करता है.
  17. नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करने से एज़िंग की प्रक्रिया धीमी हो जाती है और आप ज़्यादा दिनों तक स्वस्थ और जवां बने रहते हैं.
  18. नियमित तौर पर वेट ट्रेनिंग जैसे एक्सरसाइज़ से मांसपेशियों में टेस्टेस्टेरॉन का स्राव ज़्यादा होता है, जो एनर्जी और स्टेमिना बढ़ाकर शारीरिक क्षमता बढ़ाता है.
  19. नियमित रूप से एक्सरसाइज़ शरीर में रक्त के बहाव को ठीक करता है, जो इम्यून सिस्टम को ठीक करने के साथ ही डीजनरेटिव बीमारियों जैसे- टाइप 2 डायबिटीज़ से भी रक्षा करता हैं.
  20. नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करने वालों को लो बैक पेन से छुटकारा मिल जाता है.