रिश्ते संभालने हैं, तो इन 5...

रिश्ते संभालने हैं, तो इन 5 चीज़ों से संभलकर रहें! (5 Steps To Save Your Relationship)

ईगो: किसी भी रिश्ते के लिए ये सबसे बड़ा ज़हरीला तत्व है. ईगो आपको कुछ पलों के लिए तो एक जीत का एहसास ज़रूर दिला सकता है लेकिन इसके बदले आप क्या कुछ हार जाते हैं यह बाद में पता चलता है. ईगो आपके रिश्ते को खोखला कर सकता है क्योंकि धीरे धीरे आपके अपने भी आपसे दूर होने लगते हैं क्योंकि रिश्तों में हमेशा झुककर चलने की, एडजेस्ट करने की और एक-दूसरे को सपोर्ट करने की ज़रूरत होती है लेकिन आपका ईगो आपको यह सब करने से रोकता है. बेहतर होगा ईगो कम और प्यार ज़्यादा रखें.

कम्यूनिकेशन गैप: बातचीत ना करना किसी समस्या का हल नहीं बल्कि यह रिश्तों को और उलझा देता है. एक-दूसरे से शिकायत हो या विवाद हो गया हो तो मन शांत होते ही उस पर बात करें. बात करना ही समाधान है. बात ना करने की आदत धीरे धीरे दूरियाँ बढ़ने लगती हैं और रिश्ते कमज़ोर होने लगते हैं.

ईर्ष्या: आपस में प्रतियोगी ना बनें, आप साथी हैं और एक दूसरे का सहारा भी. एक दूसरे की कामयाबी का जश्न मनाएँ ना कि ईर्ष्या पालें. अक्सर ऐसा देखा गया है कि घर के सदस्य आपस में ही प्रतियोगिता करने लग जाते हैं यह जताने के लिए कि वो श्रेष्ठ हैं या उनकी सोच हमेशा सबसे सही होती है. ऐसे में दूसरे की ज़रा सी गलती पर भी वो उसे सुनाने aur नीचा दिखाने लगते हैं कि मैंने पहले ही कहा था या देखा तुम्हारी समझ aur अक्ल के भरोसे तो कुछ नहीं हो सकता. इस तरह की भावनाएँ नकारात्मकता फैलाती हैं, इनसे बचें.

धोखा: पार्टनर को चीट ना करें और यह धोखा कई तरह का हो सकता है, प्यार का, पैसों का या फिर ज़िम्मेदारी का. रिश्ते से बाहर लोगों को अपना समझना, अपनों के बीच पैसों को लेकर ज़्यादा चालाकी करना, ज़िम्मेदारी से बचने का बहाना खोजना- ये सब धोखा ही है. रिश्ते निभाने के लिए रिश्तों को जीना और ज़िम्मेदारी लेना सीखना पड़ता है. पैसों से ऊपर उठकर सोचना पड़ता है.

झूठ: यह किसी भी रिश्ते को कमज़ोर कर सकता है. झूठ चाहे कितना भी मीठा हो लेकिन वो सच की जगह कभी नहीं ले सकता. कोशिश करें कि रिश्तों में ईमानदार बने रहें और झूठ को पनपने ही ना दें. अपनी समस्यायएं शेयर करें, छिपाएँ नहीं, शेयर करने से उनका हल निकल सकता है aur छुपाने से वो बढ़ती चली जाती हैं और इसके लिए आपको झूठ पर झूठ भी बोलने पड़ते हैं, जिनका खुलासा होने पर आप पर से अपनों का ही भरोसा उठ जाता है. बेहतर होगा कि सच के साथ रहें और अपने रिश्तों को भी सच्चा बनाएँ.

यह भी पढ़ें: रिश्तों में ज़रूर बोलें ये प्यारे से झूठ! (Sweet Recommended Lies To Tell Your Partner In Relationships)