7 बैड मनी हैबिट्स (7 Bad Money Habits)

जिस तरह से आपका स्टाइल आपकी पर्सनेलिटी को दर्शाता है, उसी तरह से आपकी वित्त संबंधी मामलों से जुड़ी आदतें भी आपके स्ट्रॉन्ग फाइनेंशियल फिटनेस और पॉजिशन्स की ओर संकेत करती हैं. यही संकेत सुरक्षित भविष्य की नींव है, लेकिन सुरक्षित भविष्य के लिए ज़रूरी है कि आप अपनी बैड मनी हैबिट्स को छोड़ें. हम यहां पर ऐसी बैड मनी हैबिट्स के बारे में बता रहे हैं, जिनसे आप आसानी से छुटकारा पा सकते हैं.

workable_solutions_for_couples_when_fighting_about_money

बैड मनी हैबिट: आय कम और फ़िज़ूलख़र्ची ज़्यादा.

हेल्दी ट्रिक्स:

  • फ़िज़ूलख़र्च से बचने के लिए अपने मासिक खर्च की लिस्ट बनाएं.
    इस लिस्ट में ज़रूरी ख़र्च और ग़ैरज़रूरी ख़र्चों को लिखें.
  •  खर्चों की प्राथमिकताएं तय करें. ऐसा करने से आप बहुत से ग़ैरज़रूरी ख़र्चो से बचेगें.
  •  ग़ैरज़रूरी ख़र्चों को भविष्य के लिए टाल दें.
  • फ़िज़ूलख़र्ची की आदत को कंट्रोल करने की कोशिश करें.
  •  ऐसा करने से आपको सप्ताह और महीने में होनेवाले ख़र्च की सही जानकारी का अनुमान लगेगा.
  •  लिस्ट बनाना थोड़ा बोरिंग होता है, लेकिन इससे अपनी आदत में ज़रूर शामिल करें.
  •  अपना मंथली बजट इस तरह से बनाएं कि सीमित आय में ही सारे ख़र्च पूरे हों.
  • यदि आय कम है और ख़र्चे ज़्यादा हैं, तो ख़र्चों को पूरा करने के लिए आय बढ़ाने के उपाय करें.

बैड मनी हैबिट्स: वित्तीय निर्णयों को भविष्य के लिए टालना.

हेल्दी ट्रिक्स: 

  • ‘अभी पैसा नहीं है’ या ‘भविष्य में ऐसा करेंगे, वैसा करेंगे’ वाली नीति अपनाएंगे, तो कभी भी बचत नहीं कर पाएंगें.
  •  ग़ैरज़रूरी ख़र्च या फ़िज़ूलख़र्च के कारण वित्त ़फैसलों को आगे के लिए न टालें.
  • वित्तीय फैसलों को टालने से आपको वित्तीय नुक़सान भी उठाना पड़ सकता है. इसलिए अपनी इस आदत का छोड़ने की कोशिश करें.
  • अपनी इस आदत के कारण आप अनेक ऐसी अच्छी योजनाओं में निवेश करने से रह जाएंगे, जिनमें अधिक लाभ मिलेगा.
  • यदि किसी योजना में निवेश करना चाहते हैं, तो तुरंत करें, लापरवाही न बरतें.

बैड मनी हैबिट्: लोन ज़रूरत या बुरी आदत.

हेल्दी ट्रिक्स:

  • लोन ले रहे हैं, तो गंभीरता से इस विषय पर विचार करें कि लोन लेना ज़रूरी है कि नहीं? बिना लोन के भी काम चल सकता है या नहीं.
  • याद रखें, लोन आपकी बेसिक ज़रूरतों (घर ख़रीदना, बच्चों की पढ़ाई या शादी आदि जैसे ख़र्चों) को पूरा करने का एक विकल्प है. इसे बुरी आदत न बनाएं.
  •  लाइफस्टाइल संबंधी ज़रूरतों या अनावश्यक ख़र्चों को पूरा करने के लिए बार-बार लोन लेने से बचें.
  • बार-बार लोन न लेना पड़े, इसलिए समय-समय पर बचत करते रहें.
  • लगातार लोन लेने से भी मार्केट में आपकी छवि ख़राब होगी.

 

54ec031c1e041_-_piggy-bank-600 (1)

बैड मनी हैबिट: नियमित रूप से बचत न करना.

हेल्दी ट्रिक्स:

  • भविष्य में आर्थिक परेशानियों से निबटने के लिए नियमित रूप से बचत करना आवश्यक है.
  • बचत की शुरुआत करने से पहले यह देखें कि आप कहां पर छोटी-छोटी ग़लतियां करती हैं. अधिकतर लोग पूरे महीने ख़र्च करने के बाद बची हुई रकम को बचत मानते हैं, जो सही तरीक़ा नहीं है.
  •  बचत करने से पहले भविष्य के लक्ष्यों को तय करें और इसमें आनेवाले ख़र्चों की लिस्ट बनाएं.
  •  भले ही आय कम हो, लेकिन बचत करने की आदत डालें.
  • कम आय होने पर भी अपनी तनख्वाह का 10% ज़रूर बचाएं.
  • भविष्य में आर्थिक स्थिति मज़बूत बनी रहें, इसलिए भी नियमित रूप से बचत करते रहें.

अधिक जानकारी के लिए भी पढ़ें:  मनी सेविंग टिप्स

बैड मनी हैबिट्स: हानि होने पर भी निवेश करना. 

हेल्दी ट्रिक्स: 

  • स्टॉक मार्केट, म्यूचुअल फंड्स आदि में हानि होने की संभावना अधिक होती है. इसलिए अतिरिक्त लाभ कमाने के लालच में ऐसी योजनाओं में निवेश करने से पहले अच्छी तरह सोच-विचार करें.
  • आधी-अधूरी व लोगों की सुनी-सुनाई बातों पर यकीन करने की बजाय डायरेक्ट वित्तीय संस्थानों से सारी व सही जानकारियां प्राप्त करने के बाद ही निवेश करें.
  •  निवेश करने से पहले उस योजना, वित्तीय संस्थान या म्यूचुअल फंड्स के बारे में सही व पूरी जानकारी इकत्रित कर लें, ताकि बाद में पछताना न पड़ें.
  • म्यूचुअल फंड्स, चिट फंड और स्टॉक मार्केट आदि योजनाओं में निवेश करने से पहले मार्केट रिसर्च अच्छी तरह से करें.
  •  यदि इन्वेस्टमेंट संबंधी किसी योजना के बारे में कोई आशंका हो, तो उसके बारे में फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स से सलाह ज़रूर लें.
  • यह सही है कि अतिरिक्त लाभ कमाने के लिए जोख़िम उठाना ज़रूरी है, लेकिन इसे बैड हैबिट के तौर पर न अपनाएं.
  • अधिकतर फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स का भी यही मानना है कि ऐसी योजनाओं में निवेश करने से बचें, जिनमें हानि होने की संभावना अधिक हो.

बैड मनी हैबिट: तय तारीख़ के बाद भी भुगतान न करना.

हेल्दी ट्रिक्स: 

  • यदि ड्यू डेट के बाद क्रेडिट कार्ड या अन्य बिलों के भुगतान करने की आदत है, तो इस आदत को तुरंत छोड़ दीजिए.
  • क्योंकि इस आदत से आप पर अतिरिक्त वित्तीय बोझ बढ़ेगा और आपकी इमेज भी ख़राब होगी.
  • बिलों का भुगतान करते व़क्त समय-सीमा का ध्यान रखें.
  • समय-सीमा का ध्यान रखकर आप धीरे-धीरे ख़र्चों को मैनेज करना सीख जाएंगे.
  • समय पर भुगतान करने से लेट पेमेंट चार्ज़ेस, जैसे- ब्याज की और पेनॉल्टी देने से भी बचेगें.
  •  समय पर बिलों के भुगतान हों, इसके लिए अपने अकाउंट से डायरेक्ट ऑटो डेबिट भी करा सकते हैं.

बैड मनी हैबिट्स: सही जगह पर निवेश न करना.

हेल्दी ट्रिक्स:

  • बचत करना ही काफी नहींं है, बल्कि उसे सही जगह निवेश करना भी ज़रूरी है, इसलिए सोच-समझकर निवेश करें.
  • अधिकतर लोग ऐसी जगह (जैसे- स्टॉक मार्केट, म्यूचुअल फंड आदि) पर निवेश करते हैं, जहां पर तेज़ गति (सही रफ्तार) से आगे नहीं ब़ढ़ पाता.
  •  ऐसी योजना या प्लान में निवेश करें, जहां पर अधिक रिटर्न मिले.
  • अपने वित्तीय लक्ष्यों को ध्यान में रखकर योजनाओं में निवेश करें.
  •  दोस्तों या रिश्तेदारों की बातों में आकर ऐसी जगह पर निवेश न करें, जहां पर बाद में पछताना पड़े.
  •  सही जगह पर निवेश करने के लिए फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स की सलाह लें कि किन-किन योजनाओं में निवेश करना फ़ायदेमंद होगा.

   – पूनम नागेंद्र शर्मा

अधिक फाइनेंस आर्टिकल के लिए यहां क्लिक करें: FINANCE ARTICLES