क्या आप भी डेटिंग ऐप्स पर त...

क्या आप भी डेटिंग ऐप्स पर तलाशते हैं प्यार और कमिटमेंट? (Dating Apps: Can You Find True Love Online?)

अपने फोन के ज़रिए किसी से भी फ्लर्टिंग करना बहुत-से लोगों को आसान व मज़ेदार लग सकता है, क्योंकि यहां आप कभी भी किसी भी व़क्त किसी भी अंजाने शख़्स से कनेक्ट हो सकते हैं. चाहे वो शख़्स दूसरे शहर का हो या फिर दूसरे देश का… ‘हाय स्वीटहार्ट’ ‘गुडमॉर्निंग डियर’ या ‘सो ब्यूटीफुल’ जैसे सच्चे-झूठे कॉम्प्लीमेंट्स देकर आप बहुत जल्द किसी के क़रीब आ सकते हो, क्योंकि इंटरनेट, सोशल साइट्स व डेटिंग ऐप्स से इस तरह की चैटिंग व कनेक्शन को बेहद सुविधाजनक बना दिया है, लेकिन इस सुविधा की कीमत भी चुकानी पड़ रही है, क्योंकि ऑनलाइन लाइफ ने ऑफलाइन ज़िंदगी व रिश्ते बदलकर रख दिए हैं.

क्यों बढ़ रहा है डेटिंग ऐप्स का चलन?
रिसर्च बताते हैं कि डेटिंग ऐप्स यूज़ करने व उसकी तरफ़ लोगों का रुझान बढ़ने के कई कारण हैं, जिसमें सबसे प्रमुख है- फन. जी हां, 48% लोग मात्र मज़े के लिए इनका इस्तेमाल करते हैं. 13% स़िर्फ यहां सेक्स की तलाश में रहते हैं. जबकि अन्य कुछ हैं, जो वाकई गंभीरता से इनके ज़रिए प्यार व अर्थपूर्ण रिश्ते तलाशते हैं.

कितना सेफ है डेटिंग ऐप्स का इस्तेमाल?

  • अब यह सामान्य-सी बात हो गई है कि लोग प्यार व कमिटमेंट भी ऑनलाइन ही तलाशते हैं, यही वजह है कि बहुत-से डेटिंग ऐप्स पाप्युलर हो गए हैं. लेकिन इनसे जुड़े ख़तरे भी कम नहीं हैं, क्योंकि इनके इस्तेमाल से हमारी निजी ज़िंदगी, हमारी लोकेशन व हमारा डाटा भी लीक होने की पूरी आशंका रहती है.
  • ग्लोबल साइबर सिक्योरिटी कंपनी ने अपने सर्वे में पाया कि अधिकांश डेटिंग ऐप्स यूज़र्स का सेंसिटिव या संवेदनशील व पर्सनल डाटा सावधानीपूर्वक संभालते व नियंत्रित नहीं करते.
  • इन ऐप्स पर ऐसे कई लोग मिल जाएंगे, जो नकली आईडी बनाकर आपके साथ मस्ती-मज़ाक करने लगेंगे.
  • नाम, पता-ठिकाना, घर-परिवार, स्कूलिंग और यहां तक कि अपने काम व रिश्तों के लेकर भी लोग आपको गुमराह करते नज़र आएंगे.
  • कुछ लड़के तो यहां लड़कियों के नाम से आईडी बानकर लड़कियों से दोस्ती करते हैं, तो कुछ अपनी तस्वीर की जगह किसी मशहूर हस्ती की तस्वीर लगाकर अपनी असली पहचान छिपा लेते हैं.
  • बहुत-से ऐसे लोग भी आपको मिल जाएंगे, तो मात्र शारीरिक संबंध बनाने के इरादे से ही आपसे दोस्ती और प्यार का झूठा दिखावा करते हैं.
  • एक्सपर्ट्स का कहना है कि इस तरह की साइट्स पर लोग आसानी से अपनी पर्सनल बातें शेयर करने लगते हैं, जो उनके लिए आगे जाकर हानिकारक सिद्ध हो सकता है.
  • डेटिंग ऐप्स पर ज़्यादातर नॉन सीरियस किस्म के लोग ही होते हैं, जो मात्र मज़े के लिए यहां अपना प्रोफाइल बनाते हैं. ऐसे लोग आपकी पर्सनल इंफॉर्मेशन का फ़ायदा उठा सकते हैं. आपकी तस्वीरों का ग़लत इस्तेमाल कर आपसे पैसे एंठ सकते हैं. इसलिए सावधान रहें.
Dating Apps

क्यों तलाशते हैं ऑनलाइन प्यार?

  • विशेषज्ञों का कहना है कि लोग सोशल साइट्स पर अधिक समय बिताते हैं और ऑनलाइन रहकर नए-नए लोगों से मिलना उन्हें लुभाता है.
  • यहां पार्टनर ढूंढ़ने के ऑप्शन्स ज़्यादा हैं. अपने मोबाइल स्क्रीन पर आस-पास के इलाके से लेकर दूर-दराज़ तक के लोगों से आप संपर्क साध सकते हैं.
  • यहां आपको लोग इतनी आसानी से जज नहीं कर पाते, क्योंकि हर कोई अपने बारे में काफ़ी बढ़ा-चढ़ाकर बातें लिखता और बताता है. ख़ुद को आदर्श व बेहतरीन इंसान के रूप में पेश करता है.
  • अधिकतर लोग तस्वीरों को भी फिल्टर्स व एडिटिंग के ज़रिए बेहतरीन बनाकर अपलोड करते हैं, जिससे वो हर तरह से परफेक्ट लगते हैं.
  • लोगों को यह बहुत आकर्षक व एक्साइटिंग लगता है, क्योंकि शुरुआती दौर में किसी अजनबी से दोस्ती करना, उससे बातें करना, उसके बारे में रोज़ कुछ नया जानना अच्छी व पॉज़िटिव फीलिंग देता है.

अगर आप भी डेटिंग ऐप्स पर प्यार तलाश रहे हैं, तो इन बातों का रखें ख़्याल…

  • ऐसा नहीं है कि डेटिंग ऐप्स या फिर सोशल साइट्स पर सच्चा प्यार नहीं पनप सकता. बहुत-से ऐसे उदाहरण हैं जहां इन साइट्स व ऐप्स के ज़रिए ही लोगों को अपना हमसफ़र मिला और आज वो बहुत ख़ुश भी हैं, लेकिन यह भी सच है कि आंख बंद करके यहां मौजूद लोगों पर भरोसा करेंगे, तो धोखा खा सकते हैं. बेहतर होगा, सतर्क व सावधान रहें.
  • पहली ही बार में अपने बारे में सब कुछ न बताएं. पहले सामनेवाले को जांचें-परखें, फिर कुछ आगे बढ़ें.
  • बहुत ज़रूरी है कि अपनी कैज़ुअल व पर्सनल तस्वीरें शेयर न करें.
  • फैमिली व काम के बारे में संक्षिप्त में ही बताएं.
  • बहुत बढ़ा-चढ़ाकर ग़लत जानकारी भी न दें.
  • अगर आप किसी के क़रीब आ भी रहे हों, तो भी अपने पुराने अफेयर्स या दोस्तों के बारे में कुछ न बताएं.
  • संभव हो, तो स़िर्फ ऑनलाइन बातें करने की बजाय सामने से मीटिंग कर लें.
  • अकेले में न मिलें. पब्लिक प्लेस में मुलाक़ात करें.
  • सामनेवाले की बॉडी लैंग्वेज से आपको थोड़ा अंदाज़ा हो जाएगा कि वो किस तरह का है और कितना गंभीर है रिश्ते को लेकर.
  • उसकी फैमिली के बारे में जानें, दोस्तों के बारे में पूछें. क्या उसके फैमिली मेंबर्स को पता है कि वो किसी लड़की को डेट कर रहा है या शादी की प्लानिंग कर रहा है.
  • क्या काम करता है, कितना कमाता है यह सब भी जानने की कोशिश करें. उसके घर या ऑफिस का पता लेकर आसपास के लोगों से जानकारी हासिल करें. ख़ुद यह काम न करके आप किसी दोस्त की भी मदद ले सकते हैं, ताकि उसे शक न हो या यह न लगे कि आप उसकी जासूसी में लगे हैं.

रिंकू शर्मा

यह भी पढ़ें: पहला अफेयर… लव स्टोरी: हदें प्यार की… (Pahla Affair, Love Story: Hadein Pyar ki)