सोशल साइट्‌स पर क्या लिखें, क्या नहीं?

हर रोज़ सोशल नेटवर्किंग साइट्‌स पर हम कुछ-न-कुछ शेयर करते ही रहते हैं. पर किस हद तक, क्या-क्या शेयर कर सकते हैं, अपने बारे में, अपने परिवार के बारे में, अपने प्रोफेशन के बारे में, क्या करना चाहिए और क्या नहीं आदि के लिए हमें एक सीमा तय करनी चाहिए, क्योंकि कुछ बातें ऐसी भी होती हैं, जो कभी ऑनलाइन शेयर नहीं करनी चाहिए.

 

2

क्या लिखें?

-सोशल नेटवर्किंग साइट्‌स ऐसी जगह हैं, जहां आप अपनी जो भी छवि बनाना चाहते हैं, बना सकते हो. अपनी इमेज और रेप्युटेशन को ध्यान में रखकर ही कुछ लिखें.

-सोशल साइट्‌स पर अपनी ख़ूबियों, सफलताओं और कौशल का ज़िक्र ज़रूर करें, ताकि लोगों को आपकी ख़ूबियों के बारे में पता चले.

-एक बार जो आपने ऑनलाइन पोस्ट कर दिया, वो हमेशा ऑनलाइन रहता है, इस बात का ध्यान रखें. ऐसा कोई कमेंट या इमेज पोस्ट न करें, जो आप अपने पैरेंट्‌स या एम्प्लॉयर को नहीं दिखाना चाहते.

-आपके कमेंट्‌स, लाइक्स और शेयर आपके व्यक्तित्व को दर्शाते हैं, इसलिए जब भी किसी की पोस्ट पर कमेंट करें या किसी की पोस्ट शेयर करें, तो यह ध्यान में रखें कि इसे पढ़कर लोग आपके व्यक्तित्व का आकलन करेंगे.

-सोशल साइट्‌स पर व्यक्तिगत जानकारी देते समय सावधानी बरतें. कम से कम व्यक्तिगत जानकारी शेयर करें, क्योंकि आप जितनी ज़्यादा जानकारी देंगे, हैकर्स के लिए उस जानकारी का दुरुपयोग करना उतना ही आसान हो जाता है.

-आजकल ज़्यादातर रिक्रूटर्स किसी को काम पर रखने से पहले सोशल नेटवर्किंग साइट्‌स के ज़रिए उसके बारे में जानने की कोशिश करते हैं. इसलिए कुछ भी लिखने से पहले इन बातों पर भी ग़ौर करें.

-हाल ही में हुए एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि ७०% रिकू्रटर्स ने सोशल नेटवर्किंग साइट्‌स पर मिली जानकारी के बाद कई उम्मीदवारों को रिजेक्ट कर दिया.

– अपने जीवनसाथी की तलाश में जुटे कई लोग रिश्ता आने पर सबसे पहले उसका फेसबुक अकाउंट चेक करते हैं, ताकि उसके बारे में ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी हासिल कर सकें. अगर आप भी जीवनसाथी की तलाश में हैं, तो सोच-समझकर पोस्ट करें.

-अगर आपके दोस्त ने सोशल साइट पर कुछ पोस्ट किया है, जिससे आप असहज महसूस कर रहे हैं, तो तुरंत ऐसी पोस्ट डिलीट कर दें.

यह भी पढ़ें: मोबाइल डाटा बचाने के स्मार्ट टिप्स

क्या न लिखें?

-माना कि आपको जन्मदिन पर ढेरों बधाइयां पाने का शौक़ है, पर सोशल साइट्‌स पर सही जन्म तारीख़ शेयर न करें. आपकी दी गई जानकारी से हैकर्स फेक अकाउंट्‌स बनाकर उसका ग़लत इस्तेमाल कर सकते हैं.

-अगर आप कहीं टूर पर या घूमने जा रहे हैं, तो इसकी जानकारी सोशल साइट्‌स पर न दें. कुछ लोग यहां तक बता देते हैं कि घर पर कौन-कौन हैं और कौन-कौन बाहर जा रहा है. यह चोरों के लिए अच्छी जानकारी साबित होगी, इसलिए ऐसा न करें.

-अपनी व बच्चों की फोटोज़ भले ही पोस्ट करें, पर उनके नाम न लिखें. नाम की जानकारी से आपकी या आपके बच्चे की फोटो का ग़लत इस्तेमाल हो सकता है.

-अपने घर का एड्रेस और फोन नंबर कभी भी किसी भी हालत में सोशल साइट्‌स पर न दें. कभी-कभी चैट करते व़क्त भी लोग ऐसी जानकारी शेयर करते हैं. ऐसा करने से बचें.

-भले ही आपको अपनी कंपनी और बॉस पसंद न हों, पर कभी भी सोशल साइट्‌स पर उनके बारे में न लिखें, क्योंकि न तो उन्हें ही और न ही आपके फ्यूचर एंप्लॉयर को ऐसी बातें पसंद आएंगी.

-कभी भी ऑनलाइन किसी तरह की विवादास्पद चीज़ें पोस्ट न करें, न ही ऐसी पोस्ट्‌स पर कमेंट या शेयर करें.

-पासवर्ड भूलने की स्थिति में याद दिलाने के लिए बनाए गए सिक्योरिटी सवालों, जैसे- आपके पहले स्कूल का नाम क्या था आदि को सोशल साइट्‌स पर शेयर न करें, वरना हैकर्स के लिए आपके अकाउंट डीटेल्स पता लगाना मुश्किल नहीं होगा.

-कुछ लोग अपनी अहमियत दिखाने के लिए पर्सनल चैट या ग्रुप चैट को सोशल साइट्‌स पर शेयर करते हैं, पर आप ऐसा न करें, क्योंकि इसे केवल आपके दोस्त ही नहीं, कई और लोग भी पढ़ेंगे.

-फाइनेंशियल इंफॉर्मेशन मिले, ऐसे पोस्ट, कमेंट, इमेज या स्टेटस न डालें.

-अगर आप किसी तरह की क़ानूनी उलझनों में हैं, तो उसे साइट्‌स पर सबसे शेयर न करें.

-ऐसी फोटोज़ शेयर न करें, जिसे दूसरों को दिखाकर आपको शर्मिंदगी महसूस हो.

यह भी पढ़ें: पासवर्ड सिलेक्ट करते व़क्त न करें ये ग़लतियां

ऑनलाइन सेफ्टी टिप्स

-प्राइवेसी और सिक्योरिटी सेटिंग्स बहुत महत्वपूर्ण हैं. अपने सोशल नेटवर्किंग साइट पर इन सभी प्राइवेसी और सिक्योरिटी सेटिंग्स का इस्तेमाल करें. आपकी पोस्ट्‌स कौन देख सकता है, आपकी एक्टीविटीज़ कौन फॉलो कर सकता है आदि में ये आपकी मदद करते हैं.

-अगर आपको कोई ऑनलाइन परेशान कर रहा है, तो तुरंत उसे अपनी फ्रेंड लिस्ट से हटाकर ब्लॉक कर दें. साइट एडमिनिस्ट्रेटर को इस बारे में रिपोर्ट करें.

-अपने कंप्यूटर को लेटेस्ट सिक्योरिटी सिस्टम, एंटी वायरस और एंटी मालवेयर से अपडेटेड रखें, ताकि किसी तरह के वायरस या मालवेयर का ख़तरा न रहे.

-लंबा पासपर्ड रखें. नंबर्स, अल्फाबेट्‌स और सिंबल्स को जोड़कर एक सिक्योर्ड पासवर्ड बनाएं. ज़्यादातर लोग सभी सोशल नेटवर्किंग साइट्‌स पर एक ही लॉग इन आईडी और पासवर्ड रखते हैं, जिससे एक प्रोफाइल हैक होने पर सभी को हैक करना आसान हो जाता है, इसलिए सभी साइट्‌स के लिए अलग-अलग लॉग इन और पासवर्ड रखें.

-अगर किसी ईमेल, ट्‌वीट, पोस्ट के ज़रिए कोई लिंक आया हो, जो आपको संदेहास्पद लगे, तो उसे तुरंत डिलीट कर दें, क्योंकि वो वायरस भी हो सकता है.

– सुनीता सिंह

यह भी पढ़ें: महिलाओं के लिए ख़ास सेफ्टी ऐप्स