हैप्पी बर्थडे ज़ैक (Happy Birthday Zak)

11zaheer-khan (1)

गेंद को दोनों तरफ़ से स्विंग करनेवाले इंडियन पेसर ज़हीर ख़ान को उनके जन्मदिन के मौ़के पर मेरी सहेली की ओर से ढेरों बधाइयां और शुभकामनाएं. 38 के हुए ज़हीर भले ही अब सीधे तौर पर क्रिकेट से न जुड़े हों, लेकिन उनके फैन्स की कोई कमी नहीं है. ज़ैक के नाम से मशहूर ज़हीर को उनके फैन्स उन्हें किसी न किसी तरह से क्रिकेट से जुड़ा देखना चाहते हैं. हो भी सकता है कि आनेवाले समय में ज़ैक इंडियन टीम में किसी तरह की भूमिका निभाते नज़र आएं. अपने करियर में ज़ैक ने बहुत-सी उपलब्धियां हासिल कीं.  Zak

जवागल श्रीनाथ के जाने के बाद इंडियन टीम में बॉलिंग की कमान ज़हीर ख़ान ने ही संभाली. सौरव गांगुली की कप्तानी में ज़हीर के हुनर को एक नई पहचान मिली. अग्रेसिव दादा ने ज़हीर को विरोधी टीम के ख़िलाफ़ आक्रामक होकर खेलना सिखाया. ख़ुद ज़ैक बी कहते हैं कि सौरव गांगुली एक सफल कप्तान थे. 7 अक्टूबर 1978 को जन्में ज़हीर ने 2015 में क्रिकेट को अलविदा कह दिया. 2011 विश्व कप के 9 मैचों में 21 विकेट चटकाने वाले ज़हीर 2008 में विस्डन क्रिकेटर ऑफ द ईयर चुने गए थे. आइए, ज़ैक के जीवन से जुड़े कुछ इंटरेस्टिंग पलों पर डालते हैं एक नज़र.

ज़ैक की अधूरी ख़्वाहिश
क्या आप सोच सकते हैं कि ज़हीर ख़ान की कोई ऐसी ख़्वाहिश भी होगी, जो पूरी न हुई हो? नहीं न, लेकिन ये सच है. एक मीडिया इंटरव्यू में ज़हीर ने कहा था कि वो रिटायरमेंट से पहले रणजी खेलना चाहते थे. यक़ीन नहीं होता न कि ज़हीर ख़ान की भी कोई ख़्वाहिश अधूरी रह गई.

5 बेस्ट बॉलिंग स्पेल

– 2007 में श्रीलंका के साथ तीसरे वनडे मैच में ज़ैक ने 45 रन देकर 5 विकेट लिए थे.

– 2008 में फिर से श्रीलंकाई खिलाड़ियों के ही विरुद्ध चल रहे मैच में ज़हीर ने 21 रन देकर 4 विकट झटके थे.

– 2003 में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ 5/95.

– 2003 के वर्ल्ड कप में कीवियों के ख़िलाफ़ मैच में ज़ैक का बेस्ट था 4/42.

– 2010 में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ टेस्ट मैच में ज़ैक का बेस्ट स्पेल था 5/94.

जब शरमा गए थे ज़ैक
मैदान पर जब भारत-पाकिस्तान का मैच चल रहा हो और मैदान पर मिस्टर वॉल द्रविड़ और हरफनमौला विरेंद्र सहवाग 82 नॉट आउट पर बैटिंग कर रहे हों, तो क्या आप सोच सकते हैं कि कैमरा या पब्लिक का मोमेंट कुछ और हो सकता है, क्या आप सोच सकते हैं कि उस पल का माहौल ख़ुशनुमा हो सकता है? नहीं न, लेकिन ये सच है. बैंगलोर में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ टेस्ट मैच चल रहा था और टीवी स्क्रीन पर ज़ैक ब्लश करते हुए दिख रहे थे. ज़हीर की एक फैन ‘आई लव यू ज़हीर’ लिखकर एक पेपर को पकड़े हुए स्टेडियम में बैठी थी और ज़ैक पवेलियन में साथी खिलाड़ियों के साथ बैठकर आनंद उठा रहे थे. तभी कैमरा उस फैन पर जाता है और फिर ज़ैक पर. ज़ैक के बगल में बैठे युवराज सिंह उनका ख़ूब मज़ा लेते हुए दिखते हैं और लड़की के रिसपॉन्स में वो ज़ैक का हाथ पकड़कर हाय भेजते हैं. ज़ैक इससे पूरी तरह शरमा जाते हैं और हंसने लगते हैं, लेकिन कैमरामैन ज़ैक की इस मुस्कुराहट को कुछ देर और टीवी स्क्रीन पर दिखाते रहे. तभी ज़ैक की फैन उन्हें फ्लाइंग किस देती है. मैदान पर बैटिंग कर रहे सहवाग भी रुक जाते हैं और हंसने लगते हैं. ज़हीर से सभी इसका उत्तर देने को कहते हैं. अब तक शरमा रहे ज़ैक ने फ्लाइंग किस के बदले में फ्लाइंग किस देकर सबको हौरान कर दिया था. उस समय सभी उस पल का आनंद उठा रहे थे.

सबसे ज़्यादा इन बल्लेबाज़ों को परेशान किया
कपिल देव के बाद ज़ैक सबसे सफल भारतीय पेसर रहे. बाएं हाथ से गेंदबाज़ी करनेवाले ज़हीर ने दुनिया के सबसे धाकड़ बल्लेबाज़ों को किया परेशान:

– इंग्लैंड के बल्लेबाज़ एंड्रयू स्ट्रॉस को ज़हीर ने 7 बार अपना शिकार बनाया. हालांकि दोनों ने बहुत ज़्यादा मैच एकसाथ नहीं खेले थे.

– श्रीलंका की दीवार और टेक्निकल बल्लेबाज़ महेला जयवर्धने भी 9 बार ज़हीर की बॉल पर पवेलियन लौटे.

– ऑस्ट्रेलिया के ओपनर मैथ्यू हेडन को 10 बार ज़ैक ने आउट किया.

– श्रीलंका के सनथ जयसूर्या भी 10 बार ज़हीर की गेंद पर आउट हुए.

– दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ को 13 बार आउट किया.

चोट ने कहलवाया क्रिकेट को अलविदा
क्रिकेट एक्सपर्ट की मानें, तो फास्ट बॉलर की उम्र बहुत कम होती है. इसका एक कारण है उनका बार-बरा चोटिल होना. रफ़्तार के साथ बॉलिंग करते-करते ज़हीर का शरीर कई बार घायल हुआ. ये सिलसिला बाद में कुछ ज़्यादा ही हो गया. ख़ुद ज़हीर कई मैच से बाहर रहने लगे थे. अपनी चोट के कारण वो कई महत्वपूर्ण मैच मिस करने लगे थे. बार-बार चोट लगना और अपने देश के लिए नहीं खेल पाना, ज़ैक को रास नहीं आया. ख़ुद ज़ैक ने ये कह दिया कि अब उनका शरीर साथ नहीं दे रहा. ऐसे में टीम में नए खिलाड़ी को मौक़ा देना चाहिए. अपने इसी चोट के कारण ज़ैक ने क्रिकेट से संन्यास ले लिया.

– श्वेता सिंह