हेडफोन और ईयरफोन का अधिक इस्तेमा...

हेडफोन और ईयरफोन का अधिक इस्तेमाल पहुंचा रहा है कानों को नुक़सान (Harmful Effects Of Earphone And Headphone)

एक वक्त था जब हेडफोन और इयरफोन लोगों के लिए फैशन और स्टाइल स्टेटमेंट हुआ करता था, लेकिन आज समय की मांग बदल गई है. वर्क फ्रॉम होम या फिर ऑनलाइन क्लासेस, वर्चुअल मीटिंग हो या म्यूजिक सुनना- आज हम सभी हेडफोन और ईयरफोन का जरुरत से ज़्यादा इस्तेमाल करते हैं. लेकिन यह भूल जाते हैं कि रोज़ाना ईयरफोन और हेडफोन का अधिक उपयोग करने पर ये दोनों ही कान के साथ-साथ शरीर को भी नुक़सान पहुंचा रहे हैं.

ईयरफोन और हेडफोन के दुष्प्रभाव

Harmful Effects Of Earphone And Headphone
Photo Credit: Unsplash.com
  1. कान का सुन्न होना

कान, नाक और गला विशेषज्ञों के अनुसार, बेशक ईयरफोन और हेडफोन के इस्तेमाल से अनचाही आवाज़ें सुनाई नहीं देती, लेकिन रोज़ाना कई-कई घंटों तक ईयरफोन और हेडफोन का बहुत अधिक इस्तेमाल करने पर कान सुन्न होने की संभावना बढ़ जाती है इसके अलावा कानों में आवाज़ें आना, चक्कर आना, सिर व कान में दर्द होना और नींद न आने की समस्या सकती है.

2  तेज़ आवाज़ों से सुनने की क्षमता कम होना 

आजकल मार्केट में हाई और एडवांस टेक्नोलॉजी वाले ईयरफोन और हेडफोन मिलते हैं. इनमें ऐसे फीचर्स होते हैं, जिनमें हाई वॉल्यूम पर म्यूजिक सुनना अच्छा लगता है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इन ईयरफोन और हेडफोन से निकलनेवाला हाई वॉल्यूम शरीर को हानि पहुंचता है. कई बार तो आपने भी यह महसूस किया होगा कि हेडफोन या ईयरफोन में वॉल्यूम को बढ़ाने पर एक सीमा के बाद उसमें एक वार्निंग दी जाती है कि इससे ज्यादा वॉल्यूम नहीं बढ़ाया जा सकता है. ईयरफोन और हेडफोन द्वारा ऊंची आवाज़ में म्यूजिक सुनने से कान की सुनने की असल क्षमता धीरे-धीरे कम हो जाती है.

3. कान में इंफेक्शन का खतरा बढ़ना

कान में इंफेक्शन होने का एक प्रमुख कारण ईयरफोन और हेडफोन भी हो सकता है.
ऑफिस और घर में जब हम दूसरों का ईयरफोन और हेडफोन यूज़ करते हैं, तो दूसरों के ईयरफोन या हेडफोन इस्तेमाल करने से कान में इंफेक्शन हो सकता है, जो भविष्य में कान की किसी बीमारी कारण बन सकता है.

4. कान का परदा फटना

हेडफोन और ईयरफोन के ज्यादा, लगातार और ऊंची आवाज़ में उपयोग करने पर कान के पर परदों को बुरा प्रभाव पड़ता है. क्योंकि तेज़ और ऊंची आवाज़ से कान के परदे लगातार वाइब्रेट होते रहते हैं, जिसकी वजह से कान के परदे फटने का खतरा बढ़ जाता है.

5. अधिक दूरीवाली आवाजें सुनने में दिक्कत

यदि आप लगातार ईयरफोन और हेडफोन का उपयोग करते हैं, तो ऐसा करने से आपका कान कम दूरी की आवाज़ सुनने का आदी हो जाएगा और आपको अधिक दूरीवाली आवाज़ों को बिना ईयरफोन या हेडफोन के सुनने में परेशानी होगी.

6. कान की कोशिकाएं नष्ट हो सकती है

अगर आप ज्यादातर समय वर्चुअल मीटिंग्स में व्यस्त रहते हैं, तो ईयरफोन के बजाय हेडफोन इस्तेमाल करें. दरअसल कान के अंदर मौजूद नाजुक कोशिकाएं दिमाग तक ध्वनि पहुंचाने का काम करती हैं. जब ईयरफोन त्वचा के माध्यम से इन कोशिकाओं को छूता है, तो इनके क्षतिग्रस्त होने की आशंका बढ़ जाती है.

7. एकाग्रता में कमी

Harmful Effects Of Earphone And Headphone
Photo Credit: Unsplash.com

शोधकर्ताओं के अनुसार, हेडफोन और ईयरफोन पर तेज़ आवाज में संगीत सुनने के साथ-साथ पढाई करने से एकाग्रता में कमी आती है. क्योंकि तेज़ आवाज़ों की वाइब्रेशन सुनने में अच्छी लगती हैं, लेकिन इन तेज़ वाइब्रेशन से धीरे-धीरे एकाग्रता में कमी आने लगती है. जरुरी नहीं कि हमेशा दिमाग़ दो चीज़ों पर एक साथ फोकस करे. धीरे-धीरे तेज़ आवाज़ों के कारण लोगों की एकाग्रता में कमी आने आती है. अध्ययन से यह बात भी साबित हुई है कि शोर-शराबे वातावरण में पढाई करने पर बच्चों की एकाग्रता में कमी आती है.

8. दिमाग़ पर बुरा असर

हेडफोन और ईयरफोन से सिर्फ़ कानों पर बुरा असर नहीं पड़ता, बल्कि दिमाग़ पर भी बुरा असर पड़ता है. इनके इस्तेमाल से उत्पन्न विद्युत चुम्बकीय तरंगों दिमाग़ के लिए हानिकारक होती हैं. इसके अलावा मस्तिष्क और कान की अंदरूनी संरचना आपस में जुडी होती हैं, इसलिए अगर कान में किसी तरह का गंभीर संक्रमण या क्षति होती है, तो दिमाग़ इसका बुरा असर पड़ता है

9. चक्कर आना

हेडफोन और ईयरफोन के अधिक इस्तेमाल से कब चक्कर आने शुरू हो जाते हैं, लोगों को इस बात का अहसास तक नहीं होता. इनकी तेज़ आवाज़ों के कारण ईयर कैनाल में दबाव बढ़ता है जिसके कारण चक्कर भी आ सकते हैं.

10. कान में दर्द होना

कान में दर्द होने की वजह संक्रमण के अलावा  ईयरफोन और हेडसेट की खराब फिटिंग ही हो सकती है. इनकी फिटिंग सही न होने के कारण कान के आसपास के जबड़े से लेकर सिर के ऊपर तक दर्द होता है और कभी-कभी तो यह दर्द कान के अंदरूनी हिस्से तक पहुंच जाता है.

– देवांश शर्मा

और भी पढ़ें: बिना तकिए के सोने से होते हैं ये 10 फ़ायदे (10 Benefits Of Sleeping Without Pillow)

×