जानें कैसे मिल सकता है एजुकेशन लोन? (How To Get An Education Loan?)

Education Loan

सभी पैरेंट्स चाहते हैं कि उनके बच्चे पढ़-लिखकर जीवन में एक अच्छा मुक़ाम हासिल करें, पर अक्सर पैसों की कमी के कारण प्रतिभावान छात्रों को वह नहीं मिल पाता, जिसके वे हक़दार हैं. ऐसे में एजुकेशन लोन आपके सपनों को साकार करने में आपकी मदद करता है. अगर आपका बच्चा भी आगे पढ़ना चाहता है, तो
एजुकेशन लोन (Education Loan) की मदद से उसके सपने सजाएं. तो आइए हम आपको बताते हैं क्या एजुकेशन लोन लेने की सही प्रक्रिया?

किसे मिल सकता है एजुकेशन लोन?
– भारत या विदेश में हायर एजुकेशन के लिए जानेवाले विद्यार्थी को एजुकेशन लोन आराम से मिल सकता है.

एजुकेशन लोन के लिए योग्यता 
– किसी भी भारतीय बैंक से एजुकेशन लोन लेने के लिए सर्वप्रथम आपका भारतीय नागरिक होना ज़रूरी है.

– आपकी उम्र 16 से 35 वर्ष के बीच होनी चाहिए.

– किसी भी प्रोफेशनल, वोकेशनल या एकैडमिक कोर्स में मेरिट या एंट्रेंस टेस्ट पासकर दाख़िला मिला हो.

लोन अमाउंट

Education Loan

– भारत में हाइयर एजुकेशन के लिए ञ्च् 10 से 15 लाख तक का लोन मिलता है, जबकि विदेश में पढ़ाई के लिए अधिकतम लोन अमाउंट ञ्च् 20 लाख है.

– अगर आपके लोन की रक़म ञ्च् 4 लाख से ज़्यादा है, तो लोन की रक़म वापस लौटाने के लिए आपको इन्कम प्रूफ जमा करना होगा.

– अगर लोन अमाउंट ञ्च् 7.5 लाख से ज़्यादा है, तो इन्कम प्रूफ के साथ-साथ कोलैटरल सिक्योरिटी की भी ज़रूरत पड़ती है.

और भी पढ़ें: एजुकेशन लोन की एबीसी ( ABC Of Education Loan)

किन कोर्सेस के लिए एजुकेशन लोन मिलता है?

Education Loan
कोई भी बैंक एजुकेशन लोन देने से पहले ये देखता है कि लोन किस कोर्स के लिए मांगा जा रहा है, क्योंकि भारत में सभी कोर्सेस के लिए एजुकेशन लोन नहीं मिलता है. आइए जानें, कौन-से कोर्सेस हैं?

– कॉमर्स के क्षेत्र से जुड़े चार्टेड अकाउंटेंट (सीए), कंपनी सेक्रेटरी (सीएस), कॉस्ट एंड वर्क्स अकाउंटेंसी (सीडब्ल्यूए), चार्टेड फाइनेंशियल एनालिस्ट (सीएफए), मेडिसीन, इंजीनियरिंग आदि प्रोफेशनल और वोकेशनल कोर्सेस.

– सरकार व यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) द्वारा मान्यता प्राप्त गैजुएशन व पोस्ट ग्रैजुएशन कोर्सेस.

– मान्यता प्राप्त फॉरेन यूनिवर्सिटी द्वारा भारत में होनेवाले कोर्सेस के लिए.

– आईआईटी व आईआईएम द्वारा चलाए जानेवाले कोर्सेस के लिए.

– किसी मान्यता प्राप्त फॉरेन यूनिवर्सिटी में एमबीए, एफसीए या मेडिसीन का कोर्स करने के लिए.

क्या हैं ज़रूरी डॉक्यूमेंट्स?
लोन एप्लीकेशन के साथ इन डॉक्यूमेंट्स को जमा करना ज़रूरी है.

– जिस कोर्स व कॉलेज में एडमिशन लेने जा रहे है, उस कोर्स का एडमिशन लेटर व कॉलेज की पूरी जानकारी.

– कोर्स के फीस की विस्तृत जानकारी.

– मार्कशीट की एक कॉपी और उसी से जुड़े कुछ ज़रूरी काग़ज़ात.

– उम्र व पहचान पत्र. अगर आपका उस बैंक में अकाउंट नहीं है, तो आपको इसके साथ-साथ रेसिडेंस प्रूफ भी देना होना.

– गार्जियन या पैरेंट्स की इन्कम का प्रूफ. (अगर एप्लीकेंट ख़ुद कमा रहा है, तो पिछले दो महीने के सैलरी स्लिप, अगर एप्लीकेंट सेल्फ एम्प्लॉइड है, तो पिछले छह महीने के बैंक स्टेटमेंट और अगर एप्लीकेंट प्रोफेशनल और सेल्फ एम्प्लॉइड है, जैसे- सीए या सीएस तो इन का़ग़ज़ात के साथ-साथ आपको पिछले दो साल का इन्कम टैक्स रिटर्न भी दिखाना होगा).

– दो लेटेस्ट पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ्स.

– अगर एप्लीकेंट को साथ में ही कोई स्कॉलरशिप मिली है, तो स्कॉलरशिप के लेटर की एक कॉपी.
– अगर विदेश में पढ़ाई के लिए जा रहे हैं, तो पासपोर्ट व वीज़ा की 1-1 कॉपी.

लोन लेते समय ध्यान रखें

Student Loan
– विद्यार्थी के आवेदन फार्म में किसी भी तरह की ग़लती होने पर उसे लोन नहीं मिल सकता है.
– विद्यार्थी या उसके पैरेंट्स ने अगर पुराना लोन अदा नहीं किया है, तो उसे भी एजुकेशन लोन नहीं मिल सकता है.
– आजकल बैंक 1% कोलैट्रल गारंटी लेकर उन्हें लोन दे रहे हैं. यानी अगर कोई 25 लाख रुपए का एजुकेशन लोन लेना चाहता है, तो बैंक उसे इतनी ही कीमत की प्रॉपर्टी या एफडी सिक्योरिटी के तौर पर रखकर उसे लोन दे देता है.

और भी पढ़ें: कैसे बचें फर्ज़ी डिग्रियों के मायाजाल से? (How To Avoid Fake Colleges And Degree Scams?)

 

– अनीता सिंह