पत्थरों की आड़ में ड्रेस चेंज करती थीं कंगना… (Kangana changed behind stones at Rangoon shoot)

2

‘रंगून’ फिल्म की शूटिंग का अनुभव कंगना रनौट का कुछ कम दिलचस्प नहीं है. इस फिल्म की अधिकतर शूटिंग अरुणाचल प्रदेश के दूर-दराज इलाके में हुई थी, जहां पर न ही कोई गांव था और न ही कोई आबादी. शूटिंग के दौरान कॉस्ट्यूम चेंज करने से लेकर टॉयलेट जाने तक के लिए कंगना को पत्थर यानी बड़े-बड़े चट्टानों की आड़ का सहारा लेना पड़ता था. कुछ इसी तरह की मिलती-जुलती स्थिति ‘क्वीन’ फिल्म के समय भी हुई थी, जब उन्हें शूटिंग के समय कैफे में जाकर ड्रेस चेंज करने पड़ते थे.
विशाल भारद्वाज निर्देशित रंगून साल 1940 के दूसरे विश्‍व युद्ध की कहानी पर आधारित है. इसमें आज़ादी के पहले की घटनाओं को दिखाया गया, जिसमें त्रिकोण प्रेम कहानी है. कंगना के साथ शाहिद कपूर व सैफ अली ख़ान है. शाहिद सोल्जर की भूमिका में है.