राशि के अनुसार जानें अपने बच्चे ...

राशि के अनुसार जानें अपने बच्चे का स्वभाव (Know The Nature Of Your Child According To His Zodiac Signs)

बच्चे की अच्छी परवरिश के साथ-साथ उसके स्वभाव पर उसकी राशि का भी गहरा असर पड़ता है. राशि के अनुसार ग्रहों की चाल बदलती रहती है, जिसका असर बच्चे के स्वभाव पर भी पड़ता है. अपने इस लेख में आज हम आपको बता रहे हैं कि किस राशिवाले बच्चे का स्वभाव कैसा होता है?

बच्चे के जन्म लेते ही हर पैरेंट्स यह जानना चाहते हैं कि उनका बेटा या बेटी कैसी होगी? उसका स्वभाव कैसा होगा? उसके व्यवहार में क्या ख़ूबियां होंगी, क्या ख़ामियां होंगी? बड़ा होकर उनका बच्चा कैसा बनेगा. इसके लिए वो बच्चे की कुंडली बनवाते हैं, ज्योतिषि को दिखाते हैं. बच्चे की राशि के अनुसार आप भी जान सकते हैं कि आपका बच्चा कैसा होगा?

मेष राशि के बच्चे

इस राशि वाले बच्चे शारीरिक तौर पर काफी एक्टिव होते हैं. शांत और चुपचाप बैठना इन्हें बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता है. मेष राशि में जन्मे बच्चे इंडिपेंडेंट और साहसी होते हैं. इनको खेलना बहुत पहुत पसंद होता है. ये स्पोर्टी हैं. शारीरिक तौर पर ऐसे बच्चों को विशेष पालन-पोषण की ज़रूरत होती है. इन बच्चों को उसी फील्ड में आगे बढ़ने देना चाहिए, जिसमें उनकी रुचि हो. अगर पैरेंट्स इन बच्चों को अपनी पसंद के फील्ड में आगे बढ़ने का मौका देंगे, तो ये उसमें काफ़ी अच्छा परफॉर्म कर सकते हैं.

वृषभ राशि के बच्चे

इस राशि में जन्मे बच्चों की परवरिश करना काफी कठिन होता है. बचपन से ही इन्हें उचित मार्गदर्शन की ज़रूरत होती है. ये बच्चे स्वभाव से बहुत शांत होते हैं. इनकी काम करने की क्षमता धीमी होती है. लेकिन ये बहुत मेहनती होते हैं और भविष्य में सफल भी होते हैं. कभी-कभी प्रतिस्पर्धा की दौड़ में ये बच्चे घबरा जाते हैं, तो ऐसे में इन्हें सपोर्ट की ज़रूरत पड़ती है. परवरिश के दौरान इनको काफी लाड-प्यार की आवश्यकता होती है. इनको अपने पैरेंट्स के साथ रहना अच्छा लगता है. इन्हें पैसों से बहुत प्यार होता है.

मिथुन राशि के बच्चे

इस राशि में जन्मे बच्चे बहुत बद्धिमान और होशियार होते हैं. बुद्धिमानी इनके चेहरे से साफ़ झलकती है. ये बच्चे अपनी क्रिएटिविटी से अपने जीवन को सही दिशा देते हैं. बुद्धिमान होने के कारण हर फील्ड में अपनी पहचान आसानी से बना लेते हैं. ये जिज्ञासु प्रवृति के होते हैं. बात-बात पर सवाल करते हैं और इतने अधिक सवाल करते हैं कि सामनेवाला भी परेशान हो जाता है. इन बच्चों की लेखन शैली अच्छी होती है.

कर्क राशि के बच्चे

कर्क राशि वाले बच्चे बहुत क्यूट और गुडलुकिंग होते हैं. इनको अपने पैरेंट्स, फैमिली और घर से बहुत ज़्यादा लगाव होता है. स्वभाव से ये बच्चे केयरिंग, व्यवहारकुशल, इमोशनल, बुद्धिमान और बहुत ज़्यादा शर्मीले होते हैं. अकेले रहना इनको अच्छा लगता है. इन बच्चों को अपने खिलौनों और पेट्स से बहुत प्यार होता है. कर्क राशि वाले बच्चे थोड़े स्वार्थी भी होते हैं. जब कभी-कभी इनके मन-मुताबिक़ काम नहीं होता, तो ये बहुत ग़ुस्सा जाते हैं.

सिंह राशि के बच्चे

अपनी राशि के अनुरूप ये बच्चे स्वभाव से बोल्ड होते हैं. थोड़े शरारती होने के साथ-साथ बहुत मेहनती भी होते हैं. हर काम को नियत समय पर पूरा करना इनकी खासियत है. ये बच्चे बुक लवर होते हैं. खाली समय में खेलने या दूसरा काम करने की बजाय ये किताबें पढ़ना पसंद करते हैं. सिंह राशि वाले बच्चे बहुत महत्वाकांक्षी होते हैं. हर छोटे-से-छोटे कॉम्पटीशन को जीतने के लिए जान लगा देते हैं. स्वभाव से थोड़े अभिमानी होते हैं. मौका पड़ने पर हाथापाई पर भी उतर आते हैं. ये बच्चे अपनी बातें किसी के साथ शेयर नहीं करते हैं.

कन्या राशि के बच्चे

इस राशि में जन्मे बच्चे स्वभाव से शांत, बहुत समझदार और परफेक्शनिस्ट होते हैं. उनको दूसरों की मदद और देखभाल करना अच्छा लगता है. यदि वे किसी बात को लेकर ग़ुस्सा होते हैं, तो बहुत जल्दी उनका ग़ुस्सा ठंडा भी हो जाता है. ये शर्मीले स्वभाव के होते हैं. दूसरों के साथ जल्दी से दोस्ती नहीं कर पाते. इनकी आलोचना करने पर ये नाराज़ हो जाते हैं या रोने लगते हैं. इन्हें हर चीज़ के बारे में जानने की उत्सुकता रहती है. इसलिए बात-बात पर कोई-न-कोई प्रश्न पूछते रहते हैं. इस राशि वाले बच्चों में सीखने की ललक होती है और क़िताबें पढ़ने का शौक होता है.

तुला राशि के बच्चे

ये बच्चे बहुत समझदार होने के साथ-साथ दूसरों बच्चों के साथ जल्दी दोस्ती कर लेते हैं. इनको ऐसी जगह जाना बिलकुल भी पसंद नहीं होता, जहां पर इनको अटेंशन नहीं मिलता. अपने लुक्स के प्रति ये बच्चे बहुत ज़्यादा कॉन्शियस रहते हैं. इस राशि के बच्चों का मन खेल, डांस, ड्रामा और अन्य क्रिएटिव चीज़ों में बहुत अधिक लगता है. इस राशि वाले बच्चों की पर्सनालिटी बहुत अट्रैक्टिव होती है. हर कोई इनसे आसानी से प्रभावित हो जाता है.

वृश्चिक राशि के बच्चे

इस राशि वाले बच्चे दूसरे बच्चों से बहुत अलग होते हैं. वृश्चिक राशि वाले बच्चे स्ट्रॉन्ग, इंटेलीजेंट, वर्सेटाइल और शार्प माइंडेड होते हैं और अपने प्रतिद्वंद्वी को हराकर हमेशा आगे बढ़ने की सोचते हैं. बुद्धिमान होने के वजह से ये बच्चे बेस्ट स्टूडेंट की श्रेणी में आते हैं. ये पज़ल खेलने के शौकीन होते हैं. हर चीज़ को बहुत जल्दी सीख जाते हैं. स्वभाव से इस राशि के बच्चे बहुत महत्वाकांक्षी होते हैं और अपने लक्ष्य को पूरा करके ही दम लेते हैं. इनमें अपना निर्णय ख़ुद लेने की क़ाबिलियत होती है. अपनी समस्याओं का हल स्वयं ही निकाल लेने का टैलेंट भी इनमें होता है.

धनु राशि के बच्चे

धनु राशि वाले बच्चों को आज़ादी पसंद होती है. ये हमेशा आज़ाद, मजाकिया और हमेशा ख़ुशर हना पसंद करते हैं. पैरेंट्स को ज़्यादा परेशान नहीं करते. यदि इनको लगता है कि कुछ गड़बड़ है, तो बहुत जल्दी डर जाते हैं. ये बहुत दयालु, बुद्धिमान, एनर्जेटिक और जीवंत स्वभाव के होते हैं. ट्रैवेल के शौकीन इन बच्चों को नई-नई जगहों पर घूमना बहुत अच्छा लगता है.

मकर राशि के बच्चे

मकर राशि वाले बच्चे स्वभाव से बहुत गंभीर और मेच्योर होते हैं. इसलिए अपनी उम्र से बड़ी-बड़ी बातें करते हैं. हर काम को परफेक्शन के साथ करना इनको अच्छा लगता है. ये बच्चे महत्वाकांक्षी और बहुत परिश्रमी होते हैं, लेकिन इनको समय-समय का सही मार्गदर्शन की ज़रूरत होती है.

कुंभ राशि के बच्चे

कुंभ राशि में जन्मे बच्चे बहुत समझदार, होशियार और चतुर होते हैं. उनके मन में सब कुछ जानने की जिज्ञासा होती हैं. ये हर सही और ग़लत काम करने को लालायित रहते हैं. इसलिए इस राशि के बच्चों को बुरी आदत जल्दी लग जाती है. बुरी आदतों से बचाने के लिए पैरेंट्स को अपने बच्चों को क्रिएटिव कामों में व्यस्त रखना चाहिए. उन्हें क़िताबें पढ़ने, खेल, कला, म्यूजिक, डांस और ड्रामा आदि में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए.

मीन राशि के बच्चे

इस राशि में जन्मे बच्चे स्वभाव से उदार और दयालु होते हैं. अपनी फैमिली और फ्रेंड्स के प्रति बहुत इमोशनल होते हैं और उनसे बहुत प्यार करते हैं. नरम दिल होने की वजह से इन्हें अच्छे-बुरे की समझ नहीं होती है. यहां पर पैरेंट्स की ज़िम्मेदारी बनती है कि बच्चे को सही और ग़लत के बारे में बताएं. मीन राशि वाले बच्चे बहुत बुद्धिमान होते हैं और हर बात को आसानी से समझ लेते हैं. स्वभाव से सेंसिटिव होने के साथ-साथ इनमें क्रिएटिविटी का हुनर भी होता है.

– पूनम  शर्मा

 और भी पढें: ऑनलाइन पढ़ाई के दौर में कितनी फायदेमंद है ई-बुक्स (Advantages of E-Books)

×