छोटी-छोटी बातें, जो रिश्ते को कमज़ोर बनाती हैं (Little things that make relationship weak)

ऑफिस में काम का बढ़ता बोझ, टेक्नोलॉजी के प्रति बढ़ता लगाव, हार्मोंस में असंतुलन, समय का अभाव और धैर्य की कमी आदि अनेक ऐसे कारण हैं, जिनकी वजह से वैवाहिक रिश्ते की नींव कमज़ोर पड़ती जा रही है. रिलेशनशिप एक्सपर्ट्स का मानना है कि वैवाहिक रिश्ता समर्पण, प्यार और विश्‍वास पर निर्भर करता है. यदि पार्टनर्स के बीच इन तीनों चीज़ों का अभाव होगा, तो वैवाहिक रिश्ते की जड़ें समय के साथ-साथ कमज़ोर पड़ने लगेंगी.

कुछ बातें, जो वैवाहिक रिश्ते को कमज़ोर बनाती हैं

– एक-दूसरे को बदलने की कोशिश करना.

– पार्टनर्स का एक-दूसरे को ताना मारना.

– आपस में मीनमेख निकालना.

– ज़रूरत से ज़्यादा अपेक्षाएं रखना.

– पार्टनर की पसंद को बार-बार नकारना.

– छोटी-छोटी बातों पर झगड़ा करना या पार्टनर की बेइज़्ज़ती करना.

समय के साथ यही छोटी-छोटी बातें वैवाहिक जीवन में दरार पैदा करती हैं, जिसके कारण दिनोंदिन तलाक़ लेनेवाले दंपतियों की संख्या तेज़ी से बढ़ती जा रही है.

किन बातों पर निर्भर करती है वैवाहिक रिश्ते की नींव?
वैवाहिक रिश्ते की डोर बहुत नाज़ुक धागे से बंधी होती है, जिसे टूटने में देर नहीं लगती. यदि दंपति थोड़ी-सी समझदारी से काम लें, तो अपने रिश्ते को टूटने से बचा सकते हैं.

दांपत्य जीवन में भरें तारीफ़ की मिठास
रिलेशनशिप एक्सपर्ट का मानना है कि एक-दूसरे के प्रति तारीफ़ के शब्द न केवल पार्टनर्स को एक-दूसरे के क़रीब लाते हैं, बल्कि उदासीन रिश्तों में ताज़गी का एहसास कराते हैं. वैवाहिक जीवन की सफलता काफ़ी हद तक इस बात पर निर्भर करती है कि आप अपने पार्टनर की तारीफ़ किस अंदाज़ में करते हैं.

हेल्दी रिलेशनशिप टिप्स: पति-पत्नी को चाहिए कि पार्टनर द्वारा अच्छा काम या अच्छा व्यवहार किए जाने पर दिल खोलकर पार्टनर की तारीफ़ करें. ऐसा करने से उनके बीच आपसी प्यार तो बढ़ेगा ही, साथ ही बोझिल रिश्तों में गर्मजोशी का एहसास भी होगा.

– पत्नी के बनाए हुए भोजन और पहनावे की तारीफ़ करें.

– एक-दूसरे के सेंस ऑफ ह्यूमर की प्रशंसा करें.

– रोज़ाना पार्टनर को एक अच्छा कॉम्पिलीमेंट दें, चाहे वह आपकी बात पर विश्‍वास करे या न करे. आपकी यही अदा धीरे-धीरे रिश्ते में मिठास घोलने में अहम् भूमिका निभाएगी.

एक-दूसरे को बदलने की कोशिश न करें
जब पार्टनर एक-दूसरे में कमियां निकालने लगते हैं या फिर एक-दूसरे को बदलने की कोशिश करने लगते हैं, तो वैवाहिक रिश्तों में दरार आने लगती है. दोनों पार्टनर्स को यह बात समझनी चाहिए कि वैवाहिक रिश्तेे की सफलता एक-दूसरे को बदलने में नहीं, बल्कि एक-दूसरे को उनकी कमियों सहित अपनाने में है.

हेल्दी रिलेशनशिप टिप्स: यदि एक पार्टनर दूसरे पार्टनर की कोई आदत बदलना चाहता है, तो पहले उन्हें उस बदलाव के फ़ायदे बताएं.

– आदतें छोड़ने या बदलने में समय लगता है, इसलिए नाराज़ होने की बजाय पार्टनर को कुछ समय दें.

– बार-बार बदलाव की अपेक्षा न रखें.

– यदि पार्टनर आपकी कोई बात मानने को तैयार नहीं है, तो उनके साथ विवाद न करें.

– पार्टनर की पसंद-नापसंद और भावनाओं को समझने की कोशिश करें.

things that make relationship weak

आदतों में लाएं सुधार
रिलेशनशिप एक्सपर्ट के अनुसार, वैवाहिक रिश्तों को कमज़ोर बनानेवाले कारणों में से एक है- पार्टनर की रोज़मर्रा की आदतें, जो उनके व्यवहार से झलकती हैं. पतियों को पत्नियों की बहुत-सी आदतें बुरी लगती हैं, जैसे- बात-बात पर टोकना, शक करना, ताने मारना, बात-बात पर अपने मायकेवालों की तारीफ़ करना आदि. इसी तरह से पत्नियों को भी पतियों की बहुत सारी बातें बुरी लगती हैं, जैसे- बिस्तर पर गीला तौलिया छोड़ना, हर समय मोबाइल या लैपटॉप पर व्यस्त रहना, घर के कामों में सहयोग न करना व काम को टालना आदि. रोज़मर्रा की यही छोटी-छोटी आदतें रिश्ते में तकरार का कारण बनती हैं.

हेल्दी रिलेशनशिप टिप्स: पार्टनर्स को यदि एक-दूसरे की कोई आदत बुरी लगती है, तो व़क्त-बेव़क्त उस पर बहस करने से बचें.

– बुरी आदतों को अनसुना करने की बजाय उन पर एक बार ग़ौर ज़रूर करें.

– बार-बार टोकें नहीं, न ही व्यंग्य करें.

– ग़लत आदत छोड़ने पर उन्हें सरप्राइज़ गिफ्ट दें.

– सफल वैवाहिक जीवन में अहं की कोई भूमिका नहीं होती है. यदि पार्टनर की कोई बुरी आदत छुड़ाना चाहते हैं, तो उन्हें प्यार से समझाएं.

वैवाहिक रिश्तों में दें वास्तविकता को महत्व
वैवाहिक रिश्तों की नींव कल्पना पर नहीं, वास्तविकता पर निर्भर करती है. इसलिए पार्टनर्स एक-दूसरे से ऐसी कोई अपेक्षा न रखें, जिसे आसानी से पूरा न किया जा सके. अधिकतर पत्नियां जन्मदिन या एनीवर्सरी पर यह उम्मीद रखती हैं कि उनके पति उपहार में डायमंड-गोल्ड की ज्वेलरी, डिज़ाइनर साड़ी या अन्य क़ीमती सामान उपहार में देंगे. इसी तरह से पति भी पत्नियों से अपेक्षाएं रखते हैं, जिन्हें वास्तविक जीवन में आसानी से पूरा नहीं किया जा सकता. पार्टनर्स को चाहिए कि जीवन के प्रति व्यावहारिक दृष्टिकोण रखें और वास्तविकता को महत्व दें.

हेल्दी रिलेशनशिप टिप्स: छोटी-छोटी बातों पर ज़िद न करें, जैसे- मुझे आज ही डिनर पर बाहर जाना है, मुझे गिफ्ट में ज्वेलरी ही चाहिए… आदि छोटी-छोटी बातें ही रिश्ते में झगड़ों का कारण बनती हैं.

– भावनात्मक रूप से ब्लैक मेल करने की कोशिश न करें.

– पार्टनर्स एक-दूसरे के सामने अपने शिकवे-शिकायतों का रोना न रोएं.

पार्टनर के लिए ज़रूरी है क्वालिटी टाइम
घर-ऑफिस की ज़िम्मेदारियां निभाने में दंपति इतने व्यस्त हो जाते हैं कि उनके पास एक-दूसरे के लिए व़क्त ही नहीं होता, जिसके कारण वैवाहिक जीवन में नीरसता आने लगती है. पति-पत्नी के बीच रिश्तों की गर्माहट कम होने लगती है. पार्टनर्स के बीच रिश्तों की मज़बूती बनी रहे, इसके लिए ज़रूरी है कि रोज़मर्रा की जिंदगी में व्यस्तता चाहे कितनी भी हो, लेकिन एक-दूसरे के साथ क्वालिटी टाइम ज़रूर बिताएं.

हेल्दी रिलेशनशिप टिप्स: डिनर के बाद वॉक के लिए जाएं. उदासीन होते रिश्ते के लिए थोड़ी देर की यह वॉक टॉनिक का काम करेगी.

– पार्टनर के साथ लॉन्ग ड्राइव पर जाएं, इस दौरान कुछ रोमांटिक बातें करें.

– साथ-साथ व़क्त बिताते समय एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोेप न करें.

– पार्टनर को काम में सहयोग करते हुए उनके साथ रोमांटिक बातें करें.

– कभी-कभी दोनों एक-दूसरे को सरप्राइज़ दें.

– यदि दंपति कामकाजी हैं, तो व़क्त निकालकर घूमने के लिए जाएं.

छोटी-छोटी बातों पर तकरार से बचें
दांपत्य जीवन में छोटी-छोटी बातों पर नोंकझोंक होना लाज़िमी है, पर इसका अर्थ यह नहीं कि यही छोटी-छोटी नोंकझोंक बड़े झगड़ों का रूप ले लें. पार्टनर्स की समझदारी इस बात में है कि झगड़े की स्थिति में बहस करने की बजाय शांत व संयमित रहें. वरना यही तकरारें धीरे-धीरे वैवाहिक रिश्ते को खोखला कर देंगी.

हेल्दी रिलेशनशिप टिप्स: झगड़े के दौरान अपशब्दों व असभ्य भाषा का प्रयोग न करें.

– बहस करने की बजाय अपनी बात पार्टनर को प्यार से समझाएं.

– परिवार, दोस्तों व रिश्तेदारों के सामने पार्टनर्स एक-दूसरे का सम्मान करें.

– पिछली ग़लतियों के लिए पार्टनर को बार-बार दोषी न ठहराएं.

– तकरार के दौरान ऐसी बातें न बोलें, जिससे एक-दूसरे की भावनाएं आहत हों.

– ध्यान रखें, छोटी-छोटी तकरार कहीं बड़े झगड़े बनकर घर की चारदीवारी से बाहर न जाए.

– नागेश चमोली