जब मनोज बाजपेयी को हो गया था रोल...

जब मनोज बाजपेयी को हो गया था रोल नंबर 44 से प्यार, दिलचस्प है किस्सा(Manoj Bajpai’s first love was not a girl but roll number 44, Know the funny anecdote)

मनोज बाजपेयी की स्क्रीन इमेज भले ही अनरोमांटिक सी हो और उनके फैन्स को लगता हो कि प्यार श्यार के मामले में मनोज बाजपेयी कच्चे ही होंगे, तो ऐसा नहीं है. मनोज बाजपेयी भी कॉलेज के दिनों में खूब रोमांटिक रहे हैं और उन्हें भी एक नहीं कई बार लडकियों से प्यार हुआ, लेकिन उनकी सबसे दिलचस्प लव स्टोरी है, जब उन्हें किसी लड़की से नहीं, बल्कि रोल नंबर 44 से प्यार हो गया था, पर उनकी ये छोटी सी लव स्टोरी छोटी ही रह गई. क्या है ये दिलचस्प किस्सा, आइए जानते हैं.


ऐसा था मनोज बाजपेयी का पहला प्यार


ये बात तब की है, जब मनोज बाजपेयी 12वीं क्लास में थे और पहली बार उनके दिल में प्यार की घंटी बजी थी. इस बात का जिक्र मनोज बाजपेयी की बायोग्राफी ‘कुछ पाने की जिद’ में किया गया है, जिसमें एक्टर की लाइफ से जुड़े कई दिलचस्प किस्सों का जिक्र है और रोल नंबर 44 से प्यार होने वाले किस्से का भी.


44 रोल नंबर पर हार गए थे दिल

आपको सुनने में थोडा अजीब लग रहा होगा, लेकिन मनोज बाजपेयी का पहला प्यार कोई लड़की नहीं, बल्कि रोल नंबर 44 था. मनोज बाजपेयी की बायोग्राफी लिखनेवाले पीयूष पांडे ने लिखा है- ये सच है कि मनोज का दिल दिलवालों की दिल्ली में बुरी तरह टूटा था. लेकिन ऐसा नहीं है कि मनोज को दिल्ली में पहली बार प्यार हुआ था. उन्हें पहला प्यार तब हुआ था जब वे 12वीं क्लास में पढ़ रहे थे, ये बात और है कि बाद में इस प्यार को क्रश का नाम दे दिया गया था. इस प्यार की कहानी भी बहुत दिलचस्प है. दरअसल, पहले पहल मनोज को इश्क किसी लड़की से नहीं बल्क‍ि उसके रोल नंबर से हुआ.

44 रोल नंबर सुनते ही बज उठते थे मनोज के दिल के तार


ये तब की बात है जब किसी लड़की से प्यार करना और प्यार जाहिर करना दोनों बड़ी हिम्मत का काम माना जाता था. मनोज बाजपेयी के क्लास के सभी लड़कों ने रोल नंबर के हिसाब से अपनी-अपनी पसंद की लड़की चुन ली थी, जिसकी जानकारी लड़कियों को भी नहीं थी. मनोज ने अपने लिए रोल नंबर 44 चुना था. बायोग्राफी में उनके दोस्तों ने बताया है कि रोल नंबर 44 के लिए मनोज बाजपेयी कितने दीवाने थे. जब जब क्लास में रोल नंबर 44 पुकारा जाता और क्लास में प्रेजेंट सर की आवाज गूंजती, तो मनोज ब्लश करने लगते. रोल नंबर 44 की आवाज सुनते ही उनके चेहरे पर मुस्कुराहट आ जाती थी. उनकी इस मोहब्बत के चलते दोस्तों ने मनोज का नाम ही ‘फोर्टीफोरवा’ रख दिया था और उन्हें इस नाम से खूब छेड़ते थे. लेकिन उस लड़की से दिल की बात कैसे कहें, ये मनोज के लिए सबसे मुश्किल टास्क था. लेकिन उनके दोस्तों ने इसकी भी तरकीब ढूंढ़ निकाली.


लड़की को मनोज ने ऐसे किया था प्रपोज, भांजे से ‘मामी’ कहलवाकर किया था प्यार का इजहार


बायोग्राफी में मनोज के एक दोस्त अनीश रंजन ने बताया है कि मनोज ने उस लड़की को किस दिलचस्प तरीके से दिल की बात कही थी। उन्होंने बताया कि जब प्रपोज करने की बारी आई तो सब लोगों ने मिलकर एक तरकीब निकाली. मनोज का एक भांजा भी उसी कॉलेज में पढ़ता था. तो सबसे पहले एक-दो दिन क्लास के सब बच्चों के बीच कॉलेज में ये प्रचार किया गया कि वो लड़का मनोज का भांजा है. फिर एक दिन वो लड़का उस लड़की के सामने पहुंचा और उसे ‘मामी’ कह दिया. इसके बाद कॉलेज के ग्राउंड में ही मनोज ने हिम्मत जुटाकर लड़की को आई लव यू कह दिया. और हद तब हो गई जब प्रेम का इजहार करने के बाद मनोज अड़ गए कि लड़की भी तुरंत जवाब दे. लेकिन लड़की ‘बाद में’ कहकर बात टाल गई. ये बात और है कि मनोज की ये प्रेम कहानी किसी नतीजे पर नहीं पहुंची और उनका ’44’ नंबर वाला प्यार अधूरा ही रह गया.

फिर दिल्ली की एक लड़की को दिल दे बैठे थे मनोज


इसके बाद जब मनोज बाजपेयी स्ट्रगल कर रहे थे, तो उसी दौरान वे दिल्ली की एक लड़की को डेट करने लगे और उससे शादी भी कर ली, लेकिन उनकी ये शादी दो महीने भी नहीं चली और उनका तलाक हो गया. बाद में उनकी लाइफ में फिल्म एक्ट्रेस नेहा की एन्ट्री हुई और साल 2006 में उन्होंने नेहा से शादी रचा ली. आज मनोज और नेहा अपनी शादीशुदा जिंदगी में बेहद खुश हैं. दौनों की एक प्यारी सी बेटी भी है, जिसे मनोज बेहद प्यार करते हैं.

×