FILM REVIEW: एक बार देखी जा सकती है ‘द गाज़ी अटैक’ (MOVIE REVIEW: The Ghazi Attack)

फिल्म- द गाज़ी अटैक (The Ghazi Attack)

स्टारकास्ट- राणा दग्गुबाती, ताप्सी पन्नु, के के मेनन, अतुल कुलकर्णी, ओमपुरी.

निर्देशक- संकल्प रेड्डी

रेटिंग- 3 स्टारThe Ghazi Attack Review

कहानी

द गाज़ी अटैक भारत और पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध पर आधारित है. समंदर में हुए इस युद्ध के बारे में कम ही लोग जानते हैं. फिल्म की शुरुआत होती है बिग बी की आवाज़ से, जो इस लड़ाई के बारे में जानकारी देते हैं. कहानी साल 1971 में जब भारतीय नौसेना के सबसे दमदार आईएनएस विक्रांत को नुक़सान पहुंचाने के लिए पाकिस्तान समुद्र के रास्ते अपनी पनडुब्बी ‘गाज़ी’ को भेजता है. नौसेना चीफ़ वी पी नंदा (ओमपुरी) ‘सर्च लैंड’ ऑपरेशन का गठन करते हैं, जिसकी ज़िम्मेदारी सौंपी जाती है एस 21 पनडुब्बी के कप्तान रणविजय सिंह (के के मेनन) और लेफ्टिनेंट कमांडर अर्जुन (राणा डग्गुबाती) को. कैसे ये लोग मिलकर पाकिस्तान की पनडुब्बी का नामोनिशां मिटा देते है, इसी पर आधारित है ये फिल्म.

फिल्म की यूएसपी

फिल्म की कहानी ही इस फिल्म की यूएसपी है, क्योंकि ये एक ऐसे युद्ध पर बनी है, जिसके बारे में लोग ज़्यादा जानते नहीं है, इसलिए कहानी में दिलचस्पी बनी रहती है. संकल्प रेड्डी का डायरेक्शन भी अच्छा है. फिल्म में कोई गाना नहीं है और बिल्कुल सही भी है, क्योंकि फिल्म में किसी गाने के लिए कोई जगह नहीं है.

के के मेनन और ओमपुरी जैसे टैलेंटेड ऐक्टर्स की ऐक्टिंग फिल्म को बांधे हुए रखती है. राणा डग्गुबाती भी अपने रोल के साथ न्याय कर रहे हैं. फिल्म में ताप्सी का रोल भले ही छोटा है, लेकिन दमदार है, ताप्सी ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि वो अच्छी ऐक्ट्रेस हैं.

देखने जाएं या नहीं?

ज़रूर जाएं, एक बार ये फिल्म देखी जा सकती है. आपकी जेब पर बिल्कुल भारी नहीं पड़ेगी द गाज़ी अटैक.

– प्रियंका सिंह