पैरासिटामॉल या आईब्रू़फेन? क्या है बेहतर ( Paracetamol or Ibuprofen? What is Better)

बच्चों को बुख़ार या दर्द होने पर
ज़्यादातर पैरेंट्स पैरासिटामॉल (Paracetamol) या आइब्रू़फेन (Ibuprofen) ही देते है. हाल में हुए शोधों से यह बात सिद्ध हुई है कि आइब्रू़फेन बुख़ार और दर्द दोनों में ही असरकारक होता है, लेकिन पैरासिटामॉल के फ़ायदे को भी पूरी तरह नज़रअंदाज़ किया जा सकता. पैरासिटामॉल आईब्रून से माइल्ड होता है. इसलिए यह बच्चों के लिए ज़्यादा सेफ़ है. जनरल फ़िजिशियन नितिन राय के अनुसार, बच्चों के बुख़ार होने पर आईब्रू़फेन से कहीं अच्छा पैरासिटामॉल होता है, जबकि आइब्रू़फेन एक अच्छा दर्दनिवारक है.

Better option of penkiller tablet

वैसे पैरासिटामॉल और आईब्रू़फेन दोनों ही पेन रिसिपेटर का काम करते हैं, लेकिन आईब्रू़फेन में एंटी-इऩफ़्लेमेटरी गुण होते हैं. जो सूजन कम करने में सहायक होते हैं. इसलिए ये मोच लगने, हड्डी टूटने, चोट लगने या कान में इंफेक्शन होने पर ज़्यादा फ़ायदेमंद होते हैं. पैरासिटामॉल का सेवन करने पर किसी तरह की समस्या होने का आशंका कम होती हैं, वहीं आइब्रू़फेन खाने से पेट की गड़बड़ी हो सकती है. नवजात शिशुओं को आईब्रू़फेन न लेने की सलाह दी जाती है.
ध्यान रखें
अलग-अलग बच्चों पर दवाओं का असर अलग तरी़के से होता है. इसलिए जो दवा आपके बच्चे को सूट होती हो, उसे बदलने की ग़लती न करें.

ये भी पढ़ेंः जानें कौन-सी दवा के साथ क्या नहीं खाना चाहिए?