राष्ट्रीय एकता दिवस: सरदार वल्लभ...

राष्ट्रीय एकता दिवस: सरदार वल्लभभाई पटेल जयंती- प्रधानमंत्री मोदीजी व देश ने उन्हें याद किया..(Rashtriya Ekta Diwas: Sardar Vallabhbhai Patel Jayanti- Prime Minister Modiji And The Nation Pay Tributes To Him)

आज सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्म दिवस को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में देशभर में मनाया जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी ने इस मौक़े पर एक वीडीयो संदेश जारी किया. गुजरात के केवडिया में पटेलजी की प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पर शानदार समारोह हो रहा है. गृह मंत्री अमित शाह ने कार्यक्रम में शामिल होकर सरदार पटेल को श्रद्धांजलि दी. एकता दिवस समारोह में एकता परेड भी निकाली गई. सरदार वल्लभ भाई पटेलजी को शत् शत् नमन! आज के दिन हमें उनके विचारों व दृढ़ता से प्रेरणा व सीख लेते हुए जीवन में उसे अपनाने की पुरज़ोर कोशिश करते रहना चाहिए.

Rashtriya Ekta Diwas 2019  राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद व गृहमंत्री अमित शाह ने पटेलजी को उनकी जयंती पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए, वहीं देशभर में रन फॉर यूनिटी का आयोजन हो रहा है. इस अवसर पर मोदीजी ने ख़ास वीडीयो संदेश जारी कर पटेल के विचारों को लोगों के सामने रखा.

आज सरदार पटेलजी के 146 वीं जयंती पर भारतभर में तमाम कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं. इनमें एकता की दौड़, परेड के साथ-साथ विचार-विमर्श से जुड़े भी कई कार्यक्रम हैं.

Sardar Vallabhbhai Patel Jayanti
Sardar Vallabhbhai Patel Jayanti Sardar Vallabhbhai Patel Jayanti

प्रधानमंत्री मोदीजी ने पटेलजी को याद करते हुए कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल के विचारों में देश की एकता को हर शख़्स महसूस कर सकता है.

इस मौक़े पर सरदार पटेल से जुड़ी ख़ास बातें…

Sardar Vallabhbhai Patel Jayanti

लौह पुरुष…

* सरदार वल्लभभाई पटेल का जन्म 31 अक्टूबर 1875 में गुजरात के नडियाद में हुआ था.

* उनका पूरा नाम वल्लभभाई झावेरभाई पटेल था, पर वे सरदार पटेल के नाम से विख्यात हुए.

* उन्हें लौह पुरुष व आयरन मैन के रूप में जाना जाता है.

* उनकी पत्नी का नाम झावेरबा पटेल था.

* पटेलजी अपने साहसिक निर्णय के लिए जाने जाते थे.

* इसमें कोई दो राय नहीं कि वे एक कुशल राजनीतिज्ञ और बेहतरीन व्यक्ति थे.

* उनके विचार आज के संदर्भ में भी उतने ही सार्थक व तर्कपूर्ण हैं.

* तमाम विरोधों व अवरोधों के बावजूद वे सत्य पर अडिग रहे और देश की एकता व अखंडता से कभी भी समझौता नहीं किया. इसी कारण उनकी लौह पुरुष की छवि बनीं.

Sardar Vallabhbhai Patel JayantiSardar Vallabhbhai PatelSardar Vallabhbhai Patel JayantiSardar Vallabhbhai Patel Jayanti

विशेष: आज ही के दिन लद्दाख व जम्मू-कश्मीर नए केंद्र शासित प्रदेश बन गए हैं.

– ऊषा गुप्त

×