क्यों होते हैं एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर्स? (Reasons for extra marital affairs)

एक व़क़्त था, जब तेज़ बाइक चलाते, सिगरेट का धुंआ उड़ाते, धमाल मचाते  लड़कों की ओर ही लड़कियां आकर्षित हुआ करती थीं. लेकिन अब लड़कियों की पसंद बदल गई है. ऐसे लड़कों से वे दोस्ती करना तो चाहती हैं, लेकिन जब बात आती है प्यार और शादी  की, तब उन्हें अपने से बड़ी उम्र के मैच्योर  व्यक्ति ही पसंद आते हैं.

Reasons for extra marital affairs

 लड़कियां विवाहित लड़कों की ओर क्यों आकर्षित हुआ करती हैं?

लड़कियों का विवाहित पुरुषों के प्रति पहला आकर्षण अक्सर जीजा, भाई के दोस्त या सहेली के पति से ही होता है. चूंकि लड़की अपने परिवार में इन्हें बहुत क़रीब से देखती है, इसलिए उनके प्रति आकर्षण बढ़ जाता है. यही कारण है कि कई बार लड़की को अपने ही कॉलेज के किसी शादीशुदा प्रो़फेसर से प्यार हो जाता है या ऑफ़िस में बॉस से.

–  शादीशुदा लड़कों में गंभीरता होती है, जो नवयुवकों में नहीं होती.

–  विवाहित पुरुष अनुभवी होते हैं, जिससे उनमें परिपक्वता और विचारों की स्थिरता आ जाती है, जो लड़कियों को उनकी ओर आकर्षित करती है.

– पिता, भाई और जीजा को अपना आदर्श मानने वाली लड़कियों में कहीं न कहीं यह ख़्वाहिश होती है कि उसे प्यार में सुरक्षा मिले, जो बड़ी उम्र के व्यक्ति के साथ  ज़्यादा संभव है.

– कॉलेज के ये जोशीले लड़के सेक्स को लेकर बहुत उतावले होते हैं. वे लड़कियों पर सेक्स करने के लिए दबाव डालते रहते हैं, जो लड़कियों को उचित नहीं लगता.

– आजकल के लड़कों में अहं की भावना बहुत ज़्यादा है. अपने अहं के अंधेपन में दूसरों का मान-सम्मान न करना, किसी की भी कोमल भावनाओं को ठेस पहुंचाना जैसे उनकी आदत-सी है. इसलिए भी लड़कियां उनसे कतराती हैं.

– शादीशुदा लड़के मैच्योर होने के कारण विपरीत परिस्थितियों में भी सहज रहते हैं. इसके विपरीत आजकल के लड़कों में सहनशीलता की कमी होती है. उनके मूड का पता ही नहीं चलता. वे कब और कहां उलझ पड़ें, इसका ठिकाना नहीं होता.

– जी हां, यह वाक्य अक्सर युवाओं के मुंह से सुनाई दे जाता है कि ये मेरी लाइफ़ है और मैं जैसे चाहूं इसे जिऊं. इसमें हस्तक्षेप करनेवाला कोई होता कौन है? लड़कियों को लड़कों का ये मनमाना रवैया अच्छा नहीं लगता.

Reasons for extra marital affairs

रिश्ते में बनाएं मर्यादा

– प्यार पर किसी का बस नहीं. यह तो किसी से भी हो सकता है. यदि विवाहित पुरुष से आपका रिश्ता बन गया है तो कई बातों का ध्यान रखें.

– यदि आप किसी विवाहित  पुरुष की ओर आकर्षित हैं और रिश्ता स़िर्फ दोस्ती तक सीमित है तो इस बात को भी ध्यान में रखें कि विवाहित पुरुष का अपना एक परिवार है, इसलिए रिश्ते की मर्यादा बनाए रखें.

– यदि आपका रिश्ता एक प्रेमी-प्रेमिका का है तो सबसे पहले यह सोचें कि आप अपने रिश्ते को क्या मुकाम देना चाहते हैं.

– यह अच्छी तरह जांच-परख लें कि क्या आपका विवाहित प्रेमी वाकई अपनी पत्नी से परेशान है? क्या आपकी ख़ातिर उसका पत्नी को तलाक़ देना उचित है?

– यदि वह तलाक़ नहीं देना चाहता, तो ज़बरदस्ती न करें. क्योंकि वह ऐसा करके आपके साथ भी ख़ुश नहीं रह पाएगा. अब यह आप पर निर्भर करता है कि बिना शादी किए उसके साथ संबंध बनाए रखना चाहती हैं या फिर कुंआरे के साथ जुड़ना चाहती हैं. रिश्ता जो भी बनाएं, उसे संजीदगी से निभाएं.

– विजन कुमार पांडेय