साजिद खान: बचपन में ही करने लगे ...

साजिद खान: बचपन में ही करने लगे थे क्राइम, 10 साल की उम्र में की चोरी… स्कूल में डाली डकैती, चलाते थे चोरों का गैंग, साजिद के बचपन के कारनामे जानकर दंग रह जाएंगे आप (Sajid Khan: Started stealing at the age of 10… Used to run a gang of thieves, Robbed the school, Sajid Khan’s Childhood stories will shock you)

‘बिग बॉस 16’ (Bigg Boss 16) में आने के बाद से ही फिल्ममेकर साजिद खान (Sajid Khan) को लगातार बैकलेश का सामना करना पड़ रहा है. #MeToo के आरोप में घिरे साजिद खान ने बी टाउन में वापसी के लिए बिग बॉस का सहारा लिया, लेकिन यहां भी उन्हें विरोध झेलना पड़ रहा है. अब तक कई मॉडल और एक्ट्रेसेस उन पर #MeToo के तहत घिनौने आरोप लगा चुकी हैं और उन्हें शो से निकालने की भी डिमांड लगातार हो रही है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि साजिद खान की लाइफ अभी से नहीं, बल्कि बचपन से ही कंट्रोवरशियल और तकलीफों से भरी रही है. यहाँ तक कि बचपन में पैसों के लिए उन्हें सड़कों पर टूथपेस्ट बेचना पड़ा, चोरी करनी पड़ी और चोरों के गैंग का हिस्सा भी बनना पड़ा.

ये तो सभी जानते हैं कि साजिद खान जाने-माने बॉलीवुड डायरेक्टर कामरान खान (Sajid Khan’s father Kamran Khan) के बेटे हैं, जो एक समय बॉलीवुड के बड़े डायरेक्टर हुआ करते थे. उनके घर कई बड़े स्टार्स का जमावड़ा हुआ करता था. लेकिन कामरान खान की फिल्म ‘ऐसा भी होता है’ के बुरी तरह पिटने पर हालात अचानक से बदल गए. इस फिल्म में कामरान खान ने अपने पूरी कमाई लगा दी थी. फिल्म पिटने के बाद उनका पूरा परिवार आर्थिक तंगी से घिर गया. गुज़ारे के लिए घर की चीज़ें बेची जाने लगीं. ज़ेवर गहने भी बिक गए. फिल्म फ्लॉप होने के बाद कामरान खान ने खुद को शराब के नशे में डुबा लिया. साजिद की मां घर-घर जाकर काम करती और साजिद के पिता हमेशा नशे में धुत रहते. साजिद खान का जन्म इसी गरीबी वाले दिनों में हुआ था. इसलिए उनका बचपन गरीबी में ही बीता. जब वह 6 साल के थे तो उनके माता-पिता का तलाक हो गया.

साजिद खान ने खुद ‘बिग बॉस 16’ में खुलासा किया था कि उन्हें इस गरीबी से इतनी चिढ़ हो गई थी कि 10 साल की उम्र में चोरी करने लगे थे. साजिद ने बताया था कि वो मनेकजी कपूर स्कूल पढ़ने जाते थे, लेकिन उन्हें हमेशा लगता था कि वे उस स्कूल के लायक नहीं हैं. उन्हें लगा कि गरीबी से बाहर निकलना है तो एक ही रास्ता है चोरी.

बस फिर क्या था साजिद ने अपने ही चाल में रहने वाले चार लड़कों जो चोरी करते थे का गैंग जॉइन कर लिया और चोरी करने लगे. एक बार तो उन्होंने अपने स्कूल में लगे एग्जीबिशन से किताबें तक चुरा ली थीं. यहां तक कि उन्होंने एक्टर फरहान अख्तर (Farhan Akhtar) जो उनके कजिन लगते थे के घर से उनके जूते और कैमरा भी चुरा लिया था, लेकिन इस बार वो पकड़े गए और उन्हें हवालात की हवा भी खानी पड़ी.

इसी बीच साजिद के पिता की मौत हो गई. उस समय साजिद की उम्र सिर्फ 14 साल थी. पिता की मौत के बाद जब साजिद के कंधों पर ज़िम्मेदारियों का बोझ पड़ा, तब उन्हें एहसास हुआ कि ज़िंदगी ऐसे नहीं चलेगी. उन्हें कुछ काम करना होगा. आखिर उन्होंने चोरी छोड़ दी और कुछ करने की ठानी. अपनी मेहनत के बल पर वो बॉलीवुड के अच्छे फिल्ममेकर बने. होस्टिंग भी की. लेकिन मीटू विवाद में घिरने के बाद एक बार फिर उन्होंने सब कुछ गवाँ दिया. जो फिल्म स्टार्स साजिद खान के साथ फिल्म करने को बेचैन रहते थे, उन्होंने ने ही उनसे किनारा करना शुरू कर दिया. उनसे फ़िल्में भी छिन गईं. अपना खोया हुआ फेम और इज़्ज़त हासिल करने के लिए वो बिग बॉस का हिस्सा बने, लेकिन यहाँ भी उन्हें लगातार आरोपों में घेरा जा रहा है, लेकिन तमाम आलोचनाओं के बावजूद वो बिग बॉस हाउस में बने हुए हैं.

×