‘मलखान’ दीपेश भान को...

‘मलखान’ दीपेश भान को याद कर इमोशनल हुईं सौम्या टंडन, लिखा- तुम्हारे पत्नी-बच्चे का हमेशा ख्याल रखूंगी (Saumya Tandon pens a heartfelt note remembering actor Deepesh Bhan; writes- I will try and be there for your wife and son)

‘भाबीजी घर पर हैं’ ((Bhabi Ji Ghar Par Hai) शो के मलखान उर्फ दीपेश भान (Deepesh Bhan) की अब इस दुनिया में नहीं हैं. परसों 41 साल के दीपेश क्रिकेट खेलते वक्त अचानक गिर पड़े और ब्रेन हैमरेज ने उनकी जान ले ली. उनके यूं अचानक चले जाने से उनकी फैमिली ही नहीं, पूरी टीवी इंडस्ट्री सदमे में है, खासकर उनके साथ काम करनेवाले को एक्टर्स तो उन्हें भुला ही नहीं पा रहे हैं और उनसे जुड़ी यादें शेयर कर रहे हैं. शो में ‘भाभी जी’ के रोल में नजर आईं सौम्या टंडन (Saumya Tandon) ने भी दीपेश को याद करते हुए इंस्टाग्राम पर एक लंबा-चौड़ा पोस्ट शेयर किया है और साथ ही एक इमोशनल भी लिखा है.

सौम्या टंडन ने सोशल मीडिया पर दीपेश संग मस्ती करते हुए एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें दीपेश, सौम्या और वैभव माथुर डांस करते नज़र आ रहे हैं. इस वीडियो को शेयर करते हुए सौम्या ने दिल को छू लेनेवाली पोस्ट भी लिखी है.

सौम्या (Saumya Tandon) आगे लिखती हैं, “इस वीडियो को बनाते वक्त हमने काफी मस्ती की थी, खूब हंसे थे. जिंदगी बहुत ज्यादा अनप्रेडिक्टेबल है. मैं खुद को खुशकिस्मत समझती हूं कि मेरे पास दीपेश की कई खूबसूरत यादें हैं. मैं सभी से यह कहना चाहती हूं कि दूसरे लोगों के साथ हमेशा काइंड रहें. आपके साथ जो भी काम करते हैं, उनके साथ अच्छा बर्ताव करें, क्योंकि लाइफ बहुत छोटी है. फिर सिर्फ यादें ही रह जाती हैं. अपने और दूसरों के लिए हैप्पी मोमेंट्स क्रिएट करें, क्योंकि आपको नहीं पता कि किस पर क्या बीत रही है और वह इस दुनिया में कितने दिन रहने वाला है.”

सौम्या ने आगे लिखा, दीपेश के साथ हमारी यादें हमेशा जिंदा रहेंगी. अंकल और आंटी को प्रणाम कहना जब आप उनसे मिलोगे. वहां एक दिन हम ज़रूर मिलेंगे. तब तक मुस्कुराते रहिए. मैं भी कोशिश करूंगी. और तुम्हारे पत्नी और बेटे का ख्याल रखूंगी.”

बता दें कि एक्टर के निधन की खबर मिलते ही सौम्या टंडन उनके घर पहुंच गई थीं और उनके पत्नी के साथ बनी रहीं. वहां पहुंचकर उन्होंने बताया था कि दीपेश की वाइफ और बेटे का हाल देखकर उनका दिल टूट गया है. “मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि ईश्वर उन्हें यह दुख सहने की हिम्मत् दें. दीपेश बेहद अच्छे इंसान थे. वह सच में हीरा थे.”

×