टैटू मेकर- यूनीक प्रोफेशन

tattoo-creator-online

अगर आप भी फैशन की दुनिया में अपना नाम कमाना चाहते हैं और कुछ हटकर करना चाहते हैं, तो टैटू मेकिंग आपके लिए बेस्ट करियर हो सकता है. कैसे बनें टैटू मेकर? बता रही हैं करियर काउंसलर मालिनी शाह.

क्या है टैटू मेकिंग?
बॉडी पर तरह-तरह की कलाकृतियां बनाना ही टैटू कहलाता है. पुराने ज़माने में भारतीय गोदना का बहुत प्रचलन था, लेकिन समय के साथ वो बदलता गया और आज टैटू के रूप में विश्‍व विख़्यात हो चुका है. आजकल बड़ी तेज़ी से लोगों में टैटू बनवाने का क्रेज़ बढ़ रहा है.

कहां से करें कोर्स?
टैटू मेकिंग का कोर्स किसी कॉलेज/इंस्टीट्यूट में नहीं सिखाया जाता, अगर आप इसमें करियर बनाना चाहते हैं, तो-

  • किसी प्रोफेशनल के अंडर ही टैटू सीखना शुरू करें.
  • आजकल कई पार्लर भी टैटू मेकिंग सिखाते हैं, लेकिन अच्छे से पूछताछ करने के बाद ही किसी क्लास को ज्वाइन करें.
  • अनुभवी ट्रेनर से ही टैटू मेकिंग सीखें.
  • मेट्रो सिटीज़ में कई प्राइवेट क्लासेस भी टैटू मेकिंग का कोर्स कराते हैं.

योग्यता
टैटू मेकर बनने के लिए किसी तरह की प्रोफेशनल डिग्री की आवश्यकता नहीं होती, लेकिन प्राथमिक ज्ञान होना ज़रूरी है. एक अच्छा टैटू मेकर बनने के लिए ये चीज़ें ज़रूरी है.

  • आर्टिस्ट होना ज़रूरी एक टैटू मेकर के लिए बहुत ज़रूरी है कि वो पहले एक बेहतरीन कलाकार हो. टैटू बनाना एक कला है, अतः एक कलाकार ही इसकी बारिक़ियों को समझ सकता है.
  • क्रिएटिव आर्टिस्ट के साथ-साथ क्रिएटिव होना भी बहुत ज़रूरी है. इस फिल्ड में अगर टॉप पर पहुंचना है, तो हर पल कुछ नया करना होगा ताकि लोग आपकी कला से प्रभावित हो सकें.
  • टैटू के प्रति लगाव किसी भी विधा में आगे बढ़ने के लिए उसके प्रति लगाव होना बहुत ज़रूरी है. जब तक आपका अपने प्रोफेशन के प्रति रुझान नहीं बढ़ेगा तब तक आप अपना सौ प्रतिशत नहीं दे पाएंगे.
  • संयम और लगन टैटू मेकिंग आसान नहीं है. साधारण से लेकर कई जटिल डिज़ाइन भी बनाने पड़ते हैं जिसमें काफ़ी समय और मेहनत लगती है. ऐसे में इस कला को सीखने के लिए संयम और लगन की बहुत आवश्यकता है.
  • सकारात्मक सोच दूसरे कोर्स की तरह टैटू मेकिंग की ट्रेनिंग आसान नहीं. आसानी से इसकी क्लासेस नहीं मिलती. इसके लिए आपको बहुत मेहनत करनी पड़ती है.
  • एक अच्छे ट्रेनर की तलाश करनी पड़ती है. बहुत जल्दी निराश होने वालों के लिए ये क्षेत्र नहीं है.
  • क्विक लर्नर टैटू मेकिंग के लिए क्विक लर्नर (जल्दी सीखने की क़ाबिलियत) होना बहुत ज़रूरी है. ये एक ऐसा क्षेत्र है जहां हर पल कुछ नया होता रहता है. ऐसे में अगर आप क्विक लर्नर नहीं हैं तो आप दूसरों से पीछे रह जाएंगे.

स्कोप
टैटू मेकिंग का काम शुरू करने के लिए आप छोटे या बड़े पैमाने पर शुरू कर सकते हैं. इसे शुरू करने के लिए किसी तरह की बाध्यता नहीं होती. कैसे आप टैटू मेकिंग का काम शुरू कर सकते हैं? आइए, जानते हैं.

  • घर से शुरू करें टैटू मेकिंग का काम सीखने के बाद आप अपने बिज़नेस की शुरुआत घर से ही कर सकते हैं. शुरुआती दौर में आप छोटे-छोटे पैम्पलेट और दोस्तों की मदद से इसकी शुरुआत कर सकते हैं.
  • मॉल्स बड़े-बड़े मॉल्स से भी आप टैटू मेकिंग का काम शुरू कर सकते हैं. ये एक अच्छी शुरुआत हो सकती है.
  • स्टूडियो बड़े लेवल पर टैटू मेकिंग का काम शुरू करने के लिए आप किसी स्टूडियो से जुड़ सकते हैं. पहले ट्रेनी के तौर पर फिर अपना ख़ुद का स्टूडियो भी शुरू कर   सकते हैं.
  • टैटू पार्लर मेट्रो सिटीज़ में बड़े-बड़े टैटू पार्लर भी होते हैं. किसी भी अच्छे पार्लर से आप अपने करियर की शुरुआत कर सकते हैं.

टैटू के प्रकार
किसी भी ट्रेनर से टैटू सीखते व़क्त इस बात का ध्यान रखें कि आपको सभी प्रकार के टैटू बनाना वहां सिखाया जाए.
आइए,जानते हैं टैटू के प्रकार के बारे में.

  • एब्सट्रैक्शन टैटू
  • नेचुरलिस्टिक टैटू
  •  सिम्प्लिफिकेशन टैटू
  • कॉम्प्लेक्स टैटू

भारत में प्रचलित ख़ास टैटू
दुनिया के हर देश का अपना कुछ स्टाइल होता है. भारत में किस तरह के टैटू का प्रचलन अधिक है? आइए जानते हैं.

  • इंडियन गॉड्स टैटू
  • पैरेंटल ब्लेसिंग टैटू
  • मेहंदी टैटू
  • पिकॉक फीदर टैटू
  • फेस ऑफ द सन टैटू
  • एनिमल टैटू
  • फ्लावर टैटू
  • बर्ड टैटू
  • नेम टैटू
  • ज़ॉडिक साइन टैटू

– श्वेता सिंह