टॉप 25 वास्तु टिप्स: बिना तोड़-फोड़ के कैसे दूर करें वास्तु दोष? (Top 25 Vastu Tips: Vastu Correction without Demolition)

तमाम एहतियात के बावजूद कई बार घर में बिना वजह के तनाव व लड़ाई-झगड़ा बना रहता है. आपसी रिश्तों में कड़वाहट और
उदासीनता-सी रहती है. अन्य कारणों के अलावा वास्तु दोष के कारण भी ऐसा हो सकता है. आप चाहें तो बिना किसी
तोड़-फोड़ घर के वास्तु दोष को दूर कर सकती हैं.

 

013-695x400

– यदि घर में पानी का फ्लो ठीक न हो या पानी की सप्लाई सही दिशा से न हो, तो उत्तर-पूर्व दिशा से यानी ईशान कोण से भूमिगत पानी की टंकी का निर्माण कर उसी से घर में पानी की सप्लाई करें. ऐसा करने से यह वास्तु दोष दूर हो जाएगा और पानी की ग़लत दिशा से सप्लाई भी बंद हो जाएगी.
– घर का आगे का हिस्सा ऊंचा व पीछे का भाग नीचा हो, तो निचले भाग में डिश एंटीना, टीवी एंटीना आदि को अगले भाग से ऊंचा कर लगा दें. इससे यह वास्तु दोष पूरी तरह से दूर हो जाएगा.
– घर में जो घड़ियां बंद पड़ी हों, उन्हें या तो घर से हटा दें या रिपेयर करवा लें. बंद घड़ियां हानिकारक होती हैं. इनसे नकारात्मक ऊर्जा निकलती हैं.
– यदि घर का प्लास्टर उखड़ गया हो या दरारें पड़ गई हों, तो उसे तुरंत रिपेयर करवा दें.
– किचन के दरवाज़े के ठीक सामने बाथरूम का दरवाज़ा हो, तो यह नकारात्मक ऊर्जा देगा. इस दोष से बचने के लिए बाथरूम या किचन के बीच में एक कपड़े का परदा या किसी अन्य प्रकार का पार्टिशन खड़ा कर सकते हैं, ताकि किचन से बाथरूम दिखाई न दे.
– आग्नेय कोण (पूर्व-दक्षिण की मध्य की दिशा) में किचन न होने पर गैस चूल्हे को किचन के आग्नेय कोण में रखकर दोष का निवारण किया जा सकता है.
– यदि उपरोक्त उपाय नहीं कर सकते, तो आग्नेय कोण में ज़ीरो पावर का बल्ब जलाकर भी इस दोष से बचा जा सकता है.
– यदि ईशान में बोरिंग या अंडरग्राउंड टैंक आदि न बनवा सके हों, तो ईशान में एक सिंपल पानी की टंकी लगवाकर दोष का निवारण कर सकते हैं.

यह भी पढ़े: किचन के लिए Effective वास्तु टिप्स, जो रखेगा आपको हेल्दी

यह भी पढ़े: धन प्राप्ति के लिए 25 Effective वास्तु टिप्स 
– यदि भूखंड चौकोर नहीं हो, तो यह ज़रूर देख लें कि लंबाई चौड़ाई की दुगुनी से अधिक न हो. यदि लंबाई चौड़ाई से दुगुनी हो, तो अतिरिक्त भूभाग पर इंडिविज़ुअल कुछ डेवलप किया जा सकता है.
– फेंगशुई के अनुसार, घर के पूर्वोत्तर दिशा में तालाब या फाउंटेन शुभ होता है, पर इसके पानी का बहाव घर की ओर होना चाहिए न कि बाहर की ओर.
– घर के वास्तु दोष को दूर करने के लिए घर में इलेक्ट्रिकल उपकरण, जो कर्कश आवाज़ पैदा करते हों, जैसे- पंखे, कूलर आदि की समय-समय पर मरम्मत करवाते रहें.
– दरवाज़ों के कब्जों में तेल डालते रहें, वरना दरवाज़ा खोलते या बंद करते समय आवाज़ आती है, जो वास्तु के अनुसार अशुभ व नुक़सानदायक होती है.
– यदि आप वैवाहिक जीवन में ख़ुशियां चाहते हैं, तो बेडरूम की साफ़-सफ़ाई व ख़ूबसूरती पर भी विशेष ध्यान दें. बेडरूम शांत, ठंडा, हवादार व बिना दबाववाला होना चाहिए. बेडरूम में बेकार का सामान न रखें.
– बेडरूम में प्राइवेसी बरक़रार रहे, इसके लिए ध्यान रखें कि बेडरूम की खिड़की दूसरे कमरे में नहीं खुलनी चाहिए.
– बेडरूम की आवाज़ बाहर नहीं आनी चाहिए. इससे दांपत्य जीवन में मिठास बनी रहती है.
– बेडरूम की दीवारों पर पेंटिंग्स व तस्वीरें कम, मनभावन व आकर्षक हों.
– बेडरूम में पलंग आवाज़ करनेवाला न हो और सही दिशा में रखा हो. सोते समय सिर दक्षिण की ओर होना चाहिए. आरामदायक व भरपूर नींद से दांपत्य जीवन अधिक सुखद बनता है.
– बाथरूम बेडरूम से लगा हुआ होना चाहिए. बाथरूम का दरवाज़ा बेडरूम में खुलता हो, तो उसे बंद रखना चाहिए या फिर उस पर परदा भी डाल सकते हैं.
– बेडरूम में सोते समय ज़ीरो वॉट का बल्ब जलाना चाहिए, पर ध्यान रहे कि रोशनी सीधी पलंग पर नहीं पड़नी चाहिए.
– फेंगशुई में कछुए को शुभ माना जाता है. इसे घर में रखने से धन-दौलत व सुख-समृद्धि बनी रहती है. इसे अपने घर या ऑफिस की उत्तर दिशा में रखें. ध्यान रहे, कछुए को जब भी रखें, तो उसका चेहरा अंदर की ओर होना चाहिए, तभी दिशा शुभ होगी. इसे कभी जोड़े में न रखें.
– फेंगशुई से वास्तु दोष निवारण में कछुआ अहम् भूमिका निभाता है और यदि आपके घर में कछुआ है, तो समझ लीजिए आप बीमारी व शत्रुओं से दूर ही रहेंगे.
– परिवार की ख़ुशहाली व स्वास्थ्य के लिए पूरे परिवार की फोटो लकड़ी के फ्रेम में जड़वाकर घर की पूर्व दीवार पर लगाएं.
– लिविंग रूम में जहां घर के सदस्य आमतौर पर इकट्ठा होते हैं, वहां बांस का पौधा रखना चाहिए. पौधे को लिविंग रूम के पूर्व कोने में गमले में रखें.
– बेडरूम में पौधा नहीं रखना चाहिए, पर बीमार व्यक्ति के कमरे में फ्रेश फ्लावर्स रख सकते हैं. लेकिन इन फूलों को रात को कमरे से हटा दें.
– मानसिक शांति के लिए चंदन की अगरबत्ती जलाएं. इससे मानसिक बेचैनी कम हो जाती है.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़े: चाहते हैं बच्चों की तरक्क़ी तो वास्तु के अनुसार सजाएं कमरा

यह भी पढ़े: करियर में कामयाबी के लिए इफेक्टिव वास्तु ट्रिक्स

[amazon_link asins=’B00L2BRYZK,B072L43YDG,B078GC787C,B077LRYBYP’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’d99c172a-ea2e-11e7-ae47-552018496668′]