जानिए वज़न कम न होने के 15+ कारण (Unable To Lose Weight, Know 15+ Reasons)

आपका सहकर्मी दिनभर मुंह चलाता रहता है, आपका दोस्त हफ़्ते में चार दिन जंक फूड खाता है और एक आप हैं, जो लंच में सलाद और शाम की चाय के साथ चने चबा-चबाकर थक गए हैं. इतना ही नहीं, एक्सरसाइज़ करने के साथ-साथ आप ऑफिस की सीढ़ियां भी बिना भूले चढ़ते हैं. फिर भी आपका वज़न टस से मस नहीं हो रहा. आख़िर लाख कोशिशों के बावजूद भी आपका मोटापा कम क्यों नहीं हो रहा? आइए, वजहें तलाशते हैं.

Lose Weight

आप खाने का ट्रैक नहीं रखते
अगर आप वज़न कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो इस बारे में जानकारी होना बहुत ज़रूरी है. बहुत से लोगों को इस बात का एहसास ही नहीं होता कि वे आख़िरकार कितना खा रहे हैं? अध्ययनों से यह सिद्ध हो चुका है कि अपने खानपान का हिसाब रखने से वज़न कम करने में आसानी होती है. जो लोग फूड डायरी बनाते हैं या अपने खाने की पिक्चर क्लिक करते हैं, वे ऐसा न करने वालों की तुलना में ज़्यादा जल्दी वज़न कम करते हैं.

आप पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन ग्रहण नहीं करते
वज़न कम करने में प्रोटीन की अहम् भूमिका होती है. प्रोटीन का सेवन करने से मेटाबॉलिज़्म बढ़ता है. इतना ही नहीं, प्रोटीन का सेवन करने से शरीर में भूख को बढ़ाने वाले हार्मोन ग्लेरिन का स्राव कम हो जाता है, जिससे खाने की इच्छा कम होती है और हम फालतू की चीज़ें नहीं खाते.

आप ज़्यादा कैलोरीज़ ग्रहण करते हैं
ज़्यादातर लोगों को वज़न कम करने में सिर्फ़ इसलिए परेशानी होती है, क्योंकि वे जाने-अनजाने में ज़्यादा कैलोरीज़ ग्रहण करते हैं, इसलिए डायट फूड के नाम पर कुछ भी खाने के नाम पर पहले चेक कर लें कि उस खाद्य पदार्थ में कितनी कैलोरीज़ हैं? इससे वज़न कम करने में आपको आसानी होगी.

पर्याप्त मात्रा में फाइबर नहीं लेते हैं
खाने की मात्रा के साथ-साथ उसकी गुणवत्ता पर ध्यान देना भी बहुत ज़रूरी है. हेल्दी खाना खाने से सेहत भी अच्छी रहती है और भूख भी कम लगती है. फाइबर युक्त भोजन ग्रहण करने से प्रोसेस्ड फूड की तुलना में ज़्यादा समय तक पेट भरा रहता है.

आप सही तरी़के से एक्सरसाइज़ नहीं करते
या तो आप बहुत ज़्यादा एक्सरसाइज़ कर रहे हैं या फिर बहुत कम. वज़न कम करने के लिए अपने वर्कआउट प्लान में सभी तरह के एक्सरसाइज़ेज़, जैसे-योग, कार्डियो, वेट ट्रेनिंग इत्यादि मिक्स करें. शरीर का मेटाबॉलिज़्म बढ़ाने के लिए वेट ट्रेनिंग बहुत ज़रूरी है.

Lose Weight
आप ज़्यादा हेल्थ फूड खाते हैं
लोगों को लगता है कि हेल्थ फूड के नाम पर वे जितना चाहे, खा सकते हैं, पर ऐसा बिल्कुल नहीं है. हेल्दी खाने का मतलब यह नहीं है कि आपको मेवे, फल इत्यादि खाने की खुली छूट है. वज़न कम करना है तो हर चीज़ संतुलित मात्रा में ही खानी चाहिए, क्योंकि हेल्दी फूड्स में भी कैलोरीज़ होती हैं. अगर आप ज़्यादा कैलोरीज़ लेंगे तो आपका वज़न बढ़ेगा ही, कम नहीं होगा.

आप सही तरी़के से खाना नहीं चबाते
खाने को तब तक चबाना चाहिए, जब तक वह लिक्विड न बन जाए. इससे पाचन तंत्र भी ठीक रहता है और वज़न कम होने में भी मदद मिलती है.

आप शक्कर का सेवन ज़्यादा करते हैं
अध्ययनों से इस बात की पुष्टि हुई है कि मीठे पेय पदार्थों का सेवन करने से तेज़ी से वज़न बढ़ता है. एक ग्लास जूस में कई फलों जितना शक्कर होता है, इसलिए डायट फूड के नाम पर बेचे जाने वाले कोल्ड ड्रिंक्स और जूसेज़ का बेधड़क सेवन करने से पहले दो बार सोचें.

आपको पर्याप्त नींद नहीं मिल रही है
नींद हमारे शरीर की मरम्मत करता है. जब हमारे शरीर को आराम मिलता है, तभी वह सही तरी़के से अपना काम कर पाता है, इसलिए शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छी नींद लेना बहुत ज़रूरी है. अध्ययनों से सिद्ध हुआ है कि जो लोग सही तरी़के से नहीं सोते, उनके मोटे होने की अशंका ज़्यादा होती है.

कार्बोहाइड्रेट की मात्रा घटा नहीं रहे
अगर आपको ज़्यादा वज़न कम करना है या आप टाइप2 डायबिटीज़ या प्रीडायबिटीज़ ग्रसित हैं तो आपको अपने खाने में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम करनी होगी. अध्ययनों से इस बात की पुष्टि हुई है कि लो फैट की तुलना में लो कार्ब डायट से वज़न ज़्यादा तेज़ी से कम होता है.

आप बार-बार खाते हैं
लोगों को लगता है कि बार-बार थोड़ा-थोड़ा खाने से मेटाबॉलिज़्म बढ़ता है व वज़न तेज़ी से कम होता है, जबकि अध्ययनों से इस बात की पुष्टि हुई है कि खाने की फ्रिक्वंेंसी बढ़ाने से वज़न कम नहीं होता.

आप पानी कम और ज़्यादा अल्कोहल पीते हैं
पानी पीने से वज़न कम करने में आसानी होती है. वेट लॉस पर 12 हफ़्तों तक किए गए एक अध्ययन से यह बात सिद्ध हुई है कि जो लोग खाना खाने के आधे घंटे पहले आधा लीटर पानी पीते हैं, उनका वज़न ऐसा न करनेवालों की तुलना में 44 फ़ीसदी तेज़ी से कम होता है. इतना ही नहीं, पानी पीने से कैलोरीज़ बर्न करने में भी मदद मिलती है, जबकि अल्कोहल भी वेट लॉस की प्रक्रिया में बाधा उप्पन्न करता है. आपको बता दें कि अल्कोहल में प्रति ग्राम 7 कैलोरीज़ होती हैं, इसलिए ज़्यादा अल्कोहॉलिक ड्रिंक्स का सेवन करने से वज़न तेज़ी से बढ़ता है. अगर आपको अल्कोहल का शौक़ है तो बीयर या वाइन की बजाय वोदका को प्राथमिकता दें.

बीमारी हो सकती है वजह
कुछ बीमारियों, जैसे-हाइपोथायरॉइडिज़्म, पॉलिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम इत्यादि के कारण भी वज़न कम करने में परेशानी होती है. इसके अलावा कुछ दवाइयां भी मोटापा बढ़ाती है.

आपकी उम्मीदें अव्यावहारिक हैं
वज़न घटाना एक धीमी प्रक्रिया है. कुछ लोग शुरुआत में तेज़ी से वज़न कम करते हैं, लेकिन बाद में यह प्रकिया धीमी हो सकती है. हफ़्ते में 1 से 2 किलो वज़न घटाया जा सकता है. कुछ लोग अव्यावहारिक लक्ष्य रख लेते हैं, जिसे प्राप्त करना मुश्किल होता है, इसलिए ऐसी उम्मीदें न रखें, क्योंकि हर कोई मॉडल या बॉडीबिल्डर की तरह नहीं दिख सकता.

आपको पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी नहीं मिल रहा
शरीर में विटामिन डी की कमी होने पर भी वज़न बढ़ता है और मेटाबॉलिक प्रॉसेस भी कम करने में परेशानी होती है. अतः अगर आप ज़्यादा समय तक घर के अंदर या ऑफिस में रहते हैं तो डॉक्टर से मिलकर विटामिन डी चेक करवा लें.

आप दिनभर बैठे रहते हैं
यदि आप ज़्यादा समय तक कुर्सी पर बैठे-बैठे निकाल देते हैं, तो यह आपकी वज़न कम करने की प्रक्रिया कम कर सकता है. अतः अगर आपका बैठने वाला जॉब है तो हर एक घंटे में थोड़ी देर टहलें.

ये भी पढ़ेंः मोटापा कम करने के १० योगासन (10 Yoga For Weight Loss Fast And Naturally)