पर्सनल प्रॉब्लम्स: बार-बार वेजाइनल इंफेक्शन क्यों होता है? (Personal Problems: what to do for recurrent vaginal infection ?)

मैं 43 वर्षीया महिला हूं. मैं  बार-बार होनेवाले वेजाइनल इंफेक्शन (Vaginal infection) से परेशान हूं. एक साल पहले डॉक्टर ने मुझे एक वेजाइनल टैबलेट दी थी, जब उसका इस्तेमाल करती हूं, तो ठीक हो जाता है, पर कुछ दिनों बाद वापस से डिस्चार्ज और खुजली शुरू हो जाती है. साथ ही यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन भी हो जाता है. कृपया, बताएं कि इन टैबलेट्स का इस्तेमाल मैं कितने दिनों में कर सकती हूं?
– रुचिका मल्होत्रा, जयपुर.
जैसा कि आपने बताया आप काफ़ी समय से इस समस्या से परेशान हैं, ऐसे में सबसे पहले आपको अपना ब्लड शुगर लेवल चेक करवा लेना चाहिए, क्योंकि आपके बार-बार यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन और वेजाइनल इंफेक्शन (vaginal infection) के पीछे कोई और कारण हो सकता है. इसलिए टैबलेट लेने की बजाय पहले अपना टेस्ट करवाएं.

यह भी पढ़ें: शारीरिक संबंध के बाद १-२ दिन तक ब्लीडिंग क्यों होती है?

 vaginal infection
मैं 16 वर्षीया कॉलेज स्टूडेंट हूं. मुझे बहुत ज़्यादा वेजाइनल डिस्चार्ज होता है. कई बार तो व्हाइट ड्रेस पहनना मेरे लिए मुसीबत बन जाता है. मेरी एक सहेली ने गायनाकोलॉजिस्ट से मिलने की सलाह दी है, पर मुझे डॉक्टर से मिलने में झिझक हो रही है. कृपया, मेरी मदद करें.
– कारुण्या महाजन, पुणे.
लड़कियों में वेजाइनल डिस्चार्ज होना सामान्य बात है, पर मेंस्ट्रुअल साइकल के मुताबिक़ हर महिला का वेजाइनल डिस्चार्ज भी अलग-अलग होता है. अगर डिस्चार्ज के कारण खुजली, जलन या बदबू नहीं आ रही है, तो डरने की कोई बात नहीं है. कॉटन अंडरगार्मेंट्स पहनें. बहुत ज़्यादा सेंटेड सोप इस्तेमाल न करें. प्राइवेट पार्ट को अच्छी तरह क्लीन करें और सूखा रखने की कोशिश करें. अगर फिर भी आपकी समस्या कम नहीं होती, तो आपको डॉक्टर से मिलना ही होगा.

यह भी पढ़ें: इन 10 Daily Habits से बढ़ता है मोटापा

व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या के 5 आसान घरेलू उपाय- देखें वीडियो: 

 

ज़रूरी नहीं आपको वेजाइनल इंफेक्शन हो!

वेजाइनल इंफेक्शन को लेकर महिलाओें में काफ़ी भ्रांतियां हैं. अगर आपको सामान्य से थोड़ा ज़्यादा डिस्चार्ज हो रहा है, तो ज़रूरी नहीं कि वो इंफेक्शन हो. पीरियड्स के क़रीब 10-15 दिनों बाद एग व्हाइट डिस्चार्ज होता है, जो कुछ दिनों में बदलकर गाढ़ा हो जाता है. अगर आपको फंगल इंफेक्शन होगा, तो वह गाढ़ा होगा और साथ में खुजली भी होगी. हाइजीन का पूरा ख़्याल रखें और बहुत ज़्यादा सोप के इस्तेमाल से बचें. वेजाइना को क्लीन करने के लिए माइल्ड सोप या इंटीमेट सोप का इस्तेमाल करें. अगर आपको डायबिटीज़ है और आप गर्भनिरोधक गोलियां ले रही हैं, तो इसकी संभावना बढ़ जाती है. ब्लड शुगर कंट्रोल में रखें, इससे बार-बार इंफेक्शन भी नहीं होगा. हमेशा कॉटन अंडरगार्मेंट्स ही पहनें.
यह भी पढ़ें:फैलोपियन ट्यूब्स न होने पर भी क्या मैं मां बन सकती हूं?
 
डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected] 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies