पर्सनल प्रॉब्लम्स: फैलोपियन ट्यूब्स न होने पर भी क्या मैं मां बन सकती हूं? (Can I Get Pregnant Without Fallopian Tubes?)

मैं 27 वर्षीया महिला हूं. मेरी शादी को चार साल हो गए हैं, पर अभी तक मैं कंसीव नहीं कर पाई हूं. डायग्नॉस्टिक लैप्रोस्कोपिक जांच में पता चला कि मेरे यूटेरस और ओवरीज़ तो नॉर्मल हैं, पर फैलोपियन ट्यूब्स नहीं हैं. क्या ऐसा हो सकता है? डॉक्टर ने बच्चे के लिए आईवीएफ की सलाह दी है. मैं क्या करूं, कृपया मार्गदर्शन करें. 
– दीपा नाइक, नागपुर.

फैलोपियन ट्यूब्स का न होना एक दुर्लभ अवस्था है, जो बहुत ही कम महिलाओं को होती है. इस समय आपको सकारात्मक सोच रखनी चाहिए कि आपका गर्भाशय और ओवरीज़ नॉर्मल हैं और आप अपने बच्चे को जन्म दे सकती हैं. दरअसल, आप हर महीने ओव्यूलेशन से गुज़रती हैं, पर ट्यूब्स न होने के कारण कंसीव नहीं कर पातीं.

ये भी पढें: बार-बार वेजाइनल इंफेक्शन क्यों होता है?

Pregnant Without Fallopian Tubes
18 साल की उम्र में मेरी शादी हो गई, पर शादी के बाद मेरे और मेरे पति के बीच शारीरिक संबंध नहीं बन पाए. जांच के बाद पता चला कि मेरा गर्भाशय व ट्यूब्स नहीं हैं, जबकि ओवरीज़ नॉर्मल हैं. शायद यही वजह थी कि बाकी लड़कियों की तरह मेरे पीरियड्स कभी नहीं आए. क्या किसी सर्जरी से यह ठीक हो जाएगा? क्या मैं कभी मां
बन पाऊंगी?
– जानकी पराशर, मेरठ.

आपकी स्थिति जानकर दुख हुआ. आमतौर पर ऐसी समस्याओं के बारे में टीनएज के दौरान ही पता लग जाता है, जब उन्हें बाकी लड़कियों की तरह पीरियड्स नहीं आते. ऐसे मामलों में अक्सर यूटेरस इतना छोटा होता है कि सही तरी़के से क्रियाशील नहीं होता. चूंकि आपकी ओवरीज़ हैं, इसलिए आप अपने बायोलॉजिकल बच्चे की मां बन सकती हैं, पर यूटेरस न होने के कारण आपको सरोगेट मदर की मदद लेनी पड़ेगी.

ये भी पढें: क्या कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स से सर्वाइकल कैंसर हो सकता है?

क्या है मुलेरियन एप्लेसिया?

मुलेरियन एप्लेसिया ऐसी अवस्था है, जो महिलाओं के रिप्रोडक्टिव सिस्टम को प्रभावित करती है. इसमें यूटेरस, फैलोपियन ट्यूब्स, सर्विक्स या वेजाइना का ऊपरी हिस्सा पूरी तरह विकसित नहीं होता. यह एक असामान्य अवस्था है, पर इसे दुर्लभ नहीं कह सकते, क्योंकि लगभग 5000 में से 1 नवजात बच्ची इस समस्या के साथ पैदा होती है. इसके कारणों के बारे में अभी तक कुछ साफ़-साफ़ पता नहीं चल पाया है, पर इसे आनुवांशिकता से जोड़कर देखा जा सकता है. सर्जरी ही इसका सबसे सही इलाज है. इन मामलों में लड़कियों को पारिवारिक व भावनात्मक सपोर्ट की बहुत ज़रूरत होती है, क्योंकि अपनी सहेलियों से अलग होने के कारण इनमें आत्मविश्‍वास की कमी होती है.

 

rajeshree-kumar-167x250

डॉ. राजश्री कुमार

स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

हर बीमारी का आयुर्वेदिक उपचार  उपाय जानने के लिए इंस्टॉल करे मेरी सहेली आयुर्वेदिक होम रेमेडीज़ ऐप