सुबह उठते ही क्यों खाएं कच्चा लहसुन? (Why You Should Start Your Day With Raw Garlic And Water?)

आमतौर पर हम लहसुन (Garlic) का इस्तेमाल दाल में तड़का लगाने या ग्रेवी बनाने के लिए करते हैं. लहसुन किसी भी बेस्वाद सब्ज़ी के स्वाद को जानदार बना देता है. लेकिन लहसुन में ऐसे गुणकारी तत्व मौजूद होते हैं, जो आपको कई बीमारियों से दूर रखते हैं. लहसुन एक वंडर फूड है. आयुर्वेद में तो लहसुन को औषधि माना गया है. सुबह-सवेरे खाली पेट लहसुन खाने से सबसे ज़्यादा फ़ायदा होता है. यहां पर हम आपको इन्हीं फ़ायदों के बारे में बता रहे हैं.

Raw Garlic

दिल रहेगा सेहतमंद
लहसुन दिल से संबंधित समस्याओं को दूर करता है. लहसुन खाने से खून का जमाव नहीं होता है और हार्ट अटैक होने का ख़तरा कम हो जाता है. लहसुन और शहद को मिक्स करके खाने से दिल तक जाने वाली धमनियों में जमा वसा निकल जाता है, जिससे ब्लड सर्कुलेशन ठीक तरह दिल तक पहुंचता है.

हाई बीपी से छुटकारा
लहसुन खाने से हाई बीपी में आराम मिलता है. दरअसल, लहसुन ब्लड सर्कुलेशन को कंट्रोल करने में काफ़ी मददगार है. हाई बीपी की समस्या से जूझ रहे लोगों को रोज़ाना लहसुन खाने की सलाह दी जाती है.

पेट की बीमारियां छूमंतर
पेट से जुड़ी बीमारियों, जैसे- डायरिया और कब्ज़ की रोकथाम में लहसुन बेहद उपयोगी है. पानी उबालकर उसमें लहसुन की कलियां डाल दें. फिर खाली पेट इस पानी को पीने से डायरिया और कब्ज़ से आराम मिलेगा. यही नहीं, लहसुन शरीर के अंदर मौजूद जहरीले पदार्थों को बाहर निकालने का काम भी करता है.

डाइजेशन होगा बेहतर
लहसुन में आपके डाइजेस्टिव सिस्टम को ठीक करने की ताक़त होती है. खाली पेट लहसुन की कलियां चबाने से डाइजेशन अच्छा रहता है और भूख भी खुलती है.

टेंशन से छुट्टी
आपको यह जानकर हैरानी होगी कि लहसुन टेंशन को भगाने में भी मददगार है. कई बार हमारे पेट के अंदर ऐसे एसिड बनते हैं, जिससे हमें घबराहट होने लगती है. लहसुन इन एसिड को बनने से रोकता है. लहसुन खाने से सिरदर्द और हाइपर टेंशन में काफ़ी आराम मिलता है.

दांत दर्द में आराम
लहसुन में एंटीबैक्टीरियल और दर्द निवारक गुण मौजूद होते हैं. अगर दांत में दर्द है तो लहसुन की एक कली पीसकर दर्द वाली जगह पर लगा दें. कुछ ही देर में दांत दर्द से आराम मिल जाएगा. यही नहीं, खाली पेट लहसुन का सेवन करने से नसों में झनझनाहट से भी आराम मिलता है.

सर्दी-खांसी में राहत
लहसुन सांस से संबंधित बीमारियों की रोकथाम में भी सहायक है. यह सर्दी-जुकाम, खांसी, अस्थमा, निमोनिया, ब्रोंकाइटिस आदि के इलाज में प्राकृतिक दवा की तरह काम
करता है.

ये भी पढ़ेंः कब्ज़ से छुटकारा पाने के आसान व असरदार घरेलू उपाय (Home Remedies To Get Rid Of Constipation)