आंखों की रोशनी बढ़ाने के 9 होम रेमेडीज़ (Top 9 Home Remedies For Better Eyesight)

 

आंख से कम दिखाई देना ही नज़र की कमज़ोरी कहलाता है. इसी कमज़ोरी के कारण लोगों को चश्मा लगाने के लिए मजबूर होना पड़ता है. लेकिन कुछ घरेलू नुस्ख़े ऐसे हैं, जिनके प्रयोग से आंखों की रोशनी ही नहीं बढ़ती, बल्कि चश्मा भी उतर जाता है.

* इलायची के चूर्ण और शक्कर को समान मात्रा में लेकर उसमें एरंडी का तेल मिलाकर चार ग्राम की मात्रा में प्रतिदिन सुबह खाने से 40 दिनों में नज़र की कमज़ोरी दूर हो जाती है. इससे आंखों में ठंडक आती है और नेत्र ज्योति बढ़ती है.

* हरा धनिया पीसकर उसका रस निकालकर दो-दो बूंद आंखों में प्रतिदिन डालने से आंखों की रोशनी बढ़ती है.

* रात को सोते समय हफ़्ते में तीन दिन दूध में रुई का फाहा भिगोकर आंखों पर रखकर पट्टी बांध लें. इसी तरह कभी-कभी आंखों में दूध (दूध को गर्म करने के बाद ठंडा कर लें) की दो-तीन बूंदें डालने से आंखों की शीतलता बनी रहती है और आंखों की रोशनी कभी कमज़ोर नहीं होती.

* 10 मि.ली. सहिजन का रस और 10 ग्राम शहद- इन दोनों के मिश्रण से काजल बनाएं. यह काजल आंखों के लिए बहुत फ़ायदेमंद है. इससे आंखों की ज्योति बढ़ती है और आंखें सदैव निरोगी रहती हैं.

* यदि आंखों की रोशनी धुंधली होती जा रही हो, तो संतरे के रस में पिसी हुई कालीमिर्च व सेंधा नमक मिलाकर सुबह-शाम सेवन करें. इसका सेवन नियमित तीन महीने तक करना चाहिए.

यह भी पढ़े: तरबूज़ के 13 अमेज़िंग हेल्थ बेनिफिट्स

यह भी पढ़े: हल्दी के 19 चमत्कारी हेल्थ बेनिफिट्स 

* बादाम की 8-10 गिरी रात को पानी में भिगो दें. सुबह उन्हें खाकर ऊपर से गाय का दूध पीएं. कमज़ोर नज़र के लिए लाभदायक होने के साथ-साथ इस नुस्ख़े से बल-बुद्धि की वृद्धि भी होती है.

* रात को किसी बर्तन में दो चम्मच त्रिफला चूर्ण भिगोकर रख दें. सुबह उठने के साथ उसे स्वच्छ कपड़े से छानकर उस पानी से आंखें धोएं या उस पानी से आंखों पर छींटें मारें. इससे आंखों की रोशनी वृद्धावस्था में भी निर्मल और तेज़ बनी रहती है.

* एक कप गाजर के रस में 1/4 कप पालक या चौलाई का रस मिलाकर सूर्योदय और सूर्यास्त के समय नियमित रूप से सेवन करने से आंखों के लिए कभी चश्मे की ज़रूरत नहीं होगी.

* नीम की पत्तियों को पीसकर रुई की बाती पर लपेटें और उन्हें पंखे की हवा में सुखा लें. फिर सरसों के तेल और कपूर के साथ इस बाती को जलाकर काजल बनाएं. यह काजल आंखों को निरोगी रखता है.

यह भी पढ़े: हाई ब्लड प्रेशर के लिए नेचुरल आयुर्वेदिक घरेलू नुस्ख़े

आंखों से पानी गिरना

* 25-30 मुनक्का रात को पानी में भिगो दें. सुबह उसे खाकर ऊपर से वह पानी पी जाएं.

* राई को शहद में मिलाकर सूंघने से आंखों से निरंतर पानी बहना रुक जाता है.

* रात को पांच कालीमिर्च चबाकर ऊपर से एक ग्लास गर्म दूध का सेवन करें. दो-तीन दिन में ही आराम हो जाएगा.

* दो छोटी इलायची पीसकर रात को एक ग्लास दूध में उबालकर सेवन करने से लाभ होता है.

* रात को गरम पानी में चुटकीभर नमक डालकर पीएं.

* धनिया-पुदीने की चाय में चुटकीभर नमक डालकर पीएं.

यह भी पढ़े: पेट संबंधी समस्याओं के घरेलू उपचार

– मूरत गुप्ता

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें-  Dadi Ma Ka Khazana

[amazon_link asins=’B01D6OQ88O,B00JFOLHEK,0285635085,B072XBNTXN’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’b297d6a3-d4f9-11e7-a303-357318d8026b’]