हाई ब्लड प्रेशर के लिए नेचुरल आयुर्वेदिक घरेलू नुस्ख़े (Natural Ayurvedic Home Remedies For High Blood Pressure)

 

हाई ब्लड प्रेशर के लिए नेचुरल आयुर्वेदिक घरेलू नुस्ख़े
शरीर में जब रक्त का दबाव सामान्य से अधिक हो जाता है तो उसे हाई ब्लड प्रेशर यानी उच्च रक्तचाप कहा जाता है. मानसिक तनाव, चिंता, पति-पत्नी में मनमुटाव, आर्थिक चिंताएं आदि हाई ब्लड प्रेशर के कारण हैं.
लक्षण- सुबह सोकर उठने पर सिर तथा गर्दन के पिछले भाग में दर्द रहता है, जो थोड़े समय बाद ठीक हो जाता है. कभी-कभी सिर चकराना, चक्कर आना, थकान आदि लक्षण भी पाए जाते हैं. हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित व्यक्ति की आंखों की रोशनी भी कम होने लगती है. हाई ब्लड प्रेशर के कारण जब हृदय को अधिक कार्य करना पड़ता है, तो हार्ट फेल होने का ख़तरा बढ़ जाता है. चलने पर सांस फूलने जैसे लक्षण भी पाए जाते हैं.

* आधा कप लौकी का रस और आधा कप पानी दोनों को एक साथ मिलाकर दिन में तीन बार पीने से हाई ब्लड प्रेशर सामान्य होता है.

* हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होने पर कुछ दिनों तक लगातार आधा चम्मच मेथीदाना का पाउडर पानी के साथ लेने से लाभ होता है.

* एक ग्लास पानी में एक नींबू निचोड़कर हर रोज़ सुबह पीने से हाई ब्लड प्रेशर ठीक रहता है.

* छाछ (मट्ठा) ब्लड प्रेशर में, चाहे वह हाई हो या लो, अत्यंत उपयोगी घरेलू नुस्ख़ा है. भोजन के साथ सुबह-शाम छाछ का सेवन करने से ब्लड प्रेशर सामान्य रहता है.

यह भी पढ़ें: गुणकारी गाजर के 13 हेल्थ बेनीफिट्स

* 5 पत्तियां तुलसी और 2 पत्ते नीम के कुछ दिनों तक सेवन करना भी फ़ायदेमंद है.

* दो कली लहसुन की खाली पेट लेने से हाई ब्लड प्रेशर नॉर्मल होने में मदद मिलती है.

* तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पीने से भी हाई ब्लड प्रेशर में लाभ होता है.

* एक कप लौकी का रस सुबह खाली पेट लेने से हाई ब्लड प्रेशर में फ़ायदा होता है.

* एक चम्मच प्याज़ के रस में 2 चम्मच शहद मिलाकर सुबह-शाम खाली पेट लें.

यह भी पढ़ें: हृदय रोग के घरेलू उपाय

* हाई ब्लड प्रेशर के मरीज़ों को भोजन में कच्चा प्याज़ हर रोज़ खाना चाहिए.

हाई ब्लड प्रेशर में लाभदायक आलू- आलू को स्टार्चयुक्त माना जाता है, इसमें 2.5 प्रतिशत प्रोटीन होता है. खाद्य विशेषज्ञों का मानना है कि आलू उन लोगों के लिए अच्छा आहार है, जो अपना ब्लड प्रेशर सामान्य रखना चाहते हैं. जब आलू को उबाला जाता है, तो उसका छिलका हल्का-सा नमक का अंश सोख लेता है (ध्यान रहे, हाई ब्लड प्रेशर के रोगी को डॉक्टर नमक न खाने या कम खाने की सलाह देते हैं). इसी कारण इसे सॉल्ट फ्री डायट में शामिल किया जा सकता है. यह पोटैशियम से परिपूर्ण होता है, पर सोडियम सॉल्ट युक्त नहीं होता. इसमें मौजूद मैग्नीशियम हाई ब्लड प्रेशर को कम करता है. इसके अलावा मैग्नीशियम किडनी के मुलायम टिश्यू को कैल्शियम युक्त होने से और पित्ताशय में पथरी बनने से रोकता है.

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें- Dadi Ma Ka Khazana