डायट कोक न पीने के 7 कारण ( 7 Reasons To Ditch Diet Coke)

अगर आपको लगता है कि आप कैलोरीज़ और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं की फ्रिक किए बिना आराम से डायट कोक (Reasons To Ditch Diet Coke) का आनंद उठा सकते हैं, तो आप बिल्कुल ग़लत हैं. सेहत के प्रति सर्तक रहनेवाले लोगों के बीच डायट कोक और डायट पेप्सी बेहद लोकप्रिय है. बहुत-से लोगों को लगता है कि ये सॉफ्ट ड्रिंक का डायट वर्ज़न है और इनका सेवन करके वे शक्कर, केमिकल इत्यादि से बच सकते हैं, लेकिन अफ़सोस की बात है कि ऐसा कुछ नहीं है. सच्चाई यह है कि डायट कोक, सामान्य कोक की तरह ही नुक़सानदेय होता है. विश्वास नहीं हो रहा है ना! आइए जानते हैं कि यह किस हमारे शरीर को क्षति पहुंचाता है.

Reasons To Ditch Diet Coke

 

वज़न बढ़ता है
यदि आपको लगता है कि वज़न की चिंता किए बिना आप आराम से कोक (Reasons To Ditch Diet Coke) के मज़े ले सकते हैं तो आपको सोच बिल्कुल ग़लत है. वास्तव में डायट कोक पीने से भी वज़न बढ़ता है. हाल ही में हुए शोधों से यह सिद्ध हुआ है कि डायट सोडा पीनेवाले का वज़न तेज़ी से बढ़ता है. वास्तव में डायट सोडा पीने वालों के कमर की साइज़ न पीने वालों की तुलना में 70 ज़्यादा होती है.

एस्पार्टेम आपकी जान ले सकता है
डायट कोक को मीठा बनाने के लिए शक्कर की जगह एस्पार्टेम और आर्टिफिशियल शुगर मिलाया जाता है. वास्तव में आर्टिफिशियल स्वीटनर शक्कर से ज़्यादा हानिकारक होता है. आर्टिफिशियल शुगर के 90 से ज़्यादा साइड इफेक्ट्स हैं. लंबे समय तक इसका सेवन से सिरदर्द, थकान, डिप्रेशन, कैंसर जैसी बीमारियां हो सकती हैं.

इसमें पौष्टिक तत्व नहीं होता
डायट कोक में कोई भी पोषक तत्व नहीं पाए जाते जाते हैं. कहने का अर्थ यह है कि इसे पीने से कोई फ़ायदा नहीं होता है. जब इसका सेवन करने से फ़ायदा नहीं मिलता, तो इससे बेहतर है कि पानी ही पीया जाए.

दांत खराब हो सकते हैं
ज़्यादा सोडा का सेवन करने से दांतों पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है. हाल ही हुए एक अध्ययन में कोकिन यूज़र्स और ज़्यादा डायट कोक(Reasons To Ditch Diet Coke) का सेवन करनेवाले लोगों के मुंह का निरीक्षण किया. जिसमें पाया गया कि दोनों चीज़ों का सेवन करने वालों के दांत खराब हो गए थे. डायट कोक में इस्तेमाल किया जानेवाले सिट्रिक एसिड धीरे-धीरे टूथ इनैमल को नष्ट कर देता है.

हड्डियां कमज़ोर हो जाती हैं
सोडा का सेवन करने से ऑस्टियोपोरोसिस होने या हड्डियां कमज़ोर होने का ख़तरा रहता है. इससे बचने का सबसे आसान तरीक़ा है कि डायट कोक का सेवन बंद कर दिया जाय. 60 से अधिक उम्र वाली महिलाओं को पुरुषों की तुलना में ऑस्टियोपोरोसिस होने का ख़तरा अधिक होता है और डायट कोक पीने से यह ख़तरा बढ़ जाता है. जो महिलाएं नियमित रूप से सॉफ्ट ड्रिंक के रूप में सोडा का सेवन करती हैं, कैल्शियम और विटामिन डी सप्लिमेंट लेने के बावजूद उनकी बोन मिनरल डेंसिटी कम होती है.

हार्ट अटैक का ख़तरा बढ़ जाता है
क़रीब 2000 लोगों पर हुए एक अध्ययन से इस बात की पुष्टि हुई है कि जो लोग नियमित रूप से डायट सोडा का सेवन करते हैं, उन्हें हार्ट अटैक और स्ट्रोक आने का ख़तरा ज़्यादा होता है.

अस्थमा की समस्या
डायट सोडा सहित सभी प्रकार के सोडा में सोडियम बेन्ज़ोएट नामक प्रिज़र्वेटिव होता है. अध्ययनों से यह सिद्ध हुआ है कि इस केमिकल के कारण अस्थमा के साथ-साथ स्किन रैशेज़ व खुजली की समस्या हो सकती है.

ये भी पढ़ेंः ज़्यादा नमक खाने के साइड इफेक्ट्स