फाइनेंशियली कितनी फिट हैं आप? (Are You Financially Fit?)

Financially Fit

हेल्दी फाइनेंशियल लाइफ के लिए ज़रूरी है कि आप सुरक्षित भविष्य को ध्यान में रखते हुए निवेश करें. निवेश करने की यह आदत इस बात की ओर संकेत करती है कि आर्थिक रूप से आपकी वित्तीय स्थिति कितनी मज़बूत है. हम यहां पर फाइनेंशियल क्विज़ के माध्यम से आपकी वित्त संबंधी आदतों के बारे में कुछ सवाल पूछ रहे हैं. आपके जवाब बताएंगे कि फाइनेंशियली आप कितनी स्ट्रॉन्ग हैं.

मेरा इमर्जेंसी फंड मेरे सभी ख़र्चों को पूरा करेगा-
ए. 6 महीने या उससे अधिक.
बी. 3-5 महीने.
सी. 1-2 महीने.
डी. इमर्जेंसी फंड क्या होता है?

मैं बचत कर सकती हूं-
ए. अपनी आय का 50% से अधिक.
बी. अपनी आय का 25-50% तक.
सी. अपनी आय का 10-25% तक.
डी. मैं अपनी वर्तमान आय का बहुत थोड़ा हिस्सा ही बचत कर पाती हूं.

मेरे ज़रूरी मासिक बिलों का भुगतान-
ए. ऑटोमेटिकली मेरे बैंक अकाउंट से डेबिट हो जाते हैं.
बी. धीरे-धीरे महीने के अंत तक भुगतान कर देती हूं.
सी. अंतिम क्षणों में भुगतान करती हूं.
डी. अमूमन, मैं भुगतान की तारीख़ भूल जाती हूं.

यह भी पढ़ें:  फायनेंशियल प्लानिंग शादी से पहले और शादी के बाद

मुझ पर लोन का बोझ है-
ए. माफ़ कीजिए, मुझ पर कोई लोन नहीं है.
बी. रिपेमेंट के लिए मासिक आय के 30% से कम राशि का भुगतान करती हूं.
सी. मासिक आय का 40-50% राशि लोन के भुगतान में जाती है.
डी. अतीत में किए गए निवेश की मासिक किश्त के भुगतान का दायित्व है.

मैंने जीवन बीमा पॉलिसी ली है-
ए. मेरी वार्षिक आय से 8 गुना अधिक.
बी. मेरी वार्षिक आय से क़रीबन 1-2 गुना अधिक.
सी. मेरी वार्षिक आय से कम.
डी. मैंने कोई जीवन बीमा पॉलिसी नहीं ली है.

क्रेडिट कार्ड के बिलों का भुगतान-
ए. हर महीने पूरा भुगतान करती हूं.
बी. भुगतान करने में शायद ही कभी देरी की हो.
सी. साल में 1-2 बार देरी से भुगतान किया हो.
डी. अधिकतर देरी से भुगतान करती हूं, क्योंकि पूरी राशि का भुगतान एक साथ नहीं कर सकती.

मैं अपनी मंथली सेविंग्स में निवेश की राशि निकालती हूं-
ए. नियमित रूप से निकालती हूं.
बी. अमूमन निकाल ही लेती हूं.
सी. कभी-कभी निकालती हूं.
डी. कभी नहीं. बैंक में ही जमा करती हूं.

परिवार में मेडिकल इमर्जेंसी की स्थिति में सभी बिलों का रिटर्न मिल जाएगा-
ए. 5-10 लाख तक हेल्थ कवर के ज़रिए.
बी. मालिक/कंपनी द्वारा दिए गए मेडीक्लेम कवर के ज़रिए.
सी. अपने इमर्जेंसी फंड में से.
डी. मालूम नहीं, मैं कैसे इस फाइनेंशियल प्रॉब्लम से निपटूंगी.

मैं अधिकतर निवेश करती हूं-
ए. म्युचुअल फंड्स, जैसे- एसआईपी (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) के ज़रिए.
बी. सुरक्षित निवेश, जैसे- रिकरिंग डिपॉज़िट्स, फिक्स डिपॉज़िट्स और पोस्ट ऑफिस मंथली इन्कम प्लान्स आदि.
सी. लोकप्रिय कंपनियों के शेयर्स में निवेश करके.
डी. वित्तीय वर्ष के अंत तक टैक्स बचाकर.

मेरा अधिकतर मासिक ख़र्च होता है-
ए. ज़रूरी ख़र्चे, जैसे- किराया, राशन, बिलों का भुगतान आदि.
बी. बुनियादी ख़र्चे और आकस्मिक ख़र्चे.
सी. एंटरटेनमेंट, मूवी, शॉपिंग और बाहर डिनर के लिए जाना.
डी. मेरा सोचना है कि ख़र्च करने के लिए ही तो कमाते हैं.

मैं स्टॉक मार्केट में निवेश करती हूं-
ए. लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट से मिलनेवाले अतिरिक्त फंड को.
बी. अन्य निवेशों से मिलनेवाले सरप्लस कैश को.
सी. कभी नहीं. मैं उन जगहों पर निवेश नहीं करती, जहां पर जोख़िम की संभावना अधिक होती है.
डी. स्टॉक मार्केट में केवल तभी निवेश करती हूं, जब मार्केट की स्थिति अच्छी होती है.

यह भी पढ़ें: रिटायर्मेंट को बेहतर बनाने के लिए कहां करें निवेश?

मेरा परिवार मेरी वसीयत के बारे में जानता है-
ए. हर पांच साल में वसीयत अपडेट करती हूं, यदि ज़िंदगी में कोई बदलाव न आए तो.
बी. कुछ साल पहले लिखी थी.
सी. वसीयत तभी लिखूंगी, जब मैं रिटायरमेंट के क़रीब होऊंगी.
डी. वसीयत के बारे में मैंने अभी तक सोचा नहीं.

स्कोर कार्ड

सभी सवालों के अपने जवाब पर टिक करके कैलकुलेट करें.
ए. 3 पॉइंट्स
बी. 2 पॉइंट्स
सी. 1 पॉइंट्स
डी. 0 पॉइंट्स

16 या 16 से कम पॉइंट्स-
यदि आपके पॉइंट्स उपरोक्त स्कोर से कम आते हैं, तो इसका अर्थ है कि आपको अपने व अपने परिवार के भविष्य को सुरक्षित बनाने के लिए फाइनेंशियली स्ट्रगल करने की आवश्यकता है. भविष्य के लिए आपको बचत करने की बहुत ज़रूरत है.

16-24 के बीच-
यदि आपका स्कोर 16-24 के बीच में है, तो आपकी फाइनेंशियल फिटनेस औसत है. अपने परिवार के सुरक्षित भविष्य के लिए अपनी मनी सेविंग्स हैबिट्स को सुधारना होगा, ताकि कठिन परिस्थितियों में आपको पछताना न पड़े.

24-30 के बीच-
इसका अर्थ है कि आपकी फाइनेंशियल फिटनेस अच्छी है, लेकिन भविष्य के लिए और बचत करने की आवश्यकता है.

30 से अधिक-
आपकी फाइनेंशियल हेल्थ बहुत स्ट्रॉन्ग है, पर सिक्योर भविष्य के लिए ज़रूरी है कि आप समय-समय पर बचत करते रहें.

अधिक फाइनेंस आर्टिकल के लिए यहां क्लिक करें: FINANCE ARTICLES 

 – पूनम नागेंद्र शर्मा