रिटायर्मेंट को बेहतर बनाने के लिए कहां करें निवेश? (Top 5 Investment That will Make Your Retirement More Easy)

रिटायर्मेंट

जब तक नौकरी है, ज़िंदगी आसानी से कट जाती है. हर महीने अकाउंट में सैलरी आती है, जिससे आपकी लाइफ बेहतर तरी़के से कटती है. हर महीने का ख़र्च निकल जाता है और तो और आप किसी को उधार पैसे भी दे देते हो. कभी नया फोन, तो कभी नई कार भी ले लेते हैं ईएमआई पर, लेकिन तब का क्या होगा जब आपकी उम्र ढलने लगेगी और आपकी सैलरी नहीं रहेगी. अब तो पेंशन भी नहीं है. ऐसे में कैसे सर्वाइव करेंगे उन दिनों में आप. ये एक ऐसा सवाल है, जो समय रहते हर इंसान को ख़ुद से पूछ लेना चाहिए और उसका हल निकाल लेना चाहिए, ताकि आगे चलकर लाइफ इसी तरह से चलती रहे. रिटायर्मेंट के बाद भी ज़िंदगी इसी तरह से चलती रहे, इसके लिए इन जगहों पर करें निवेश.

पब्लिक प्रॉविडेंट फंड यानी PPF
पब्लिक प्रॉविडेंट फंड आम जीवन के लिए बहुत ज़रूरी है. रिटायर्मेंट के बाद भी लाइफ को अच्छी तरह से जीने के लिए आपको हर साल या यूं कहें कि हर महीने कुछ न कुछ अमाउंट पब्लिक प्रॉविडेंट फंड में डालते रहना चाहिए. इसमें जमा करने से आपकी इनकम टैक्स में रिबेट मिलता है और आगे चलकर आपको फ़ायदा भी होता है.

शेयर
शेयर मार्केट में थोड़ा पैसा लगाना चाहिए, लेकिन लंबी अवधि के लिए. किसी शेयर में पैसा लगा दें और फिर उसे रोटेट करते रहें. आपको अगर शेयर बाज़ार की जानकारी नहीं है, तो किसी एक्सपर्ट की सलाह लें. लंबे समय के लिए किया गया इन्वेस्टमेंट अच्छा रिटर्न देता है.

एंप्लॉइई प्रॉविडेंट फंड (ईपीएफ)
यह सुविधा ख़ासतौर पर नौकरीपेशा लोगों के लिए बेहतरीन है. नौकरी के दौरान हर माह सैलरी का एक छोटा-सा हिस्सा ईपीएफ में डालने से आपको रिटायर्मेंट के समय फ़ायदा होगा. इस पर ब्याज़ भी अच्छा मिलता है.

म्यूचुअल फंड
छोटे निवेशकों के लिए म्यूचुअल फंड निवेश का सबसे अच्छा ज़रिया है. म्यूचुअल फंड से संबंधित जानकारी टीवी में आती रहती है. ऐड ख़त्म होने के बाद लास्ट में ये लिखकर आता है कि अगर आप इसमें निवेश कर रहे हैं, तो अपना रिस्क जान लें. ये बात सिर्प आपको सचेत करने के लिए कही जाती है. म्यूचुअल फंड में निवेश करना फ़ायदेमंद होता है. बस, इस बात का ध्यान रखिए की समझदारी से पैसा लगाइए. अपनी जोखिम उठाने की क्षमता और निवेश लक्ष्य के हिसाब से निवेशक म्यूचुअल फंड स्कीम का चुनाव कर सकते हैं. साथ ही, कम पूंजी में भी निवेश किया जा सकता है.

फिक्स्ड डिपॉज़िट
टैक्स के लिहाज से चाहे निवेश का बेहतरीन विकल्प न हो, लेकिन फिक्स्ड डिपॉजिट में निवेश से ऊंची ब्याज दरों का फायदा उठाया जा सकता है. कम टैक्स स्लैब में आने वाले और जल्द रिटायर होने वाले निवेशक फिक्स्ड डिपॉज़िट में पैसा लगा सकते हैं.

अधिक फाइनेंस आर्टिकल के लिए यहां क्लिक करें: FINANCE ARTICLES