अब आधार कार्ड खोने का डर नहीं, ...

अब आधार कार्ड खोने का डर नहीं, एमआधार ऐप है ना! जानें इस ऐप के फ़ायदे (Benefits Of mAadhaar App)

आज के समय में आधार कार्ड हमारी लाइफ का सबसे महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट बन चुका है. लेकिन अगर ये आधार कार्ड कहीं खो जाए, तो कई तरह की परेशानियां भी खड़ी हो सकती हैं. इन परेशानियों से बचना चाहते हैं, तो आज ही अपने मोबाइल में डाउनलोड करें एमआधार ऐप.

चाहे बैंक में खाता खुलवाना हो, एयर, ट्रेन या बस का टिकट बुक करना हो, स्कूल और कॉलेज में दाखिला लेना हो या फिर प्रॉपर्टी खरीदने-बेचने सहित और भी काम हों, ऐसे बहुत सारे कामों के लिए आधार कार्ड की ज़रूरत पड़ती है. ऐसे में ज़रूरी नहीं कि आप हर जगह अपना ओरिजनल आधार कार्ड अपने साथ रखें. लोगों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए यूआईडीएआई ने एमआधार ऐप लॉन्च किया है.

क्या है एमआधार?

यह एक ऐसा ऐप है, जिसके जरिए आधार कार्ड होल्डर अपने प्रोफ़ाइल को लिंक कर सकते हैं. एक बार अपने प्रोफाइल को इस ऐप से लिंक करने के बाद आधार कार्ड होल्डर अपना ओरिजनल कार्ड घर पर रखकर सकते हैं और एमआधार के जरिए अपना आधार कार्ड कहीं  भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

एमआधार के फ़ायदे

  • इस ऐप का सबसे बड़ा फ़ायदा यह है कि आपको अपने पर्स या बैग में हर समय ओरिजनल आधार कार्ड रखने की ज़रूरत नहीं है.
  • इस ऐप का इस्तेमाल आप उन सभी जगहों पर कर सकते हैं, जहां पर आपको अपना आईडी प्रूफ दिखाने की ज़रूरत है. एक बार इस ऐप को डाउनलोड करने के बाद इसमें लॉग इन करने के बाद आप कहीं पर भी किसी को भी अपना आधार कार्ड दिखा सकते हैं. इस ऐप को एयरपोर्ट और ट्रेन ट्रैवल में भी लीगल आईडी प्रूफ के रूप में स्वीकार किया जाता है.
  • यदि आपका ओरिजनल आधार कार्ड कहीं खो जाता है, तो इस ऐप की सहायता से आप गुम हुए आधार कार्ड को दोबारा हासिल कर सकते हैं.
  • अगर आपने घर बदला है या नए घर में शिफ्ट किया है, तो इस ऐप के जरिए आप अपने आधार कार्ड में अपना नया पता अपडेट कर सकते हैं.
  • घर के सभी सदस्यों को इस ऐप को डाउनलोड करने की ज़रूरत नहीं है. किसी एक सदस्य के मोबाइल पर इस ऐप को डाउनलोड करके परिवार के बाकी सभी सदस्यों के आधार कार्ड को भी मैनेज किया जा सकता है.
  • इस ऐप में आधार नंबर को सेव करके आप ऑफलाइन मोड में भी इस सेवा का इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • इस ऐप के जरिए यूज़र्स अपने प्रोफाइल को अपडेट कर सकते हैं. लेकिन इसके लिए आधार कार्ड होल्डर को रिक्वेस्ट भेजनी होगी. अप्रूव होने के बाद आधार कार्ड होल्डर अपनी प्रोफइल को अपडेट कर सकते हैं.
  • इस ऐप की सहायता से आप अपने आधार कार्ड को लॉक करके भी अपने आधार कार्ड को सुरक्षित रख सकते हैं. यदि आप बायोमेट्रिक लॉकिंग सिस्टम को ऑन करते हैं, तो आपका बायोमेट्रिक ऐप तब तक लॉक रहेगा, जब तक कि आप इसे अनलॉक नहीं कर देते हैं.
  • इस ऐप की सहायता से आप बिना किसी मुश्किल के किसी भी सर्विस होल्डर के साथ ई केवाईसी और क्यूआर कोड शेयर कर सकते हैं.
  • अगर आप किसी के साथ अपना आधार नंबर शेयर नहीं करना चाहते हैं. तो आप इस ऐप के माध्यम से वीआईडी जेनरेट कर सकते हैं. इसकी मदद से आप आधार सेवाओं का फ़ायदा उठा सकते हैं.
  • इस ऐप में ऑफलाइन आधार एसएमएस सर्विस की सुविधा है, जिसका आप लाभ ले सकते हैं.
  • आप चाहें तो इस ऐप की मदद से नए कार्ड के लिए आवेदन, रीप्रिंट, आधार कार्ड का अपडेट और एनरोलमेंट का स्टेटस जैसी सुविधाओं को भी आसानी से चेक कर सकते हैं.
  • यदि आपकी आधार कार्ड से जुड़ी कोई समस्या है, जिसके लिए आपको आधार सेवा केंद्र जाने की ज़रूरत है, तो आप इस ऐप के जरिए अपॉइंटमेंट भी बुक कर सकते हैं.इसकी मदद से आप ऑथेंटिकेशन के रिकॉर्ड के बारे में जानकारी पता कर सकते हैं.
  • इसमें लोकेट एनरोलमेंट सेंटर नाम से एक फीचर है. इस फीचर की मदद से आप आसपास के आधार एनरोलमेंट सेंटर के बारे में जान सकते हैं.
  • यह ऐप बहुत ही सेफ ऐप है. इसमें एसएमएस आधारित ओटीपी फीचर की जगह टाइम बेस्ड वन टाइम पासवर्ड फीचर दिया गया है. बहुत-सी जगहों पर खराब नेटवर्क के कारण ओटीपी नहीं मिल पता है, ऐसी स्थिति में टाइम बेस्ड वन टाइम पासवर्ड बहुत उपयोगी साबित होता है.
  • इस ऐप में मोर नाम से एक सेक्शन है, जिसमें आप इस ऐप के बारे में सारी जानकारी, कॉन्टेक्ट नंबर, संबंधित प्रश्न और ऐप यूज़ करने से जुड़े नियम और शर्तों के बारे में सभी जानकारी हासिल कर सकते हैं.

मोबाइल फोन पर एमआधार ऐप को कैसे इंस्टॉल करें?

जानकारी के लिए बता दें कि इस ऐप को केवल एंड्रॉइड और स्मार्टफोन में ही इंस्टॉल कर सकते हैं. अगर आप अपने स्मार्ट फोन पर एमआधार ऐप इनस्टॉल  करना चाहते हैं, तो निम्न प्रक्रिया को अपनाएं:

–  गूगल प्ले स्टोर पर जाएं.

–  इंस्टॉल बटन पर क्लिक करें.

–  एप्लिकेशन को ज़रूरी परमिशन देते रहें.

– उसके बाद ऐप फोन में इंस्टॉल हो जाएगा.

– आपको अपने ऐप के लिए 4 अंकों का पासवर्ड भी बनाना होगा.

– जब भी आप एमआधार ऐप को लॉग-इन करेंगे, तो अपना बनाया हुआ पासवर्ड डालना होगा.

– पासवर्ड बनाने का यह फ़ायदा होता है कि भले ही आपका मोबाइल किसी अन्य व्यक्ति के हाथ में हो, लेकिन आपके आधार के डेटा के साथ किसी प्रकार का छेड़छाड़ नहीं किया जा सकता है.

– देवांश शर्मा

और भी पढ़ें: इन 10 तरीक़ों से अपने स्लो मोबाइल को बनाएं फास्ट (10 Smart Tricks To Speed Up Your Android Phone)

×