फादर्स डे पर विशेष- पापा कहते हैं… (Father’s Day Special- B-Town Celebs ‘Love Messages’ For Their Fathers)

main_image-169696priyankaSunny-Deol-nice-hd-wallpapersalia-bhatt-12a160489-shahid-kapoorvivek oberoi
पिता- एक आधार, विश्‍वास, आदर्श, प्रेरणास्रोत, मार्गदर्शक, बेस्ट फ्रेंड, सुपर हीरो… हर शख़्स के दिल में अपने पिता के लिए जाने कितनी ही तरह की भावनाएं बहती रहती हैं. फिल्मी सितारे भी इससे अछूते नहीं हैं. देखें, अपने पिता के बारे में क्या कहते हैं कलाकार.

 

मिस यू…
मेरे पिता एक हैंडसम पठान थे. तमाम ख़ूबियों के बावजूद वे सादगीभरा जीवन जीने में विश्‍वास करते थे. वे मुझसे व मेरी बहन से दोस्ताना व्यवहार करते थे. बड़े-बुज़ुर्ग को मान-सम्मान देना, कड़वी बातों को भूल जाना व हालात कैसे भी हों, सच का दामन नहीं छोड़ना, ये हमने उनसे ही सीखा है. मैंने बहुत पहले उन्हें खो दिया था. आज भी उन्हें मिस करता हूं. फादर्स डे पर अपने पिता के बारे में सोचकर काफ़ी दुखी हूं कि वे आज हमारे बीच नहीं हैं, पर अपने बच्चों के बारे में सोचकर काफ़ी ख़ुश हूं कि उन्हें उतना भरपूर प्यार दे पा रहा हूं, जितना मेरे वालिद मुझे दिया करते थे.

– शाहरुख ख़ान

मेरे पापा मेरे हीरो…
सभी को फादर्स डे मुबारक हो! मेरे पापा मेरे हीरो रहे हैं. मेरी ज़िंदगी में उनकी जो जगह रही है, उसे न कोई ले सकता है और न ही कोई उनकी कमी को पूरा कर सकता है. उनसे मैंने बहुत कुछ सीखा, समझा व जाना है. वे मेरे सबसे अच्छे दोस्त भी थे. थैंक यू पापा.

– प्रियंका चोपड़ा

पापा पर हमें नाज़ है…
मेरे डैडी ऊपर से जितने मज़बूत दिखते हैं, अंदर से उतने ही नरम दिल इंसान हैं. मुझे इस बात की बेहद ख़ुशी होती है, जब लोग कहते हैं कि मैं अपने डैडी की तरह हूं. मेरा यह मानना है कि यदि मैं अपने डैडी की तरह पचास प्रतिशत भी हूं, तो मैं सफल अभिनेता हूं. डैडी को मेरा अभिनय इतना अच्छा लगता है कि यदि कोई मेरी आलोचना कर दे, तो नाराज़ हो जाते हैं.

– सनी देओल

जीने का नज़रिया डैड से सीखा…
मेरे डैड के ही कारण मैं यह समझ सका कि ज़िंदगी में आगे बढ़ना, सफल होना आसान नहीं होता, इसके लिए आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ती है. डैड अपने काम के प्रति पूर्ण रूप से समर्पित हैं व उनमें धैर्य भी बहुत है. मैंने सही मायने में ज़िंदगी जीने का नज़रिया अपने डैड से ही सीखा है. मैं चाहता हूं कि मैं भी उनकी तरह एक नेक दिल इंसान बनूं.

– रितिक रोशन

उनके ख़्वाब को पूरा कर सका…
मैं आज जो कुछ भी हूं, उसमें मेरी मेहनत के अलावा मेरी मां-पापा की दुआएं भी शामिल हैं. मेरे पापा हमेशा कहते थे कि एक दिन मैं उनका नाम ज़रूर रोशन करूंगा. मुझे इस बात की ख़ुशी है कि इसमें मैं कुछ हद तक सफल रहा और उनके ख़्वाब को पूरा कर सका. पापा ने हमेशा ही मुझे सीख दी कि कामयाबी की बुलंदियों को छूना है, तो हमेशा सिंपल रहो यानी सफलता का गुरूर ख़ुद पर न होने दो.

– शाहिद कपूर

उनकी बेटियां सदा उनके पास रहें…
हर पिता की तरह मेरे पापा भी मेरी शादी नहीं करना चाहते हैं. पापा नहीं चाहते कि मैं और मेरी बहन शाहीन उन्हें छोड़कर कहीं जाएं. वे बहुत ही भावुक क़िस्म के इंसान हैं. वे तो हमारी शादी भी नहीं करना चाहते. उनकी बस यही चाहत है कि उनकी बेटियां सदा उनके पास रहें.

आलिया भट्ट

ख़ुद को सौभाग्यशाली मानता हूं…
पापा को अपने जीवन में पाकर मैं ख़ुद को बेहद सौभाग्यशाली मानता हूं. उन्होंने हमेशा ही न स़िर्फ मेरा मार्गदर्शन किया, बल्कि जीवन से जुड़ी खट्ठी-मीठी सच्चाइयों के बारे में बताया. उनकी ईमानदारी मुझे छूती है. वे कभी भी दिखावा नहीं करते. जब उन्होंने बर्फी देखी थी, तो उन्हें मेरा काम व फिल्म अच्छी लगी, पर उनका कहना था कि मैं आर्ट टाइप की फिल्में न करूं, क्योंकि वो सिनेमा थोड़ा अलग होता है. मैं उनकी सलाह का सम्मान करता हूं. वे बॉम्बे वेल्वेट में मेरे काम से ख़ुश हैं, जो मुझे और भी बेहतरीन करने के लिए प्रेरित करता है.

– रणबीर कपूर

भरपूर प्यार-प्रोत्साहन मिला…
मेरे पिता नंबर वन हैं. उन्होंने हम सभी के लिए अपनी ज़िंदगी में अब तक जो कुछ भी किया है, उसका कोई मोल नहीं है. उन्होंने हमेशा ही मेरा हौसला बढ़ाया है. मैंने अपने पिता को अपना आइडियल मानते हुए ही स्टंट हीरो के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की थी. जितना प्यार और प्रोत्साहन मुझे अपने डैडी से मिला, उतना किसी से नहीं मिला. मुझे उन पर गर्व है.

– अजय देवगन

मैं भी उनकी तरह सुपरस्टार बनूं…
डैडी मुझे बेहद प्यार करते हैं. मेरी मुस्कुराहट व ख़ुशी के लिए न जाने कितने जतन करते हैं. डैडी का इतना प्यार देखकर मुझे लगता है कि दुनिया की सारी ख़ुशियां उनके क़दमों में लाकर रख दूं. मैं चाहता हूं कि मैं भी उनकी तरह ही सुपरस्टार बनूं, ताकि उन्हें भी मुझ पर वैसे ही गर्व हो, जैसे मुझे उन पर होता है.

– अभिषेक बच्चन

पिता को याद करता हूं, तो सुकून मिलता है…
मेरी ज़िंदगी में मेरे माता-पिता से बढ़कर कोई नहीं रहा, इसलिए मैंने हमेशा वही किया, जिससे उन्हें दिली ख़ुशी मिले. मेरे पिता हमेशा
चाहते थे कि मैं एक सफल अभिनेता बनूं, क्योंकि उन्होंने मुझे फिल्मों के लिए भटकते व ख़ूब संघर्ष करते हुए देखा था. लेकिन हमेशा मेरा हौसला बढ़ाते रहते थे और कहते थे कि मैं एक दिन ज़रूर कामयाब कलाकार बनूंगा. उनकी दुआओं का ही असर था कि मुझे न स़िर्फ फिल्में मिलीं, बल्कि सफल भी रहीं.

– गोविंदा

डैडी को हमेशा मुस्कुराते देखा…
अपने डैडी पर मुझे गर्व है. मैंने उनसे ही सीखा है कि यदि इरादे बुलंद हों, तो रास्ते अपने आप बनते जाते हैं. बस, आपमें कुछ कर दिखाने का जज़्बा होना चाहिए. संघर्ष के दौर में भी उन्होंने कभी हार नहीं मानी व इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान बनाई. हालात चाहे जैसे भी रहे हों, मैंने उन्हें हमेशा मुस्कुराते हुए देखा. अपने पिता की तरह मैं भी कुछ ऐसा ही करना चाहता हूं.

– विवेक ओबेरॉय

पापा को मुझ पर फ़ख़्र महसूस हो…
मेरी हमेशा यह ख़्वाहिश रहती थी कि मैं कुछ ऐसा कर दिखाऊं, जिससे मेरे पापा को मुझ पर फ़ख़्र महसूस हो. वे सख़्त स्वभाव के ज़रूर थे, पर उनका दिल बहुत कोमल था. वे जानते थे कि मैं कामयाब बन सकता हूं, पर वे चाहते थे कि मैं अपने बलबूते पर कुछ बनकर दिखाऊं. इसलिए मानसिक तौर पर भले ही उन्होंने मेरा साथ दिया, पर हीरो बनने के लिए मेहनत व संघर्ष मुझे ही करना पड़ा, लेकिन उनके इस नज़रिए ने मुझे हमेशा ही प्रभावित व प्रेरित किया.

– आमिर ख़ान

आई लव यू पापा…
मेरे पिता मेरे हीरो हैं. उनके जैसा कोई नहीं है. मुझे उनकी बेटी होने पर गर्व है. आई लव यू पापा.

– सोनम

amitabh

अमिताभ बच्चन- परिवार को जोड़े रखती हैं बेटियां…
बेटियां पिता की कमज़ोरी होती हैं व हमेशा रहेंगी. परिवार में बेटी के होने का आनंद उठाएं. बेटियां बहुत ख़ास होती हैं और वे परिवार को जोड़े रखने में भी मदद करती हैं. वे घर की आत्मा बन जाती हैं. वे उस प्यार, स्नेह व अपनेपन से हम सभी को अपना बना लेती हैं. वे विश्‍लेषण करती हैं, हिदायत देती हैं, रक्षा करती हैं, नियम बनाती हैं व उस नाज़ुक धागे को आगे बढ़ाती हैं, जो पूरे परिवार को एक साथ बांधे रखता है. वे सलाहकार हैं, ख़्याल हैं, पथ-प्रदर्शक हैं, वाक़ई में वे सर्वोच्च हैं.

– ऊषा गुप्ता