शक्कर मानसिक स्वास्थ्य को किस तरह प्रभावित करता है? (How Does Sugar Affects Our Brain?)

यह तो हम सभी जानते हैं कि ज़्यादा शक्कर (Sugar) हमारी सेहत (Health) के लिए हानिकारक (Harmful) होती है और अत्यधिक मात्रा में शक्कर का सेवन करने से मोटापा, डायबिटीज़, दांत ख़राब होना जैसी समस्याएं होती हैं, लेकिन यह बहुत कम लोगों को पता है कि ज़्यादा शक्कर खाने से हमारे मानसिक स्वास्थ्य (Mental Health) पर भी बुरा असर पड़ता है. बहुत से शोधों से इस बात की पुष्टि हुई है कि शक्कर का हमारे मूड, सीखने की क्षमता और जीवनशैली पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है. सबसे महत्वपूर्ण बात शक्कर, मेपल सिरप जैसे हाई फ्रूक्टोज़ युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन हमारे मानसिक स्वास्थ्य को काफ़ी हद तक प्रभावित करता है.

Sugar

डिप्रेशन और स्किज़ोफ्रेनिया
जो लोग डिप्रेशन और स्किज़ोफ्रेनिया जैसी बीमारियों से ग्रस्त रहते हैं, उन पर शक्कर का नकारात्मक प्रभाव अन्य लोगों की तुलना में ज़्यादा पड़ता है, क्योंकि ब्लड शुगर में बार-बार उतार-चढ़ाव होने से मूड डिसऑर्डर की समस्या बढ़ जाती है. एक शोध से इस बात की पुष्टि हुई है कि हाई शुगर से डिप्रेशन का ख़तरा बढ़ जाता है. आपको बता दें कि आंकड़ों के अनुसार, जिन देशों के लोग ज़्यादा शक्कर का सेवन करते हैं, वहां डिप्रेशन के केसेज़ ज़्यादा देखने को मिलते हैं. स्किज़ोफ्रेनिया से ग्रस्त लोगों पर इसका असर और भी ज़्यादा होता है.

तनाव
हालांकि शक्कर खाने से तनाव नहीं होता है, लेकिन जो लोग अत्यधिक शक्कर का सेवन करते हैं, उनमें तनाव से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है. खाने में शक्कर की मात्रा घटाकर आप तनाव से बेहतर तरी़के से डील कर सकते हैं. इसके साथ ही कम शक्कर का सेवन आपके मूड को भी बेहतर बनाने में मदद
करता है.

ये भी पढ़ेंः पेट का मानसिक स्वास्थ्य से कनेक्शन (Is There A Connection Between The Stomach And Mental Disorders?)

लत
बहुत से अध्ययनों से इस बात की पुष्टि हुई कि शक्कर में ऐसे गुण होते हैं, जिनके कारण लोगों को इसकी लत पड़ जाती है. ड्रग्स और शक्कर का सेवन करने से मस्तिष्क में फील गुड हार्मोन डोपाइन का स्राव बढ़ जाता है. एक शोध के दौरान पाया गया कि चूहों ने कोकीन की बजाय शक्कर को प्राथमिकता दी और उनमें शक्कर की लत के लक्षण भी दिखें.

याद्दाश्त और सीखने की क्षमता प्रभावित
शक्कर के सेवन से याद्दाश्त पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है. चूहों पर हुए एक शोध में पाया गया कि 6 हफ़्तों तक फ्रूक्टोज़ का सेवन करने के बाद चूहे अपने बिल का रास्ता भूल गए. शक्कर के अत्यधिक सेवन से ब्रेन सेल्स के कम्यूनिकेशन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है, जिससे सीखने की क्षमता और याद्दाश्त पर बुरा प्रभाव पड़ता है.

Health Problems From Sugar

शक्कर का सीमित सेवन

1. अत्यधिक शक्कर वाले खाद्य पदार्थों के सेवन से परहेज़ करें. ज़्यादातर प्रोसेस्ड फूड्स में शक्कर होता है, इसलिए कोई भी प्रोसेस्ड फूड ख़रीदने से पहले लेबल को ध्यान से पढ़ें.
2. अगर कुछ मीठा खाने का मन कर रहा है तो मिठाई या आइसक्रीम की बजाय फल खाएं.
3. सोडा और आर्टिफिशियल फ्रूट जूस न पीएं.
4. डायट सोडा और आर्टिफिशियल स्वीटनर से भी परहेज़ करें.प फ्लेवर्ड योगर्ट न खाएं, क्योंकि उसमें भी शक्कर होता है. इसकी बजाय सादी दही में फल और 1-2 बूंद वेनिला एक्सट्रैक्ट मिलाकर खाएं.

ये भी पढ़ेंः बच्चों के मानसिक विकास के लिए एक्सरसाइज़ ज़रुरी (Now Physical Exercise Can Develop Your Child’s Intellect)