18 साल की उम्र से पहले ज़रूर बनवा...

18 साल की उम्र से पहले ज़रूर बनवा लें ये डॉक्यूमेंट्स (Important Documents To Be Made Before 18 Years Of Age)

आमतौर पर हम सभी जानते हैं कि आधार कार्ड और पैन कार्ड जैसे इंर्पोटेंट डॉक्यूमेंट्स का होना ज़रूरी होता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि ऐसे और भी कई डॉक्यूमेंट्स होते हैं, जिन्हें बालिग होने से पहले यानी 18 साल से पहले बनवा लेना भविष्य में आपके लिए फ़ायदेमंद रहता है. इससे न केवल भविष्य की योजनाओं, अन्य सुविधाओं को प्राप्त करना आसान हो जाता है, बल्कि पढ़ाई व
नौकरी से जुड़े कामों में भी मदद मिलती है.

जाति प्रमाणपत्र

जाति प्रमाण पत्र यानी कास्ट सर्टिफिकेट के महत्व को भला कौन नहीं जानता. यदि आप ओबीसी, अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति की श्रेणी में आते हैं, तो आपको जाति प्रमाण पत्र ज़रूर बनवा लेना चाहिए. इससे तमाम सरकारी योजनाओं व संस्थानों में लाभ प्राप्त करने में सहायता मिलती है. ध्यान रहे, इसे बनवा लेने से आपको सरकार द्वारा ज़ारी योजनाओं जैसे सब्सिडी आदि के फ़ायदे भी मिलते हैं. स्कॉलरशिप व कंप्टीशन एग़्जाम में रिजर्वेशन मिल सकता है. कास्ट सर्टिफिकेट से जॉब में आरक्षण का लाभ भी लिया जा सकता है.

इनकम सर्टिफिकेट

इनकम सर्टिफिकेट यानी आय प्रमाण पत्र बनवाना भी फ़ायदे का सौदा रहता है. यदि आप सामान्य वर्ग में आते हैं और आर्थिक रूप से कमज़ोर हैं तथा ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट बनवाने के इच्छुक हैं, तो आपको इनकम सर्टिफिकेट की ज़रूरत पड़ती है. ईडब्ल्यूएस कोटे के अलावा इससे एज्युकेशन इंस्टीट्यूट में स्कॉलरशिप लेने में भी मदद मिलती है. इसे जिला मजिस्ट्रेट, कलेक्टर, ग्राम तहसीलदार, राजस्व अंचल अधिकारी, उप-मंडल मजिस्ट्रेट या अन्य संबंधित जिला अधिकारी जारी करते हैं. अब तो सरकार ने आय प्रमाण पत्र को बनवाने के लिए ऑनलाइन पोर्टल भी जारी कर दिया गया है.

डॉमिसाइल सर्टिफिकेट

किसी भी संस्थान में नौकरी पाने के लिए निवास प्रमाण पत्र यानी डॉमिसाइल डॉक्यूमेंट की बेहद ज़रूरत होती है. जॉब के लिए ऐसी कई एग़्जाम होते हैं, जिसमें व्यक्ति को उनके राज्य के आधार पर जॉब में रिजर्वेशन दिया जाता है. यदि किसी स्टेट में जॉब के लिए कोई पोस्ट है, तो उसमें उस राज्य के व्यक्ति को अलग से कुछ पर्सेंट रिजर्वेशन दिया जाता है. ऐसे में यदि आपके पास निवास प्रमाण पत्र है, तो आपको बहुत मदद मिल जाती है. आप जिस जनपद के निवासी हैं, वहां के तहसील से यह प्रमाण पत्र बनवाया जाता है.

दिव्यांगता सर्टिफिकेट

यदि कोई शारीरिक रूप से विकलांग यानी दिव्यांग है या फिर उनके शरीर का कोई हिस्सा ठीक तरह से काम नहीं करता है, तो वे दिव्यांगता सर्टिफिकेट बनवाकर इससे जुड़ी कई सुविधाओं का लाभ ले सकते हैं. दिव्यांग व्यक्ति इस सर्टिफिकेट के ज़रिए न केवल रेलवे के किराए में छूट प्राप्त कर सकते हैं, बल्कि राज्य परिवहन बस में भी फ्री में यात्रा कर सकते हैं यानी इसके लिए उन्हें बस का किराया नहीं देना पड़ता. इसके अलावा दिव्यांगों को बेरोज़गारी भत्ता भी प्राप्त होता है. यह सर्टिफिकेट गवर्मेंट जॉब में रिजर्वेशन की तरह कार्य करता है. यदि सरकार द्वारा दिव्यांग व्यक्तियों के लिए कोई योजना लागू होती है, तो यह सर्टिफिकेट वहां भी बहुत काम में आता है. यहां पर ध्यान देनेवाली बात यह है कि यदि आप इनकम सर्टिफिकेट, जाति प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र आदि पहले से बनवा कर रखते हैं, तो इससे संबंधित लोग सरकारी योजनाओं व नौकरी में मिलने वाले अनगिनत लाभ को समय पर प्राप्त कर सकते हैं.

उपरोक्त डॉक्यूमेंट्स, आधार व पैन कार्ड के अलावा इन आवश्यक डॉक्यूमेंट्स का होना भी ज़रूरी होता है, जैसे- बर्थ सर्टिफिकेट, शैक्षणिक प्रमाण पत्र, विवाह प्रमाणपत्र, बैंक अकाउंट डिटेल्स, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस आदि.

इन बातों पर भी ध्यान दें…

  • यदि आप 18 साल के हैं, तो आपको अपना वोटर आईडी कार्ड भी बनवा लेना चाहिए. अब तो घर बैठे भी एनवीएसपी (राष्ट्रीय मतदाता सेवा पोर्टल) https://www.nvsp.in/ पर जाकर आप अपना वोटर आईडी कार्ड बनवा सकते हैं. इसे कई सरकारी योजना में ज़रूरी दस्तावेज़ के रूप में दे सकते हैं. वैसे भी वोटर कार्ड आवास प्रमाण पत्र के रूप में भी काम करता है. यदि वोटर आईडी खो जाए या चोरी हो जाए, तो परेशान न हों. अब आप अपना वोटर आईडी ऑनलाइन भी डाउनलोड कर सकते हैं.

– पैन कार्ड के लिए भी ऑनलाइन NSDL (नेशनल सिक्योरिटीज़ डिपॉज़िटरी लिमिटेड) की वेबसाइट पर अप्लाई कर सकते हैं.

– बीपीएल कार्ड जिसके ज़रिए यह तय होता है कि आप गरीबी रेखा के नीचे आते है या नहीं. इस कार्ड को तहसील या ग्राम पंचायत द्वारा बनवा सकते हैं.

-ऊषा गुप्ता

और भी पढ़ें: अब आधार कार्ड खोने का डर नहीं, एमआधार ऐप है ना! जानें इस ऐप के फ़ायदे (Benefits Of mAadhaar App)

×