प्यार का साइड इफेक्ट- 100 किलो की हुई लड़की (Love side effect: girl put on weight more than 100kg)

Love side effect

ये दिल बड़ी अजीब चीज़ होती है, किसी से लगा लो, तो रातों की नींद उड़ जाती है और जब कोई इसे तोड़ दे, तो ज़िंदगी का सुकून कहीं खो जाता है और जब प्यार एकतरफ़ा हो तो समझिए कि ये आपकी ज़िंदगी की सबसे बड़ी भूल है. एकतरफ़ा प्यार में पागल प्रेमी के कारनामों के तो आपने बहुत से किस्से सुने होंगे, लेकिन एकतरफ़ा प्यार में पागल इस लड़की के साथ जो हुआ वो सुनकर आपके भी होश उड़ जाएंगे.

ये वाक़या मुंबई का है, जहां एक 22 साल की लड़की एकतरफ़ा प्यार में मिली नाकामी के बाद डिप्रेशन का शिकार हो गई और इस डिप्रेशन में उसने इतना खाया कि कुछ ही महीनों में उसका वज़न 100 किलों के पार हो गया. फिलहाल उसका मुंबई के केईएम हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है. वहां उसके बार-बार खाने की आदत में भी कमी आई है. इलाज के साथ ही उसकी काउंसलिंग भी की जा रही है. फिलहाल उसका वज़न घटकर 80 किलो हो गया है.

ये है कहानी
क़रीब एक साल पहले इस लड़की ने वेट कम करने के लिए जिम जॉइन किया. वहां इसका दिल एक लड़के पर आ गया और वो उससे एकतरफ़ा प्यार करने लगी. कुछ दिनों बाद लड़के ने किसी और से शादी कर ली. इससे लड़की का दिल टूट गया और वो डिप्रेशन में चली गई. वह दुखी होकर हमेशा पुरानी बातें याद करती रहती और ख़ूब खाती. जब भी उसे अकेलापन महसूस होता, वो खाने को अपना साथी बना लेती, मगर उसकी ये आदत धीरे-धीरे बीमारी में तब्दील हो गई.

ईटिंग डिसऑर्डर
डिप्रेशन में कई लोग चॉकलेट या अपनी कोई पसंदीदा चीज़ खाने लगते हैं, जिससे ईटिंग डिसऑर्डर की समस्या हो जाती है. इस लड़की के साथ भी वही हुआ. अपना ग़म भुलाने के लिए खाने की उसकी आदत ने उसका वज़न इतना बढ़ा दिया कि उसे हॉस्पिटलाइज़ करना पड़ा. एक्सपर्ट्स का मानना है कि मानसिक बीमारियों में 1-2 प्रतिशत मरीज ईटिंग डिसऑर्डर का शिकार हो जाते हैं. कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है कि ये बीमारी अक्सर लड़कियों में देखने को मिलती है. दरअसल, लड़कियां खुद को ग़म से उबारने के लिए खाने और शॉपिंग का सहारा लेती हैं.

मोटापा है बीमारियों का घर
बढ़ा हुआ वज़न अपने आप में एक बीमारी तो है ही, ये कई और बीमारियों को भी जन्म देता है. मोटापे से हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज और हार्ट डिसीज़ का ख़तरा बढ़ जाता है.

तो अब किसी से भी दिल लगाने से पहले अलर्ट रहें और ख़ुद को इतना मज़बूत रखें कि दिल टूटने पर आपको खाने का सहारा न लेना पड़े.

– कंचन सिंह