अगर अभिनेता न बनते तो किसान होते...

अगर अभिनेता न बनते तो किसान होते नवाजुद्दीन सिद्दीकी, बेहद दिलचस्प है उनके एक्टर बनने का किस्सा (Nawazuddin Siddiqui would have been a Farmer if he had not become an actor, Know his Interesting Story)

उत्तर प्रदेश के बुढ़ाना गांव के रहने वाले नवाजुद्दीन सिद्दीकी सिर्फ बॉलीवुड ही नहीं, बल्कि हॉलीवुड में भी अपनी पहचान बना चुके हैं. नवाज़ इंडस्ट्री के एक ऐसे वर्सेटाइल एक्टर हैं जो किसान के परिवार से आते हैं. यह एक्टिंग के लिए उनके जुनून और कड़ी मेहनत का ही कमाल है कि आज उनकी गिनती इंडस्ट्री के बड़े और कामयाब एक्टर्स में होती है. नवाज़ भले ही पेशे से एक बेहतरीन एक्टर हैं, लेकिन वो दिल से एक किसान भी हैं, इसलिए जब भी उन्हें मौका मिलता है वो अपने खेतों में काम करने निकल जाते हैं. यहां तक कि लॉकडाउन के दौरान वो एक साल तक अपने गांव में रहे थे और वहां रहकर खेती की थी. एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि अगर वो अभिनेता न बनते तो एक किसान होते. आइए जानते हैं किसान के बेटे का बॉलीवुड एक्टर बनने का दिलचस्प किस्सा.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

नवाजुद्दीन सिद्दीकी के फैन्स यह तो जानते ही होंगे कि वो एक किसान परिवार से आते हैं, इसलिए उन्हें यहां तक का सफर तय करने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा है. बताया जाता है कि एक समय ऐसा भी था जब नवाज़ लैंप के सहारे पढ़ाई करते थे, क्योंकि उनके गांव में बिजली नहीं हुआ करती थी. यह भी पढ़ें: जब बॉलीवुड के इन बड़े सितारों ने किया मुफ्त में काम, फिल्म के लिए नहीं ली कोई फीस (When These Big Stars of Bollywood Worked for Free, They Did not Charge Any Fees for Film)

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

हालांकि शुरुआत से नवाज़ का एक्टिंग के प्रति खास रुझान रहा है. अपने गांव में स्कूली पढ़ाई पूरी करने के बाद नवाज ग्रेजुएशन करने के लिए हरिद्वार चले आए और यहां कॉलेज में पढ़ाई करने के साथ-साथ वो थिएटर में हिस्सा लेने लगे. एक्टिंग में दिलचस्पी होने के कारण वो कॉलेज के दिनों में थिएटर भी किया करते थे.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

थिएटर करते-करते उन्होंने यह तय कर लिया कि चाहे कुछ भी हो जाए वो एक्टर ही बनेंगे और एक्टिंग में अपना करियर बनाएंगे. अपने इस सपने को पूरा करने की राह में पहला कदम बढ़ाते हुए वो दिल्ली पहुंचे, जहां उन्होंने एनएसडी जॉइन किया. एनएसडी का हिस्सा बनकर वो अपनी एक्टिंग स्किल को निखारने में जुट गए.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

हालांकि अपनी आर्थिक ज़रूरतों को पूरा करने के लिए उन्हें छोटे-मोटे काम भी करने पड़े. यहां तक कि उन्होंने वॉचमैन की नौकरी भी की, ताकि उनके सपनों की राह में कोई रुकावट न आए. आखिरकार काफी संघर्षों के बाद उन्हें साल 1999 में आमिर खान की फिल्म ‘सरफरोश’ में एक छोटे से रोल के ज़रिए बॉलीवुड में डेब्यू करने का मौका मिला. इसके बाद उन्हें सही मायनों में पहचान फिल्म ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ से मिली और वो देखते ही देखते स्टार बन गए. इसके बाद तो उन्होंने कई बेहतरीन फिल्मों में काम किया.

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

एक इंटरव्यू में नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने खुलासा किया था कि अगर वो एक्टर नहीं बन पाते तो अपने पिता की तरह एक किसान होते. भले ही आज वो एक बड़े एक्टर बन गए हैं, लेकिन खेतों से उनका लगाव कम नहीं हुआ है. एक इंटरव्यू में नवाज़ ने बताया था कि वो प्रोफेशनली एक आर्टिस्ट हैं, लेकिन दिल से एक किसान हैं. लॉकडाउन के दौरान जब उन्हें अपने गांव में रहने का मौका मिला तो उन्होंने वहां खेती की और किसान की ज़िंदगी का लुत्फ उठाया. यह भी पढ़ें: नवाजुद्दीन सिद्धिकी को है बॉलीवुड से ये 3 बड़ी शिकायतें (Nawazuddin Siddiqui Has These 3 Big Complaints From Bollywood)

फोटो सौजन्य: इंस्टाग्राम

आपको बता दें कि नवाज़ एक ऐसे एक्टर हैं, जिन्होंने इंडस्ट्री के तीनों खान के साथ काम किया है. नवाज़ को सलमान खान के साथ ‘बजरंगी भाईजान’, आमिर खान के साथ ‘तलाश’ और शाहरुख खान के साथ फिल्म ‘रईस’ में देखा जा चुका है. एक्टर के वर्कफ्रंट की बात करें तो वो जल्द ही ‘टीकू वेड्स शेरू’, ‘बोले चूड़ियां’ और ‘जोगीरा सारा रा रा’ जैसी फिल्मों में नज़र आने वाले हैं.

×