गॉल ब्लैडर में पथरी के संकेत ( Symptoms Of Gallstones)

पित्ताशय में पथरी (Symptoms Of Gallstones) एक बेहद आम समस्या है. हम आपको इस बीमारी से जुड़े कुछ शुरुआती संकेत बता रहे हैं, ताकि आप समय रहते इस समस्या से निजात पा सकें. पथरी का आकार चावल के दाने से छोटा और टेबिल बॉल जितना बड़ा हो सकता है. जब पित्ताशय अत्यधिक कोलेस्ट्रॉल को गला नहीं पाता, तब वह धीरे-धीरे पथरी का रूप ले लेता है. इस बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए हमने बात की अपोलो हॉस्पिटल, नवी मुंबई की जनरल एंड लैप्रोस्कोपिक सर्जन डॉ. शालीन दुबे से.

Symptoms Of Gallstones
पित्ताशय का कार्य
पित्ताशय एक छोटी थैली के आकार का अंग होता है, जो लिवर के नीचे होता है. यह बाइल को एकत्रित करता है. बाइल पाचन क्रिया में फैट को तोड़ने का कार्य करता है. पथरी तभी बनती है, जब पित्ताशय में बाइल की रासायनिक संरचना असंतुलित होती है. जब बाइल में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बहुत ज़्यादा हो जाता है, तब उससे क्रिस्टल्स बनते हैं, जो कुछ समय बाद पथरी (Symptoms Of Gallstones) का रूप ले लेते हैं. 40 से अधिक उम्र वालों को पथरी होने का ख़तरा ज़्यादा होता है. जानिए पित्ताशय में पथरी के कुछ शुरुआती संकेत.

पेट में दर्द
पित्ताशय में पथरी (Symptoms Of Gallstones) के सबसे आम लक्षणों में से एक है पेट दर्द. पथरी होने पर खाना खाते ही पेट में दर्द शुरू हो जाता है. ख़ासतौर पर अगर तैलीय खाना खाते ही पेट दर्द शुरू हो जाए तो यह पथरी का संकेत हो सकता है.

सीने में दर्द
पित्ताशय पेट के ऊपर होता है इसलिए सीने में दर्द होना पथरी का संकेत हो सकता है. पथरी का दर्द उठने पर मांसपेशी खिंचने या हार्ट अटैक जैसे दर्द का अनुभव होता है. दाहिने कंधे या कंधों की हड्डी में दर्द भी पथरी का संकेत हो सकता है.

ये भी पढ़ेंः आंखों की रोशनी से जुड़े 10 मिथकों की सच्चाई
रुक-रुक कर पेट में दर्द
पेट में अचानक या रुक-रुक कर होनेवाला दर्द, विशेषतौर पर शरीर की दाई ओर, पित्ताशय की समस्या का एक आम लक्षण है. यद दर्द कुछ मिनट या फिर कई घंटों तक रह सकता है.

बुखार
पित्ताशय में इंफेक्शन के कारण बुखार हो सकता है. कभी-कभी पथरी (Symptoms Of Gallstones) इतनी बड़ी हो जाती है कि पित्ताशय में खरोंच आ जाते हैं. ऐसा होने पर डॉक्टर से तुंरत इलाज कराना चाहिए.

मूत्र और मल के रंग में बदलाव
भूरे रंग का मल इस बात का संकेत होता है कि हमारा पित्ताशय सही काम कर रहा है. जब मल का रंग पीला या स्लेटी हो जाए तो यह पित्ताशय में पथरी का संकेत हो सकता है.

डायरिया
अकारण डायरिया होना भी पित्ताशय में पथरी का संकेत हो सकता है. अगर आपका पेट अक्सर भरा हुआ लगे, गैस या पतले दस्त की समस्या होती रहे तो डॉक्टर से मिलकर तुरंत जांच कराएं.

गहरी सांस लेते समय तेज़ दर्द
पित्ताशय में पथरी होने पर गहरी सांस लेने पर तेज़ दर्द होता है. यह अपनेआप में कोई लक्षण नहीं है, लेकिन जांच करवाकर इसका कारण जान लेने में ही भलाई है.
ये भी पढ़ेंः जोड़ों के दर्द से छुटकारा पाने के 20+ सुपर इफेक्टिव उपाय